‘समाचार प्लस’ चैनल के महिला बाथरूम में ख़ुफ़िया कैमरा!

{jcomments off}एक बड़ी खबर नोएडा के सेक्टर 63 से आ रही है। समाचार प्लस नामक न्यूज़ चैनल के फीमेल बाथरूम से एक ख़ुफ़िया कैमरा जब्त किया गया है। सूत्रों के मुताबिक किसी महिला एंकर का mms बनाने के इरादे से ये कैमरा किसी शैतानी दिमाग के उच्च पदस्थ शख्स ने लगवाया है। आज एक महिला पत्रकार का ध्यान जब इस कैमरे की तरफ गया तो पूरे चैनल में हड़कंप मच गया। 

चर्चा है कि प्रबंधन के लोगों ने अपनी करतूत छिपाने के लिए पुलिस बुलाने का ड्रामा किया। पुलिस ने मौके पर आकर कैमरा जब्त कर लिया। कहा जा रहा है कि कुछ महिला कर्मियों ने लिखित शिकायत भी की है। चैनल के लोगों ने उत्तर प्रदेश सरकार में शीर्ष स्तर पर अपने संपर्कों संबंधों के जरिए पूरे मामले को दबवा दिया। पुलिस ऑन दी रिकॉर्ड कुछ नहीं बोल रही। ऑफ दी रिकॉर्ड सबको पूरा मामला पता चल चुका है।

फिलहाल समाचार प्लस नोएडा ऑफिस की महिला पत्रकार सदमे में हैं। हर कोई आशंकित है कि जाने किस किस का वीडियो बन चुका है और पता नहीं कबसे ये काम हो रहा था। इस प्रकरण को लेकर मीडियाकर्मियों में जितनी मुंह उतनी बातें हो रही हैं।

ज्ञात हो कि समाचार प्लस में कई सारी लड़कियां शोषण और उत्पीड़न का शिकार होने के कारण नौकरी छोड़ चुकी हैं। लड़कियों पर कई किस्म के अनैतिक दबाव डाले जाते थे। अब इस स्कैंडल के सामने आने से कहा जाने लगा है कि कहीं न्यूज़ की आड़ मेंये चैनल कोई दूसरा धंधा तो नहीं करता! समाचार प्लस चैनल के इस प्रकरण पर चैनल की महिला कर्मियों ने गंभीर रुख अपनाया है और पूरे मामले को महिला आयोग ले जाने की तैयारी शुरू की है। 



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “‘समाचार प्लस’ चैनल के महिला बाथरूम में ख़ुफ़िया कैमरा!

  • F Employee of S Plus says:

    समाचार प्लस की कर्मचारी होने के नाते मै बहुत आहत हूं कि क्योंकि ऊपर लिखा गया सबकुछ निराधार, निरर्थक बकवास और किसी बुरे मकसद को पूरा करने के लिए किसी घटिया और स्तरहीन शख्स के द्वारा किया गया है… मैने कई चैनलों में काम किया है लेकिन जितना सम्मान इस चैनल में लड़कियों-महिलाओं को दिया जाता है.. शायद ही कहीं मिलता हो… जिस कामयाबी के साथ ये चैनल रोज़ नए रिकॉर्ड बना रहा है… साफ है कुछ लोगों को ये पच नहीं रहा और इसीलिए ये सब प्रोपेगंडा फैलाया गया है…

    Reply
  • whatever is written is half truth but yes a man was caught red handed while ‘jHANKATE’ IN LADIES WASHROOM…..and as per my knowledge o issue ….the particular employee female was told not to hype of this matter….i surprise how a organisation can be such mentality…instead of doing justice they are the victim to get silence and lay the issue into the deaf ears…..???i think the company should not look down over this so crucial matter …..yaar its a question of women’s reputation…..how can samachar plus play its social responsibility if it cant provide security to its female employess….shame on u ……

    Reply
  • Abhijit Sharma says:

    मामला बिलकुल गलत है, हम लोग तीन साल से काम कर रहें है पर इस तरह की खबर न सुनी न देखी है… यह खबर प्रबंधन के खिलाफ असमाजिक तत्वों ने प्लांट किया है.. न कोई पीड़ित है न कोई घटना.. अगर है तो सामने लाओ..फर्जी खबर संचालक..

    Reply
  • Abhijit Sharma says:

    यह खबर फर्जी है हम तीन साल से काम कर रहें है पर इस तरह का न कभी देखने को मिला न कभी सुनने को मिला.. यह खबर प्रबंधन को बदनाम करने के लिए कुंठितों के द्वारा प्लांट किया गया है अगर मामला होता तभी तो कोई पीड़ित सामने आता न.. यह खबर आप जैसे फर्जी खबर संचालक को ही मुबारक हो..

    Reply
  • सम. प्ल महिला कर्मी says:

    [quote name=”F Employee of S Plus”]समाचार प्लस की कर्मचारी होने के नाते मै बहुत आहत हूं कि क्योंकि ऊपर लिखा गया सबकुछ निराधार, निरर्थक बकवास और किसी बुरे मकसद को पूरा करने के लिए किसी घटिया और स्तरहीन शख्स के द्वारा किया गया है… मैने कई चैनलों में काम किया है लेकिन जितना सम्मान इस चैनल में लड़कियों-महिलाओं को दिया जाता है.. शायद ही कहीं मिलता हो… जिस कामयाबी के साथ ये चैनल रोज़ नए रिकॉर्ड बना रहा है… साफ है कुछ लोगों को ये पच नहीं रहा और इसीलिए ये सब प्रोपेगंडा फैलाया गया है…मै खुद दो साल से इस reputed चैनल का हिस्सा हूँ.. And i proud to be a part of samachar Plus…थू है इस वेबसाइट पर जो बिना तथ्यों के कुछ भी छापती है…Shame on You Hounour of this Website

    Reply
  • jo likha hai bilkil galat likha hai…….chanl ne hamesa apne karmio ka dhyaan rakha hai….samachar plus bulandio ko chu raha hai to kuch logo ko mirchi lagi hue hai………

    Reply
  • समाचार प्लस इम्प्लॉय says:

    लीजिए…स्वयं भू और संमप्रभु संत की एक और पोस्ट….समझ में ये नहीं आता कि आखिर बिना तथ्यों
    के आप ये तथ्यहीन बातें कैसे कर सकते हैं… और यशवंत भाई…आप ये दलाली की बातें करना बंद करें तो अच्छा होगा…आपके किस्से भी कुछ कम नहीं हैं… यार अगर और कुछ नहीं बचा तो …वो दिन तो मत भूलिए…कि जिनके खिलाफ आप लिख रहे हो कभी आप उनके टुकड़ों पर पलते थे…. हद हो गई …आपकी दलाली की …मैं समाचार प्लस में कई सालों से काम कर रहा हूं…मुझे तो आज तक ऐसा कुछ नजर नहीं आया …

    Reply
  • यह खबर पढ़कर मुझे सबसे ज्यादा ताज्जुब भड़ास बेबसाईट चलाने वाले लोगों
    पर होता हैं । आखिर क्या हैं इनकी मानसिकता …. किस तरह की कुंठा का
    प्रर्दशन ये लोग कर रहें हैं समझ नहीं आता। दुनिया भर को पत्रकारिता के
    सिद्धांन्त समझाने वाले इन लोगों से मैं पूछना चाहता हूँ …. क्या आप
    पत्रकारिता के क ख ग को समझ पा रहें हैं ? माफ कीजिएगा आपके आचरण से ऐसा
    लगता तो नहीं हैं। मनंगंढ़त बातें दिलचस्प तरीके से कहने का इतना ही शौक
    है तो शुरू किजिए कोई सरस सलिल जैसी पत्रिका… पत्रकारिता आपसे नहीं हो
    सकती …. खबरों के लिए जरा भी संजीदा हैं आप…. ? किसी पर अंगुली उठा
    देना…. बिना तथ्यों को पता किए हुए… बिना सच्चाई को जाने … आप
    गरिमा की सारी हदें तोड़ देते हैं …. किसी के भी आत्म सम्मान को चोट
    पँहुचातें हैं …. और फिर कहते हैं हम पत्रकार हैं…. झूठे मनंगढंत
    किस्से लिखने वालों मैं आपको आपकी सच्चाई बता देना चाहता हूँ…. आप
    पत्रकार नहीं दलाल हैं। मुझे लगता हैं आप अपने असफल पत्रकारिता कॅरियर से
    कुंठित हैं … लेकिन इसं कुंठा को छिपाने के लिए लोगों की जि़न्दगी से
    खिलवाड़ ना करें … आपकी तो कोई इज्जत है नहीं … दूसरों को नसीहत देने
    से पहले आप यह सच्चाई बताने का दम दिखाएगें कि आपको जेल की हवा क्यों
    खानी पड़ी थी … ? आप पहले भी महिलाओं के चरित्र पर दाग लगाते आए हैं
    …. और आज भी यहीं कर रहें हैं … एक बात याद रखिएगा … किसी को जेल
    वाहियात स्तर की किताब लिखने के लिए नहीं भेजा जाता … उसे जेल भेजा
    जाता हैं सुधरने के लिए ताकि वो अपना अपराध दोहराए ना…. अब तो सुधर
    जाईए

    Reply
  • जेल भिजवाया भी तो उमेश जे. कुमार ने ही था। वो भी धोखे से। विनोद कापड़ी से सांठगांठ कर ली थी। यशवंत को ऑफिस बुलवा कर पुलिस को फोन किसने किया था ? दफ्तर के बाहर पुलिस की जिप्सी खड़ी किसने करवाई थीं ? जो यशवंत कर रहा है वो सच्ची पत्रकारिता है और जो समाचार प्लस के कुत्ते कर रहे हैं वो होती है दलाली। लखनऊ से लेकर देहरादून तक दलाल ही दलाल तो भरे हुए हैं। किस मुंह से आदर्श की बातें कर रहे हो ?

    Reply
  • भड़ास के मालिक यशंवत सिंह का हाल ये है कि पैसा दे दो तो अपने बाप की खबर उल्टी लिख दे। ये वही शख्स है जिसके खिलाफ पत्रकार विनोद कापड़ी ने एफआईआर करायी और जेल में सड़ता रहा। अपराधी है ये व्यक्ति और दूसरों के खिलाफ सुपाड़ी लेकर खबर लिखता है। शर्म आनी चाहिए ऐसे लोगों को …

    Reply
  • अब आप ये मत कहना बहिन प्रियंका कि सदैव भगवद् गीता का पाठ करने वाले श्री श्री श्री १०८ यशवंत जी को विनोद कापड़ी ने झूठे केस में जेल करायी थी, लगता है उन्होंने अपने दलाली के बिज़नेस को कॉर्पोरेट लुक देकर आप जैसे पी. आर. भी नियुक्त कर दिए हैं , तभी काफी गहरे सवाल उठा रहीं हैं आप , लेकिन इनका पक्ष लेने और यशवंत की तरह ही बेबुनियाद सवाल उठाने से पहले आप आज खुद से पूछना , यशवंत को जिस वजह से जेल हुयी क्या उसका वो कर्म सही था —- एक स्त्री होने के नाते आप उस बात को जायज ठहराएंगी ?

    Reply
  • dr b zaman says:

    यशवंत जी
    इंसान को इतना एहसान फरामोश भी नही होना चाहिए। जब आप जेल में थे तो आपके परिपार को रोटी किसने खिलाई, घर का खर्च किसने चलाया, और आपके ब्लॉग को विज्ञापन के रूप में आर्थिक मदद कर ब्लॉग को किसने बचाये रखा, उसी समाचार प्लस के मालिक ने जिस समाचार प्लस पर आप बेबुनियाद और बेहूदा किस्म के आरोप लगा रहे हैं। आपको कोई मुंहमांगा विज्ञापन न दे तो आप उसके खिलाफ हो जाते है। इसे ही उगाही और रंगदारी कहते है जो आप वसूलने की कोशिश करते हैं। समाचार प्लस जैसा चैनल चलाने के लिए शेर का कलेजा चाहिए, ये उगाही से चलने वाला चंटूखाने का ब्लॉग नही है। शर्म करिये खुद पर और समाचार प्लस के लोगों से नाक रगड़कर माफ़ी मांगिये।

    Reply
  • dr b zaman says:

    यशवंत जी
    इंसान को इतना एहसान फरामोश भी नही होना चाहिए। जब आप जेल में थे तो आपके परिपार को रोटी किसने खिलाई, घर का खर्च किसने चलाया, और आपके ब्लॉग को विज्ञापन के रूप में आर्थिक मदद कर ब्लॉग को किसने बचाये रखा, उसी समाचार प्लस के मालिक ने जिस समाचार प्लस पर आप बेबुनियाद और बेहूदा किस्म के आरोप लगा रहे हैं। आपको कोई मुंहमांगा विज्ञापन न दे तो आप उसके खिलाफ हो जाते है। इसे ही उगाही और रंगदारी कहते है जो आप वसूलने की कोशिश करते हैं। समाचार प्लस जैसा चैनल चलाने के लिए शेर का कलेजा चाहिए, ये उगाही से चलने वाला चंटूखाने का ब्लॉग नही है। शर्म करिये खुद पर और समाचार प्लस के लोगों से नाक रगड़कर माफ़ी मांगिये।

    Reply
  • Dharmraj Singh says:

    सबसे पहले तो मैं इस खबर का खंडन करता हूं । समाचार प्लस में अपने 16 महीने के कामकाज के अनुभव के आधार पर मैं ये दावे के साथ कह सकता हूं कि यहां का मैनेजमेंट जितना अपने कर्मचारी के लिये सोचता हैं उतना शायद ही कोई संस्थान अपने कर्मचारियों के बारे में सोचता होगा । एक एंकर होने के नाते संस्थान के सफाई कर्मचारी से लेकर CEO तक जानते हैं और दुआ सलाम भी हो जाता है । भड़ास ने खबर को खुद से डायवर्ट किया या जिसने भी भड़ास तक ये खबर पहुंचाई ,, मुझे नही पता की समाचार प्लस के मैनेजमेंट से उसकी क्या अदावत है । अगर अदावत है तो लड़ाई आमने सामने होनी चाहिये । ये बहादुर शख्स की पहचान है और जिसने भी ये खबर फैलाई वो बहुत कमजोर इंसान होगा । ये मैं दावे के साथ कह सकता हूं ।
    जिस तरह से खबर को प्रकाशित किया गया है .. उसे देख के कोई भी दिमाग वाला इंसान समझ सकता है कि ये चू***** की इंतहा है । देश के किस न्यूज चैनल में महिला एंकरों के लिये अलग वाशरुम है । अगर कहीं है तो मुझे भी बताइये । जानकारी दुरुस्त हो जायेगी मेरी । ये किसी के खाली दिमाग की उपज है कि कैमरा किसी महिला एंकर के MMS बनाने के लिये लगाया गया था । जबकि वाशरुम को संस्थान की हर महिला कर्मी इस्तेमाल करती है । ये सिर्फ सनसनी फैलाने के लिये किया गया स्टंट है ।
    किसी प्रियंका सिंह के फेसबुक वाल से साभार लेकर आपने एक खबर पोस्ट की है .. उस प्रियंका जी से भी एक सवाल आपको दोस्त और मुंह बोली बहन के दर्द का एहसास हो गया .. लेकिन दर्जनों लोगों की बहनों के बारे में नहीं सोचा .. जिनके जानकार उन्हें सुबह से फोन कर घटना के बारे में पुछ रहे है । वो भी किसी की बहन हैं ,, आप भी महिला है । उनकी मनोदशा समझिये । सोशल साइट पर लाइक और कमेंट के चक्कर में बावला नहीं होना चाहिये । आप की जो मित्र परेशान है उनको कहिये की वो पुख्ता प्रमाण दे भरोसा देता हूं उस शख्स के खिलाफ हल्ला बोलने में आपसे आगे रहूंगा । लेकिन मुझे पता है कि ये बेसिर पैर की बात है ।
    आखिर उस महानुभाव को भी कहना चाहूंगा ,, भाई ये बुजदिली वाला काम मत करो .. किसी महिला की इज्जत को आगे रख कर हमला करने वालों को इतिहास क्या कहता है शायद मालूम होगा आपको । ये हमला कमर के नीचे है ।

    Reply
  • dr b zaman says:

    इस ब्लॉग का नाम “भड़ास 4 मीडिया” की जगह “बकवास 4 मीडिया” कर देना चाहिए। नया नाम ज़्यादा सूट करता है इनपर। वैसे भी इस ब्लॉग में अब ज़्यादातर बकवास ही पढ़ने को मिलता है।

    Reply
  • संदीप सेठी says:

    मैंने समाचार प्लस में काम किया है। और वहां की हकीकत से वाकिफ हूँ। ये चैनल असल में दलाली, और काले धन को सफ़ेद करने का अड्डा है। इस चैनल का मुख्य धंधा ब्लैकमेलिंग करके पैसा बनाना है। यहां चैनल की आड़ में तमाम तरह के गोरख धंधे होते हैं। कर्मचारी नाम मात्र की तनख्वाह पर काम कर रहे हैं। महिलाओं का जमकर शोषण होता है।12 घंटे तक बंधुआ मजदूर की तरह काम कराया जाता है।इस चैनल के मालिकों का ये पहला काण्ड नहीं है। सुर सुरा सुंदरी और सत्ता का गंदा धंधा यहाँ शुरू से चल रहा है। इज़्ज़त जाने डर से पीड़ित लडकियां चुप रहती आई हैं। यहां ईडी और सीबीआई का छापा पड़ने पर सारे सबूत और मीडिया का बहुत बड़ा स्कैंडल सामने आ सकता है। यशवंत को इस साहसिक रिपोर्ट को छापने के लिए बधाई।

    Reply
  • जमा जी… इतनी महत्वपूर्ण जानकारी देकर आपने जो बताया इससे पता चलता है ये तो अहसानफरामोसी की हद हो गई
    ये इन्सान कलंकित नहीं कर रहा अरे ये तो खुद ही एक कलंक है

    Reply
  • rahul singh says:

    aj kal news channel k ad main yehi sab hora hai ya to kuch channel k patrakarh netao se milkar karr rahe hai paisa kamane ka khel kabi transfer k naam pe naukari kenaam pe aur kar rahe hai apne office main kam karne wali ladki aur auraton ke sath sosan ye b nai sale sochte hai k ghar pariwar ka koi dekhega ya pata chalega to unpar kya bitegi aise saloko road par nanga karke goli mar deni chahiye ya unke ghar pariwar k mahilao k sath khule am unka sosan karna chahiye

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code