सहारा ग्रुप के वरिष्ठ पदाधिकारी ओपी श्रीवास्तव ने फेसबुक छोड़ा

कई संकटों से घिरे हुए सहारा समूह के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ओपी श्रीवास्तव ने फेसबुक को अलविदा कह दिया है.

फेसबुक पर एक पोस्ट डालते हुए उन्होंने बताया है कि चूंकि वे अन्य व्यस्तताओं के चलते फेसबुक पर सक्रिय नहीं रह पाते, लोगों को मैसेजेज का जवाब नहीं दे पाते इसलिए वो यहां से जा रहे हैं.

हालांकि उनके जाने के कई दूसरे अर्थ भी निकाले जा रहे हैं.

देखें ओपी श्रीवास्तव का एफबी स्टेटस-

ओपी श्रीवास्तव ने फेसबुक अकाउंट बंद करने के लिए जो कुछ लिखा है, उसका स्क्रीनशाट

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “सहारा ग्रुप के वरिष्ठ पदाधिकारी ओपी श्रीवास्तव ने फेसबुक छोड़ा

  • सहारा मिडिया में वेतन के लिए हाहाकार।

    सहारा मीडिया के कर्मचारियों को अप्रैल माह का वेतन भी नहीं मिला। और जुलाई माह का वेतन भी गोल हो गया।

    आगे कब वेतन मिलेगा यह भी नहीं पता।

    कोई भी आवाज उठाने की हिम्मत नहीं कर रहा है, पिछली कार्यवाही देख कर।

    सहारा समय मीडिया समूह द्वारा अपने कर्मचारियों को सैलरी नहीं दी जा रही है, संस्थान पहले ही अप्रैल महीने की सैलरी रोक चुका है वहीं अब जुलाई माह की भी सैलरी नहीं दी गई, पहले कर्मचारियों को कहा गया था कि 25 तारीख तक का इंतज़ार करें, लेकिन अब सैलरी को लेकर प्रबंधन कुछ भी कहने से ही बच रहा. वहीं बीते दिनों संस्थान के कुछ कर्मचारियों ने जब इसका विरोध किया तो एडिशनल ग्रुप एडिटर रमेश अवस्थी ने उन्हें धमकाया और कहा कि जिसे सैलरी चाहिए वो सामने आए मैं उसका हिसाब कर देता हूं. संस्थान अपने कर्मचारियों को लगातार ऑफिस भी बुला रहा है और जब सैलरी देने की बात आती है तो पल्ला झाड़ लेता है, ज्ञात हो कि जून माह की सैलरी भी बड़ी जद्दोजहद के बाद दी गई थी.

    Reply
  • SHANKAR KUMAR BHAGAT says:

    सहारा प्रणाम जितने भी कार्य करता है परमानेंट वेतन का उम्मीद है क्या डीसीएस कलेक्टर वाले का कुछ नया बेहतर दे सकते हैं

    Reply
  • चाहे आप मेरे पोस्ट को अपडेट करो या ना करो लेकिन यह हकीकत है कि सहारा समय नेशनल में एंकर को लेकर राजनीति अपने पूरे चरम पर है जिसका नतीजा यह कि महिलाओं के साथ अभद्रता करने वाले राजीव मालवीय का खेल आखिरकार रमेश अवस्थी जिन्हें एडिटर इन चीफ बनाया गया है उनके द्वारा कर लिया गया राजीव मालवीय की एंकर हेड की पोजीशन छीनकर उन्हें वापस न्यूज़ फ्लोर पर रिपोर्ट करने के लिए कहा गया है जल्द ही उपेंद्र राय के खेल भी अपने अंजाम तक पहुंचेंगे मैनेजमेंट अब अवस्थी को फुल पावर देने के मूड में है। खबर है कि राजीव मालवीय को एंकर हेड की पोजीशन से हटाए जाने के बाद केवल 4 एंकर उनके समर्थन में सामने आए जबकि बाकी सभी एंकर्स खामोश बनी रहे इसी से यह बात साबित होती है कि राजीव मालवीय को एंकर हेड बनाना मैनेजमेंट का कितना गलत फैसला था

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *