चेहरा चमकाने के लिए लाइक्स पाने का चक्कर : केजरीवाल जनता के लाखों रुपये रोजाना देते हैं गूगल और फेसबुक को!

प्रशांत भूषण ने खोली पोल…. दिल्ली सरकार ने टॉक टू एके नामक जो प्रोग्राम कराया, उसके लिए सोशल मीडिया पर पूरे 1.58 करोड़ रुपये लुटाए. ये पैसे आम आदमी पार्टी के नहीं बल्कि जनता के थे. केजरीवाल सोशल मीडिया पर लाइक्स खरीदने के लिए हर दिन 10-10 लाख रुपये गूगल और फेसबुक आदि को दिए. इसी तरह केजरीवाल ने ताज पैलेस होटल से 12 हजार रुपये प्रति थाली के हिसाब से सैकड़ों थाली खरीद कर अपने नेताओं कार्यकर्ताओं को दिल्ली सरकार के दो साल पूरे होने पर पार्टी दी थी. यहां भी जो पैसा खर्च हुआ वह जनता का था, आम आदमी पार्टी का नहीं.

जानकारी के मुताबिक टॉक टू एके फेसबुक पेज को आठ जुलाई से स्पांसर्ड किया गया. छह लाख रुपये प्रतिदिन की दर से फेसबुक को भुगतान हुआ. यूट्यूब पर 14 जुलाई से 12 लाख रुपये प्रतिदिन का विज्ञापन चला जिसके जरिए 20 लाख लाइक्स खरीदे गए. गूगल डिस्प्ले एड नेटवर्क को 40 लाख लोगों तक संदेश पहुंचाने के लिए 14 जुलाई से 10 लाख प्रतिदिन के हिसाब से पैसा दिया गया. आम आदमी पार्टी के संस्थापक रहे वकील प्रशांत भूषण ने ट्वीट कर जनता के पैसे को इस तरह से उड़ाए जाने को सुप्रीम कोर्ट के दिशा-निर्देशों का उल्लंघन बताया है. उन्होंने कहा कि खुद की प्रशंसा करने के लिए दिल्ली सरकार की ओर से टॉक टू एके प्रोग्राम करने में 1.58 करोड़ रुपये खर्च करने का क्या मतलब है?

ये है प्रशांत भूषण का ट्वीट…

Prashant Bhushan ‏@pbhushan1 

1.58Cr of our money was spent by Delhi govt to advertise the self praise social media programme ‘Talk to AK’! Vulgar& Contempt of SC orders! AAP came to power on USP of transparency, accountability, honesty, RTI, Lokpal. All thrown into dustbin in the naked pursuit of power.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *