16 वर्ष से सेवा दे रहे संजीव ने धोखा मिलने के बाद ज़ी मीडिया से दिया इस्तीफा, मोहित शर्मा प्रेम बने हिमाचल के नए प्रभारी

ज़ी मीडिया के हिमाचल प्रदेश प्रभारी संजीव शर्मा ने आखिर इस सोमवार को ज़ी से किनारा कर ही लिय. संजीव 1999 से इस चैनल के साथ जुड़े हुए थे. हिमाचल पंजाब और हरियाणा में उन्होंने अपनी रिपोर्टिंग की साख को बचाये रखा मगर ज़ी मीडिया के कुछ लोगों की मिलीभगत के चलते उनको इस लम्बे साथ को छोड़ना पड़ा. पिछले लगभग एक वर्ष से उन्हें हर प्रकार से तंग किया जा रहा था. यही नहीं उनको ज़ी मीडिया द्वारा इस्तीफ़ा देने के लिए मजबूर कर दिया गया. उनके प्रदेश प्रभारी होते हुए ही प्रबंधन ने शिमला में उनसे जूनियर रिपोर्टर को उनके ऊपर बिठा दिया. कई महीने तक उनका मानदेय रोके रखा गया. इस सबसे परेशान होकर संजीव ने ज़ी से इस्तीफा दे दिया. संजीव शर्मा के इस्तीफा देते ही प्रदेश की आधी से ज्यादा टीम ने भी अपने इस्तीफे जी मीडिया को भेज दिए. कुल मिलकर कुशल लोगों के छोड़ जाने के बाद अब हिमाचल में ज़ी मीडिया का क्षेत्रीय चैनल राम भरोसे ही हो गया है.

संजीव के इस्तीफे से कई महीने पहले ही ज़ी हिमाचल ने शिमला में संजीव को ब्यूरो प्रमुख से हटा कर मोहित प्रेम शर्मा को ये सीट सौंप दी थी. मोहित प्रेम शर्मा का रिपोर्टिंग का अनुभव बहुत ही कम है और संजीव को उनके अधीन काम करने के लिए दबाव डाला जा रहा था. मोहित प्रेम शर्मा साधना न्यूज में हिमाचल प्रभारी के रूप में काम किया और उनके नेतृत्व में ही साधना को हिमाचल का बुलेटन बंद कर देना पड़ा. उसके बाद उन्होंने ख़बरें अभी अभी का रुख किया, मगर इस चैनल का भी यही हाल हुआ. जल्द ही चैनल को हिमाचल से किनारा करना पड़ा. ततपश्चात मोहित ने डे एंड नाइट न्यूज में एंट्री मारी, मगर हिमाचल में अपनी जबरदस्त पकड़ बना चुका यह क्षेत्रीय चैनल एक वर्ष भी मोहित के भार को नहीं संभाल पाया. हिमाचल में मोहित प्रेम शर्मा के साथ ये काला इतिहास भी जुड़ चुका है कि जिस चैनल में इनकी एंट्री होती है उस चैनल को बंद ही होना पड़ता है. जब इनकी ज़ी में एंट्री हुई तब ये अफवाहों का बाजार एक बार फिर से गर्म हुआ था. आज संजीव के चैनल छोड़ जाने के बाद ज़ी का हाल भी कुछ ऐसा ही नजर आ रहा है. ज़ी हिमाचल अब तीसरे-चौथे नंबर के चैनल के रूप में देखा जा रहा है. ऐसे में अब सबकी नजरे इसी बात पर टिकी है कि चैनल कब हिमाचल से रुखसत होता है.



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Comments on “16 वर्ष से सेवा दे रहे संजीव ने धोखा मिलने के बाद ज़ी मीडिया से दिया इस्तीफा, मोहित शर्मा प्रेम बने हिमाचल के नए प्रभारी

  • आनंद शर्मा शिमला। says:

    संजीव शर्मा हिमाचल प्रदेश में इलैक्ट्रानिक मीडिया की शुरूआत करने वालों में से एक हैं और इस विधा के स्तंभ माने जाते हैं। जी मीडिया को उनकी कमी खलेगी।

    Reply
  • मोहित जैसे नौसिखिये का संजीव से कोई मुकाबला नहीं , जे न्यूज को पछताना होगा :zzz :zzz :zzz :zzz

    Reply
  • vishaal mahajan says:

    हैरानी तो इस बात की है कि मोहित जैसे औरतबाज भी रिपोर्टर हैं

    Reply
  • संजीव शर्मा, शिमला कि गन्दी पत्रकारिता का शिकार बना है और उनके साथ शिमला में किसने ये घटिया हरकत कि है ये शिमला के सारे पत्रकार जानते हैं | लेकिन ये नहीं भूलना चाहिए कि अगर तुम किसी कि पीठ में चुरा भोकोगे तो कोई और भी तुम्हारे लिए ऐसा ही कुछ तैयार कर रहा होगा |

    Reply
  • Rajeshwar thakur says:

    I know Mr Sanjeev sharma from very beginning when he started with the zee news. I started my career with amarujala at the same the same time…we have been meeting at different assignments…he is nice fellow and fine journalist.

    Reply
  • Rajeshwar thakur says:

    It is nature’s rotation and we should accept it with humour and pleasure… Let the next one be given a chance to prove his coin … Sanjeev is no doubt hard worker and a new door would be waiting for me soon…good luck for everyone ….there

    Reply
  • Rajeshwar thakur says:

    It is not appreciable to release such defamotry comments against mohit…mohit is not fault if he succeeded Mr Sanjeev… There should be healthy competition.. And despite of anything or any equation one journalist should respect the other one.. After it is the matter of fraternity… So pl respect each others and don’t put in such comments…

    Reply
  • मोहित जिस भी चैनल में गया, उस चैनल का बेडा गर्क ही हो गया ,जी का भी होना सुरु हो गया है |

    Reply
  • lalit pandey says:

    mohit ji ak bdiya vyakti hi nhi balki intelligent or hardworking journlist bhi hain.day night or abp punjabi,or p7 punjabi punjab mai nhi chal paye to iska matlab ye to nhi waha kaam krne wale logo ko kaam nhi aata.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *