‘खबरें अभी तक’ का हाल : ज्वायनिंग के समय लेटर नहीं मिलता, इस्तीफे के वक्त सेलरी नहीं दी जाती!

Yogesh Mutreja : सेलरी नहीं दे रहा ‘खबरें अभी तक’. मुलाना यूनिवर्सिटी और खबरें अभी तक का मालिक नहीं दे रहा कर्मचारियों की सेलरी… चैनल को मिला था हाल ही में बेस्ट रीजनल अवार्ड… चंडीगढ़ से प्रसारित होने वाला हरियाणा और हिमाचल का न्यूज़ चैनल ‘खबरें अभी तक’ का नाम तो आपने सुना ही होगा… खबरें अभी तक को हाल ही में बेस्ट रीजनल चैनल का अवार्ड दिया गया था… खबरें अभी तक के मालिक विशाल गर्ग के पास बेशुमार दौलत है.. मौलाना यूनिवर्सिटी के मालिक हैं विशाल गर्ग… लेकिन खबरें अभी तक में ज्वाइनिंग के समय में किसी भी कर्मचारी को ज्वाइनिंग लेटर नहीं दिया जाता है…

जब आप ‘खबरें अभी तक’ से रिजाइन देते हैं तो आपकी सेलरी रोक ली जाती है… जब कोई कर्मचारी चैनल को छोड़ कर जाता है तो उसे सेलरी नहीं दी जाती है… उसकी मेहनत का पैसा नहीं दिया जाता… जब कर्मचारी मालिक से बात करेगा तो पहले तो मालिक फोन ही नहीं उठाएगा… फोन उठाएगा तो कहेगा चैनल में बात कीजिए… जब कर्मचारी चैनल में बात करेगा तो चैनल के मैनेजिंग एडिटर कहते हैं कि मेरे हाथ में कुछ नहीं है, जब मेरे को ऊपर से आदेश आएगा तो मैं सैलरी दे दूंगा… उधर मालिक कहता है कि चैनल में बात कीजिए…

चैनल मैनेजमेंट कहता है कि इनको नोटिस पीरियड चाहिए… जब चैनल खुद किसी को ज्वाइनिंग लेटर या कोई कागज नहीं दे रहा तो किस मुंह से नोटिस पीरियड मांगता है… दूसरा नंबर जो कर्मचारी नोटिस पीरियड देकर जाते हैं उन्हें भी सैलरी नहीं दी जाती… जिन कर्मचारियों की सैलरी पांच से दस हजार रुपये हैं उन्हें भी सैलरी नहीं दी जा रही… वैसे मौलाना यूनिवर्सिटी के मालिक हैं विशाल गर्ग लेकिन लोगों के 5000 या 10000 की सैलरी भी नहीं दे रहे… बहुत सारे कर्मचारी ऐसे हैं जिन्हें सैलरी नहीं मिली…

युवा पत्रकार योगेश मुतरेजा की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “‘खबरें अभी तक’ का हाल : ज्वायनिंग के समय लेटर नहीं मिलता, इस्तीफे के वक्त सेलरी नहीं दी जाती!

  • Vivek Rajpoot says:

    किसी और से भी पूछ लेते, एक ने लिखा और अपने मान लिया।
    ऐसा कुछ भी नहीं है, मैं खुद वहां काम कर चुका हूं और सबको समय पर सैलरी मिली है,
    किसी की एफबी से उठाई बात

    तो सब सही नहीं होती,

    Reply
    • Yogesh mutreja says:

      सैलरी तो समय पर आ रही है मैं भी मानता हूं यह बात लेकिन जो लोग जॉइनिंग करते हैं उस समय जोइनिंग लेटर नहीं दिया जाता और जो छोड़कर जाते हैं उन्हें उस समय की सैलरी नहीं दी जाती
      मैंने भी वहां पर काम किया और एक ने नहीं आपको 10 लोगों से मिलवा सकता हूं जिनको सैलरी नहीं मिली

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *