‘समाचार प्लस’ न्यूज चैनल से मीडियाकर्मियों की हुई सम्मानजनक विदाई, देखें तस्वीरें

जैसा कि पहले ही भड़ास ने बता दिया था कि समाचार प्लस चैनल में काम करने वालों के लिए 31 अगस्त आखिरी दिन होगा, आज हुआ भी यही. दर्जनों कर्मियों को समाचार प्लस प्रबंधन ने एक महीने की एडवांस सेलरी व ग्रेच्युटी आदि बकाया देकर सम्मानजनक तरीके से विदा कर दिया. चैनल प्रबंधन के लोगों ने जाते हुए कर्मियों के साथ तस्वीरें खिंचाईं. अंत में जब लोग आफिस से बाहर निकलने लगे तो माहौल काफी भावुक हो गया.

ज्ञात हो कि समाचार प्लस चैनल को यूपी और उत्तराखंड सरकारों से विज्ञापन न मिलने के कारण हर महीने प्रबंधन को करीब 30 लाख रुपये का घाटा हो रहा था. इससे उबरते न देख प्रबंधन ने बड़े पैमाने पर छंटनी का फैसला कर लिया. इसी के तहत चैनल को अब रिकार्डेड मोड में डाल दिया गया है. चैनल का नोएडा आफिस बंद कर दिया गया है. यहां कार्यरत लोगों को आज आखिरी विदाई दे दी गई. देखें आज की कुछ तस्वीरें-

इस बीच चर्चा है कि चैनल को देर सबेर नए सिरे से लांच किया जा सकता है. चैनल के लिए इनवेस्टर्स की तलाश की जा रही है. पर इन चर्चाओं को समाचार प्लस प्रबंधन ने खारिज कर दिया. प्रबंधन का कहना है कि चैनल के लखनऊ और देहरादून ब्यूरो को सक्रिय रखा गया है. चैनल अभी हर प्लेटफार्म पर दिख रहा है. चैनल के घाटे में चलने के कारण छंटनी की गई है और यह छंटनी का ट्रेंड इस वक्त मीडिया इंडस्ट्री में हर जगह है. प्रबंधन का दावा है कि आज तक किसी भी रीजनल न्यूज चैनल ने अपने यहां के स्टाफ की छंटनी के साथ उनके साथ ऐसा पाजिटिव बर्ताव नहीं किया जैसा समाचार प्लस के लोगों के साथ किया गया. सबको महीने भर की सेलरी के अलावा ग्रेच्युटी समेत उनका जो भी बकाया था, वो दिया गया और पूरे सम्मान के साथ विदाई दी गई.

होटलवालों की बदमाशी को भड़ास संपादक ने कैमर में किया रिकार्ड

पत्रकार ने होटल रूम में खुफिया छेद पकड़ा, देखें

Posted by Bhadas4media on Tuesday, August 27, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “‘समाचार प्लस’ न्यूज चैनल से मीडियाकर्मियों की हुई सम्मानजनक विदाई, देखें तस्वीरें

  • Anupam Alok says:

    बहुत दुखद है ऐसे शानदार चैनल का बंद हो जाना। सैल्यूट करता हूं समाचार प्लस प्रबंधन और पत्रकारों को।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *