जब नीरव मोदी भारत आने से बचने की कोशिश करता है तो वह भारतीय मीडिया के लिए खबर नहीं होती!

संजय कुमार सिंह-

नीरव मोदी (और दूसरे सरकारी मित्रों) के भागने के बाद से दसियों बार यह खबर छपी है कि फलाने का भारत आना आसान हुआ। अब आया, तब आया। अक्सर ऐसी खबरें, जिसमें भारत सरकार की भूमिका न के बराबर होती है, पहले पन्ने पर छपती है।

लेकिन नीरव मोदी जैसा कोई भगोड़ा भारत वापस भेजे जाने से बचने के लिए कोई चाल चलता है तो उसकी खबर नहीं होती है।

दरअसल प्रचारकों द्वारा नियंत्रित देश का पूरा मीडिया यह बताने और मनवाने में लगा है कि नीरव मोदी भाग गया तो सरकार क्या करे और जब मौका मिलता है यह बताने से नहीं चूकता कि सरकार कोशिश कर रही है।

आपने ऐसी कई खबरें पढ़ी होंगी।

पर जब नीरव भारत आने से बचने की कोशिश करता है तो वह (ज्यादातर) भारतीय मीडिया के लिए खबर नहीं होती है। पहले पन्ने की तो बिल्कुल नहीं।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *