जानिये 10 टिप्स जो आपके दिला सकते हैं JEE Main में 200+ स्कोर

अगले साल होने वाले JEE MAIN परीक्षा के लिए परीक्षा तिथि तय कर दी गई है। छात्रों के लिए खुशी की बात है कि अब साल में दो बार परीक्षा का आयोजन होगा। यानि एक साल में छात्रों को परीक्षा पास करने के लिए दो मौके मिलेंगे। लेकिन अब सीबीएसई की जगह परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) करेगी। एग्जाम कम्प्यूटर बेस्ड और चार-पांच दिनों में होंगे। हालांकि छात्रों को तारीख चुनाव का ऑप्शन मिलेगा। भले ही JEE MAIN परीक्षा का आयोजन NTA करेगा लेकिन पाठ्यक्रम में किसी प्रकार का बदलाव नहीं किया जाएगा। जो पहले पाठ्यक्रम था उसी के आधार पर होगी।

ये तो बात परीक्षा कंडक्ट करने वाली एजेंसी की हुई। अब बात करते हैं परीक्षा पास करने और टॉप रैंक कैसे लाएं जो कि सबसे अहम हैं। हर साल इंजीनियर बनने का सपने पाले लाखों छात्र जेईई मेंस की परीक्षा देते हैं। लेकिन कड़ी मेहनत के बावजूद अच्छा स्कोर नहीं कर पाते। जिससे उन्हें अच्छे इंस्टीट्यूशंस में एडमिशन नहीं मिल पाएं। आज हम आपको 10 ऐसे टिप्स बताएंगे जिससे आप आसानी से स्कोर 200 प्लस का स्कोर कर पाएंगे।

सभी लेटेस्ट JEE Main ख़बरों के लिए क्लिक करें यहां

1. स्टडी मैटेरियल का चयन

किसी भी परीक्षा में सफलता इस बात पर निर्भर करती है, कि आपकी अध्ययन सामाग्री कैसी है। JEE MAIN परीक्षा में सफलता पाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण अध्ययन सामाग्री का चयन होता है। परीक्षा में 11वीं और 12वीं की बुक से ही प्रश्न पूछे जाते हैं। जिसमें से ज्यादातर एनसीईआरटी की बुक्स से प्रश्न आते हैं, इसलिये एनसीईआरटी की किताबों का अच्छे से अध्ययन करें। चाहे आप किसी भी बोर्ड से पढ़ाई कर रहे हैं। इसके अलावा बाजार से भी परीक्षा संबंधित स्टडी मैटेरियल खरीद सकते है। हां अगर आपका कोई जानने वाला है जिसने JEE MAIN परीक्षा क्लीयर की है उससे आप हेल्प ले सकते है। किस तरीके की अध्ययन सामाग्री खरीदनी है और ये स्टडी मैटेरियल कहां से मिलेगा। इससे आपको परीक्षा की तैयारी करने में बहुत हेल्प मिलेगी।

2. कैसे करें पढ़ाई और टाइम टेबल

परीक्षा में सफलता की दूसरी सबसे बड़ी कुंजी टाइम मैनेजमेंट है। परीक्षाओं में भी आप अगर जेईई मेंस जैसी टफ परीक्षा की तैयारी कर रहे हो तो। टाइम टेबल बेहद खास होता है। क्योंकि बहुत सारे छात्रों की शिकायत रहती है कि वो पढ़ाई तो घंटों करते है, लेकिन नतीजा नहीं मिलता। इसलिये समयबद्ध तरीके से तैयारी की जानी चाहिए। टाइम टेबल में सभी सब्जेक्ट को समय देना चाहिए और किसी भी सब्जेक्ट को तीन घंटे से ज्यादा ना दें, क्योंकि कम समय में आपको ज्यादा पढ़ाई करनी होती है। अगर आप खुद को किसी विषय में कमजोर समझते हैं, तो उस सब्जेक्ट को एक्सट्रा टाईम दे सकते हैं।

3. जुबां पर रहे फॉर्मूले

जेईई मेंस परीक्षा में अच्छे स्कोर के लिए आपको फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ्स के फॉर्मूले याद होने चाहिए। फॉर्मूले में किसी भी तरह का कन्फ्यूजन नहीं होना चाहिए। साथ ही थ्योरी पर भी विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए। साथ ही टॉपिक्स की एक लिस्ट बना लेनी चाहिए और पेपर में दिए गए मार्क्स के अनुसार ज्यादा मार्क्स वाले टॉपिक्स की अच्छे से तैयारी करनी चाहिए

4. पढ़ाई के साथ शॉर्ट नोट्स बनाएं

पढ़ाई के साथ आपको शॉर्ट नोट्स भी बनाते रहने चाहिए। ताकि ये रिवीजन के लिए आसानी से उपलब्ध हो सकें. फॉर्मूलों के अलावा उन प्वाइंट्स और अहम चीजों को नोट कर लें, जिन्हें आखिरी वक्त में आपको सरसरी तौर पर देखने की जरूरत होगी

5. रट्टा मारने की आदत छोड़ दें

अक्सर देखा जाता है कई छात्र परीक्षा की तैयारी रट्टा मारकर करते हैं। लेकिन जब परीक्षा में रट्टा मारे प्रश्न नहीं आते तो, वे बेबस हो जाते हैं। रट्टा मारने की आदत से कभी सफलता हाथ नहीं लगेगी। बेसिक कॉन्सेप्ट्स स्पष्ट होना जरूरी है। पढ़ाई को बोझ ना समझकर इसे एंजॉय करें।

6. पुराने पेपर और मॉडल पेपर सॉल्व करें

परीक्षा में सक्सेस होने के लिए पुराने साल के पेपर और लेटस्ट मॉडल पेपर को सॉल्व करना बहुत जरूरी है। कम से कम पिछले 6-7 साल के क्वैस्चन पेपर्स को हल करें। इससे आपको पेपर के बारे में अच्छे से पता लग जाएगा, यानि पेपर का स्टैंडर कैसा है, कैसे प्रश्न पूछे जाते है और उनका डिफिक्लटी लेवल कैसा होता है। और पुराने पेपर और मॉडल पेपर सॉल्व करने से आपको ये भी पता लग जाएगा कि आप इसे सॉल्व करने में कितना समय ले रहे हैं।

7. परीक्षा पैर्टन की सही जानकारी हो

परीक्षा की तैयारी के लिए जितनी अहम पढ़ाई है। उतना ही JEE MAIN परीक्षा के बार जानकारी होना आवश्यक है। इसके लिए आप परीक्षा पैटर्न, सिलेबस, मार्क्स, परीक्षा तारीख, परीक्षा की टाइमिंग इत्यादि की सही जानकारी होनी चाहिए और फिर उसके मुताबिक ही तैयारी करें। साथ ही ऐसा ना हो की आप आगे बढ़ते जा रहे हैं, लेकिन पीछे जो पढ़ा है उसे भूल रहे है। इसलिये बीच-बीच में रिविजन भी जरूर करें। ताकि आपको कोई कन्फ्यूजन ना हो। इससे आप अपडेट भी रहेंगे।

8. कोचिंग सेंटर्स की अहम भूमिका

जेईई मेंस में 200 पार स्कोर करने के लिए कोचिंग सेंटर्स की भूमिका अहम है। क्योंकि कोचिंग सेंटर्स फोकस सिर्फ परीक्षा में पूछे जाने वाले सावालों पर ही होता है। और उन्हें प्रश्नों की प्रैक्टिस कराई जाती है। मॉक टेस्ट कराया जाता है। जो स्कोर बढ़ाने में काफी मददगार होता है। कोचिंग सेंटर की मदद से आप आसानी से अच्छे नंबर ला सकते हैं। इसमें कोई शक नहीं है कि सेल्फ– स्टडी सर्वश्रेष्ठ होती है। लेकिन अपनी तैयारी को धार देने के लिए ट्रिक्स और टिप्स भी जरूरी होते हैं। कोचिंग सेंटर इसी पैटर्न पर काम करते हैं।

9. एक प्रश्न पर ज़्यादा समय बर्बाद नहीं करें

अगर आपको किसी प्रश्न को हल करने में दिक्कत हो रही है। तो उसको छोड़ कर अगले प्रश्न को हल करें। उस पर समय बर्बाद ना करें। विद्यार्थियों की रैंक उनके द्वारा कितने प्रश्न सही हल किये गए इस पर निर्भर करती है। कभी भी तुक्का ना मारे। क्योंकि इसमें निगेटिव मार्किंग होती है।

10. पढ़ाई के साथ हेल्थ पर भी रखें ध्यान

परीक्षा पास करने के लिए पढ़ाई जितनी जरूरी है, उतना ही आवश्यक आराम भी है। पढ़ाई के साथ आपको अन्य एक्टिविटी भी करती रहनी चाहिए। खेल के लिए भी आपको समय निकालना चाहिए। ताकि आप फिट रहे। जब आप फिट रहेंगे तभी पढ़ाई में भी आपका मन लग पाएगा। और याद रहे आपको कम से कम 7 घंटे की नीद जरूर लेनी चाहिए।

फिलहाल इन सब टिप्स के साथ हम आपको एक और सलाह देंगे, कि हमेशा पॉजिटिव एटिट्यूट रखें। पॉजिटिव एटिट्यूड से ही शिखर को छुआ जा सकता है। परीक्षा पास करनी है तो लगन, ध्यान, ऊंचा मनोबल, समर्पण भाव होना जरूरी है क्योंकि पॉजिटिव एटिट्यूड से ही चुनौतियों से पार पाया जा सकता है। बहरहाल, सफलता के लिए शुभकामनाएं!

sponsored


कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *