मंत्रियों के परिवार वालों के व्यवसाय की सूचना दे पीएमओ : सीआईसी

केंद्रीय सूचना आयोग ने प्रधान मंत्री कार्यालय (पीएमओ) को मंत्रियों पर लागू होने वाले आचरण संहिता से संबंधित सूचना देने के आदेश दिए हैं. लखनऊ स्थित एक्टिविस्ट डॉ नूतन ठाकुर ने गृह मंत्रालय से केंद्रीय कैबिनेट के मंत्रियों द्वारा प्रेषित वार्षिक संपत्ति विवरण, मंत्रियों के परिवार वालों द्वारा किसी व्यवसाय को प्रारंभ करने या शामिल होने का विवरण, उनकी पत्नी तथा उन पर आश्रित व्यक्तियों के आर्थिक क्रियाकलाप, उनके द्वारा मूल्यांकन हेतु तोषखाना में दिए गए उपहार तथा किसी संस्था द्वारा मंत्रियों को दिए गए पुरस्कार आदि के संबंध में दी गयी सूचना मांगी थी.

इस संबंध में सूचना पीएमओ के पास होने के कारण गृह मंत्रालय ने इसे पीएमओ को अंतरित कर दिया था किन्तु पीएमओ द्वारा सूचना नहीं दी गयी. मुख्य सूचना आयुक्त सुधीर भार्गव ने कहा कि आयोग के अभिलेखों के अनुसार पीएमओ द्वारा कोई सूचना नहीं दी गयी है. अतः आयोग ने पीएमओ के जन सूचना अधिकारी को नूतन को चार सप्ताह में सूचना देने के निर्देश दिए. साथ ही उन्होंने गृह मंत्रालय के जन सूचना अधिकारी को भविष्य में आरटीआई प्रार्थनापत्र अंतरित करने में अधिक सतर्क रहने का भी परामर्श दिया.

CIC directs PMO to provide info on Ministers’ family business etc

The Central Information Commission has directed the Prime Minister Office (PMO) to provide various information about the Code of Conduct applicable to the Ministers.

Lucknow based activist Dr Nutan Thakur had sought information from Ministry of Home Affairs (MHA) about information provided by various ministers of the Union Cabinet regarding annual disclosure of property, setting up or joining any business by any member of the Ministers’ family, deployment of their wife or dependent, issue of Gift to the Toshakhana for valuation and grant of an award by an organization etc.

The information being available with the PMO, MHA transferred the matter to the PMO but the PMO did not provide the requisite information.

Sudhir Bhargava, Chief Information Commissioner said that no response from the PMO is available on the record of the Commission. In view of this, the Commission directed the Central Public Information Officer (CPIO) of PMO, New Delhi to provide the requisite information to Nutan within four weeks. He also counselled the CPIO of MHA to be more careful in future in transferring RTI applications within stipulated time.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *