उन्नाव पत्रकार पिटाई कांड में एफआईआर दर्ज, सीडीओ का नाम गायब

योगी राज के जंगल राज का ये भी नमूना है। जिस अफ़सर को पीटते हुए दुनिया भर के लोगों ने देखा, उसका नाम ही मुक़दमा से ग़ायब है।

देखें पत्रकार द्वारा दर्ज कराई गई एफआइआर-

पत्रकार रणविजय सिंह की प्रतिक्रिया-

अब बात खत्म। मोदीजी को थैंक यू बोलिये। उन्नाव में पत्रकार कृष्णा तिवारी को CDO के हाथों मार खाते हम सबने देखा. उसका वीडियो वायरल है.

लेकिन पत्रकार ने जो FIR दर्ज कराई उसमें CDO का नाम नहीं है. साथ ही घटना भी कुछ और है जिसमें स्कोर्पियो सवार लोगों ने मारपीट की है.

यानी आपने जो देखा वो हुआ ही नहीं… भूल जाइए.



 

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक करें- BWG-1

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code