ठरकी संपादक के जाल में फंसने से बची युवा महिला पत्रकार, सड़क हादसे में जान से मारने की कोशिश, बुरी तरह घायल

यशवंत सिंह-

Noida में एक युवा महिला पत्रकार को मदद की ज़रूरत है। कुख्यात ठरकी संपादक से हाल के दिनों में पीड़ित ये तीसरी महिला पत्रकार है। इस लड़की को सड़क हादसे में जान से मारने की कोशिश की गई है। शक की सुई ठरकी सम्पादक की तरफ़ जा रही है। लड़की काफ़ी चोटिल है और डरी हुई है। आर्थिक रूप से मुश्किल में है।

भड़ास की तरफ़ से फ़ौरन कुछ पैसे भेजा और इलाज के लिए अपने परिजन के माध्यम से लड़की को अस्पताल भिजवाया।

महिला पत्रकार अभी अस्थाई रूप से कहीं रह रही है। अकेले रहने के कारण ठीक से न खा पा रही न इलाज करा पा रही। पैसे की तंगी अलग है क्योंकि ठरकी संपादक ने सेलरी नहीं दी है। बहुत सारी बातें और कहानियाँ हैं जिस पर ज़रूरत पड़ी तो बाद में लिखूँगा।

फ़िलहाल तो लड़की को मदद की ज़रूरत है। मानसिक रूप से दहशत में है। महीने भर तक के लिए उसके रहने खाने की व्यवस्था करना सबसे प्राथमिक काम है। ncr में कोई अकेली रह रही लड़की अगर उसे अपने साथ रख ले महीने भर के लिए तो समस्या का फ़ौरी तौर पर निदान हो जाएगा। दुर्घटना के कारण उसे चलने खाने में परेशानी हो रही। केयर की सख़्त ज़रूरत है।

बाक़ी बाद में!

फ़ेसबुक से.

मूल पोस्ट और टिप्पणियाँ देखें-

https://www.facebook.com/100002252487400/posts/4361718357246537/?d=n



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

One comment on “ठरकी संपादक के जाल में फंसने से बची युवा महिला पत्रकार, सड़क हादसे में जान से मारने की कोशिश, बुरी तरह घायल”

  • MERA NAAM AMIT TOMAR HAI .. MAI GHAZIABAD MAI REHTA HU AUR ABHI REPUBLIC RBHARAT MAI WORKING NOIDA OFFICE MAI ..MAI ANJALI KA SATH DUNGA USKI LADAYI KO AAGE TAK LEKE JAUNGA…MAI USKI KYA HELP KAR SAKTA HU MUJHE BATA SAKTE HAI…
    8586095852 MY NO….

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code