सत्यपाल मलिक को बिहार से जम्मू-कश्मीर भेजा जाना एक तरह से उनका प्रमोशन है

सत्यपाल मलिक उर्फ सतपाल मलिक

Vivek Kumar : सत्यपाल मलिक को बिहार से जम्मू-कश्मीर भेजा जाना कोई दंड नहीं बल्कि इनाम है. बिहार में तो चुनी हुई सरकार है इसलिए वहां राज्यपाल के पास करने के लिए कुछ खास नहीं है. जम्मू-कश्मीर में सारी सत्ता की बागडोर राज्पाल के हाथों में है क्योंकि वहां चुनी हुई सरकार नहीं है. वहां सारा फंड और प्रशासन राज्यपाल के अधीन है…

तो इस लिहाज से सत्यपाल मलिक को प्रमोशन दे दिया गया… पत्रकार भाई लोग जिस सत्यपाल मलिक पर एक पत्रकार को फर्जी मामले में गिरफ्तार कराने को लेकर उंगली उठा रहे हैं, मोदी राज में वही सत्यपाल मलिक प्रमोशन पा जाते हैं….

Prabhat Dabral : Appointment as a governor of Jammu and Kashmir is in fact a promotion for Satyapal Malik who was governor of Bihar when he got involved in a scandal that resulted in unlawful arrest of a senior journalist last week. He will now head an administration which is flush with unaccounted funds and where there is no elected government.. JAI HO…

Shrawan Singh Rathore : राज्यपाल सतपाल मलिक को बिहार से हटाने पर बधाई… पत्रकार दुर्ग सिंह की ग़लत गिरफ्तारी को लेकर विवादों में आए राज्यपाल सतपाल मलिक को बिहार से हटा दिया गया है। इसे संयोग कहें या आईबी की रिपोर्ट का असर। राष्ट्रपति ने सतपाल मलिक को अब बिहार से हटाकर जम्मू-कश्मीर भेज दिया है। आप सभी के संघर्ष की यह पहली जीत है। सत्यमेव जयते। अभी संघर्ष जारी रहेगा। पहली जीत। विकेट गिरा। इस जीत के लिए सबको बधाई और भारत माता की जय हो।

वरिष्ठ पत्रकार विवेक कुमार, प्रभात डबराल और श्रवण सिंह राठौड़ की एफबी वॉल से.

इन्हें भी पढ़ें…

पत्रकार दुर्गसिंह राजपुरोहित पर लगा केस फर्जी निकला, दैनिक भास्कर ने सच ला दिया सामने

xxx

पत्रकार दुर्ग गिरफ्तारी प्रकरण : क्या भाजपा सरकारें इतनी कमजोर और डरपोक हैं, जो ऐसे घटियापन पर उतर आई हैं

xxx

कल तक मुकदमे की धमकी देने वाली नेत्री आज सफाई क्यों दे रही है?

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *