लोकसभा चैनल के एडिटर इन चीफ कम सीईओ पद के लिए किस-किस ने किया है अप्लाई, पढ़ें पूरी लिस्ट

लोकसभा चैनल के एडिटर इन चीफ कम सीईओ के लिए इन दिनों भर्ती प्रक्रिया चल रही है. कुल 44 पत्रकारों ने अप्लाई किया है. इन सभी का इंटरव्यू 30 सितंबर को होना है. सूत्रों का कहना है कि भले ही सब कुछ ट्रांसपैरेंट दिखाने की कोशिश की जा रही हो लेकिन एडिटर इन चीफ बनेगा वही जिसके नाम पर ‘उपर’ से यानि पीएमओ की तरफ से अघोषित इशारा कर दिया जाए. और, इशारा उसी किसी एक नाम की तरफ होगा जिसका टीवी में ठीकठाक बैकग्राउंड हो और फेमिली बैकग्राउंड संघ से जुड़ा रहा हो. चर्चा है कि सीमा गुप्ता के नाम पर लगभग सहमति बनती दिख रही है.

बताते चलें कि सीमा गुप्ता जी न्यूज में कार्यरत रही हैं. सीमा गुप्ता का नाम अभी तक गासिप के लेवल पर है, क्योंकि जो कुछ फाइनल होगा, वह 30 के बाद ही पता चल सकेगा. पर इतना तो तय है कि दर्जनों छोटे बड़े पत्रकार इस वक्त अपने अपने पोलिटिकल सोर्सेज के जरिए एडिटर इन चीफ बनने के लिए जोरदार लाबिंग कर रहे हैं. देखना है किसका सितारा चमकता है. फिलहाल पढ़िए उन नामों की पूरी लिस्ट, जिन-जिन ने लोकसभा टीवी के एडिटर इन चीफ पद के लिए अप्लाई किया है. बिलकुल नीचे वो पीडीएफ फाइल है जिसमें इन सभी के नाम, डेथ आफ बर्थ और दस्तावेज-अनुभव का स्टेटस दर्ज है. कई लोगों के नाम के आगे लिख दिया गया है कि उनके आवेदन खारिज करने योग्य है क्योंकि उन लोगों ने वो सब दस्तावेज नहीं दिया है जो एडिटर इन चीफ कम सीईओ बनने के लिए जरूरी है. तो, नीचे बिलकुल लास्ट में पीडीएफ फाइल पर क्लिक करना न भूलें.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया


लोकसभा टीवी के एडिटर इन चीफ कम सीईओ पद के लिए आवेदन करने वाले पत्रकारों के नाम की सूची

  1. बलदेव भाई शर्मा
  2. मनोज दुबे
  3. राजेश कुमार
  4. शिवाजी सरकार
  5. सिद्धार्थ जराबी
  6. ज्ञानेंद्र नाथ बरतरिया
  7. विजय कुमार गुप्ता
  8. किशोर कुमार मालवीय
  9. प्रदीप शर्मा
  10. मुकेश शर्मा
  11. श्याम किशोर सहाय
  12. अनन्या बैनर्जी
  13. नवीन कुमार
  14. पंकज सक्सेना
  15. डा. अलका नंदा दास
  16. प्रदीप पंडित
  17. अमिताभ श्रीवास्तव
  18. हर्षद ठाकर
  19. मुकेश कुमार सिंह
  20. ज्योति सरुप
  21. दीपक जोशी
  22. सुनीत टंडन
  23. राकेश त्रिपाठी
  24. राहुल महाजन
  25. श्रीमती अर्चना दत्ता
  26. एलके भाग्यलक्ष्मी
  27. अलका सक्सेना
  28. आर श्रीवास्तव
  29. विनीता पांडेय
  30. विभाकर
  31. सीमा गुप्ता
  32. ओंकारेश्वर पांडेय
  33. विनीत कुमार दीक्षित
  34. कौशिक कपूर
  35. संजय द्विवेदी
  36. कुमार राकेश
  37. सुहास बोरकर
  38. पी. राजकुमार
  39. मयंक कुमार अग्रवाल
  40. रमेश खजांची
  41. विकास खन्ना
  42. अमित कुमार
  43. कुमार संजॉय सिंह
  44. मिस डेल्फी जेके दुनाई.

ओरीजनल पीडीएफ फाइल देखने के लिए क्लिक करें : LS TV Editor in Chief cum Chief Executive

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “लोकसभा चैनल के एडिटर इन चीफ कम सीईओ पद के लिए किस-किस ने किया है अप्लाई, पढ़ें पूरी लिस्ट

  • सीमा गुप्ता का नाम पहले से ही फाइलन हो चुका है इसके लिए

    Reply
  • राहुल says:

    isme to sirf दो लोगों का नाम प्रारंभिक तौर पर स्वीकृत हुआ है- राजेश कुमार और नवीन कुमार, इसमें से नवीन कुमार मोदी के करीबी हैं, इसलिए मुझे लगता है नवीन कुमार ही बनेंगे

    Reply
  • जिस सीमा गुप्ता की बात आप कर रहें है वे अभी ज़ी न्यूज में नहीं है। कृपया इसमें सुधार कर लें। जिस सीमा ने आवेदन किया है वे 1996 से लेकर 2000 तक थी। वे कार्यवाहक सीओ रहीं थी ४ -६ महीने तक।
    फेल होने के चलते उनकी विदाई हो गई थी।
    उसके बाद वे विदेश चली गई और भारतीय मीडिया के प्रमुख संस्थानों में कोई जुड़ाव नहीं रहा लेकिन बताया जाता है कि उनकी नियुक्ति इस लिए तय है क्योंकि वे भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की नजदीकी समझी जाती हैं। उनके पास रिपोर्टिंग और एंकरिंग का कोई अनुभव नहीं है

    Reply
  • लोकसभा टीवी को अगर यही करना था, तो इतनी नौटंकी करने की जरूरत क्या थी? क्या कॉरपोरेट धनपशुओं की तरह अब सरकार और सरकारी संस्थाएं भी पत्रकारों की नीचा दिखाने का षडयंत्र करेेंगे? जब रिजल्ट पहले से ही तय है तो वरिष्ठ पत्रकारों को बुलाकर क्या उनकी हैसियत बताना चाहती है लोकसभा टीवी ? क्योंकि, सुनने में आ रहा है कि एक दावेदार के लिए भाजपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह तो एक अन्य दावेदार के लिए पिछले दिनों विवाद के चलते चर्चा में रहे संघ के एक प्रभावी पदाधिकारी जोर लगा रहे हैं। अब इन दोनों के कहे को भला कौन टाल सकता है? शायद लोकसभा अध्यक्ष भी इतनी हिम्मत नहीं जुटा पाएंगी। वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी क्या अमित शाह जी की बात टाल देंगे? इस वक्त तो यह संभव नहीं दिखता। मतलब साफ है कि लोकसभा टीवी ने एक प्रपंच किया है एडवर्टिजमेंट निकालकर और पारदर्शिता गई तेल लेने। वैसे यह छिपाने की चीज नहीं है, नियुक्ति के बाद पता चल ही जाएगा कि पौवे वाले लोकसभा टीवी पहुंचे या शुद्ध पत्रकार।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code