कोराना ने छीना एक और पत्रकार, नहीं रहे हिन्दुस्तान के मधुबनी ब्यूरो प्रभारी दीपक कुमार

मूल रूप से भागलपुर के रहने वाले थे पत्रकार दीपक कुमार

बेहतर इलाज के लिए सिल्लीगुड़ी गए थे दीपक कुमार, वहीं ली अंतिम सांस

बिहार में जारी कोरोना के कहर ने एक और पत्रकार हमसे छीन लिया। मधुबनी के वरिष्ठ पत्रकार दीपक कुमार का शुक्रवार को कोरोना संक्रमण से निधन हो गया। उनके निधन की खबर सुनते ही पत्रकारिता जगत में गम की लहर दौड़ गई। वे कुछ दिन पहले कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए थे। इनका इलाज रामपट्टी स्थित कोविड केयर सेन्टर में चल रहा था।

बताया जाता है कोविड केयर सेंटर में इलाज के दौरान तबीयत में अपेक्षित सुधार नहीं हुआ बेहतर इलाज के लिए अपने रिश्तेदार के पास सिल्लीगुड़ी चले गए थे। वहां शुक्रवार को एक निजी अस्पताल में दीपक ने आखिरी सांस ली।

दीपक कुमार मधुबनी में हिन्दुस्तान अखबार में बतौर प्रभारी कार्यरत थे। दीपक कुमार मुल निवासी भागलपुर के थे। परंतु उनके माता-पिता देवघर में अपना घर बनाकर रह रहे थे।

इधर दीपक कुमार के निधन पर आसियान इंटरनेशनल जर्नलिस्ट कॉउंसिल(एआईजेसी) के निदेशक शशांक राज,राजेश कुमार शर्मा ने गहरी संवेदना व्यक्त की है। संगठन ने कहा है कि पत्रकारिता जगत ने एक बेहतर पत्रकार को खो दिया है, जिसकी भरपाई में काफी वक्त लग जाएगा।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *