टीवी मीडिया के बड़े नामों के सहारे पब्लिसिटी पाने को मजबूर जी ग्रुप!

आज सुबह जब नज़र अख़बार के इस इश्तेहार पर पड़ी तो मैं आवाक रह गया। एक पल को तो यक़ीन ही नहीं हुआ। फिर कुछ एक जगह फोन की घंटी बजाने पर विश्वसनीय सूत्रों से पता चला कि एक पूरी ‘विवादास्पद सीरीज’ निकाली गई है जिसमें अगले हफ्ते ‘सुधीर चौधरी’ जी का भी जिक्र होगा। …

चैनल एंकर भरोसे नहीं लेकिन चैनल का प्रचार एंकरों के भरोसे है! देखें

सुभाष चंद्रा वाले जी ग्रुप ने अपने नए न्यूज़ चैनल ज़ी हिंदुस्तान का एक अजब गजब विज्ञापन आज अखबारों में छपवाया है। लाखों रुपए के इस विज्ञापन का मकसद क्या है, ये समझ में नहीं आ रहा है। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

जी न्यूज के संपादक का दर्द- चैनल को वैसा क्यों समझा जाता है, जैसा वो दिखता है!

Gurdeep Singh Sappal : ज़ी न्यूज़ के सम्पादक बहुत तकलीफ़ में हैं। एक चिट्ठी लिखी है। उन्हें दर्द है कि ज़ी टीवी को वैसा क्यों समझा जाता है, जैसा वो दिखता है! वो कहना चाहते हैं कि उनका DNA है तो वही, जो सब समझ रहे हैं, लेकिन सब ग़लत समझ रहे हैं। कृपया हमें …

मौसम विज्ञानी ‘जी ग्रुप’ भी पलटी मारने को तैयार, राहुल गांधी को गई चिट्ठी पढ़ें

पीएम मोदीजी की खराब होती हवा और राहुल का चढ़ता सियासी पारा देख कई मौसम विज्ञानी पलटी मारने को तैयार होते दिख रहे हैं. इसी क्रम में ‘जी न्यूज’ ने भी सक्रियता दिखाई है. भाजपा और मोदी की भरपूर भक्ति दिखाने और कांग्रेस समेत सारे गैर-भाजपा पार्टियों को जमकर गरियाने वाले जी न्यूज को अब …

जी न्यूज के इस संपादक पर लगा बीस करोड़ रुपये मांगने का आरोप

पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया ने जी न्यूज के पंजाब, हरियाणा और हिमाचल प्रदेश के संपादक दिनेश शर्मा पर बीस करोड़ रुपये मांगने का सनसनीखेज आरोप लगाया है. मजीठिया का कहना है कि गत विधानसभा चुनाव के दौरान संपादक दिनेश शर्मा ने उनसे बीस करोड़ रुपये की मांग की थी. धनराशि देने …

डॉ सुभाष चंद्रा ने दी जगदीश चंद्रा को भावभीनी विदाई, अब पुरुषोत्तम वैष्णव देखेंगे काम

Zee ग्रुप से इस्तीफा देने वाले Zee मीडिया के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर जगदीश चंद्रा के सम्मान में कंपनी के चेयरमैन डॉ सुभाष चंद्रा ने शुक्रवार की देर रात दिल्ली स्थित अपने निवास पर एक डिनर का आयोजन किया जिसमें Zee मीडिया की पूरी टॉप लीडरशिप वहां मौजूद रही। कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

जी न्यूज का रिपोर्टर फोन पर अस्पताल मालिक को क्या दे रहा ‘नसीहत’, सुनें टेप

यूपी के कुशीनगर जिले के जी न्यूज़ के पत्रकार हैं महेश मिश्र. इनका एक आडियो वायरल हो रहा है. बताया जाता है कि कुशीनगर के नेबुआ नौरंगिया ब्लाक के पकड़ीयार बाज़ार स्थित सिद्धि विनायक हास्पिटल में एक सप्ताह पहले महेश मिश्र एंड टीम ने छापा मारा था. बाद में वहां कुछ मैनेज-वैनेज किए जाने की बात हुई और टीम लौट आई.

डीएनए से भास्कर समूह की छुट्टी, जी ग्रुप ने किया टेकओवर, जगदीश चंद्रा देखेंगे सारे एडिशन्स

Zee Group Takes over DNA Jaipur and Ahmedabad Editions… Zee ग्रुप का हुआ DNA जयपुर और अहमदाबाद अखबार… डीबी कोर्प लिमिटेड से ले लिया गया प्रकाशन का जिम्मा..

(जयपुर DNA का कार्यभार सँभालने के दौरान डीएनए सीईओ जगदीश चन्द्र केक काटते हुए. साथ में हैं डीएनए जयपुर एडिटर सिद्धार्थ बोस, भास्कर के स्टेट एडिटर LP पन्त.)

भव्य समारोह में सीईओ जगदीश चंद्रा ने लांच किया ‘जी हिंदुस्तान’ न्यूज चैनल

नोयडा में कल Zee मीडिया के नए नेशनल न्यूज़ चैनल ”जी हिंदुस्तान” की लॉन्चिंग हुई. “States make the Nation” की थीम पर आधारित ‘जी हिंदुस्तान’ को चैनल के सीईओ जगदीश चन्द्र ने केक काट कर लांच किया. नोएडा में आयोजित इस लॉन्चिंग सेरेमनी में जी चैनल्स के एडिटोरियल, सेल्स, फाइनेंस सहित सभी विभागों से जुड़े वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे.

Zee न्यूज़ पर अगले 24 घंटे ये कार्यक्रम दिखाए जाएंगे :)

देखते रहें ZEE NEWS… Zee न्यूज़ का अगले 24 घंटे का प्रसारण शेड्यूल इस प्रकार है…

NDTV के परम पवित्र मालिकों से तो लाख गुना बेहतर है ज़ी ग्रुप के मालिक डॉ सुभाष चन्द्रा!

Abhishek Upadhyay : ज़ी ग्रुप के मालिक डॉ सुभाष चन्द्रा राज्य सभा पहुंच गए। बीजेपी के समर्थन से। तो क्या हुआ? लॉयल्टी है तो खुलेआम है। इसमें छिपाना क्या! NDTV के परम पवित्र मालिकों से तो लाख गुना बेहतर है ये। आप 2G केस के चार्जशीटेड आरोपी की कंपनी से साझेदारी करो। आप विदेशों में अंधाधुंध कम्पनियां खोलकर भारत में उस कमाई का हिसाब ही न दो। आप आरबीआई के निर्देशों की ऐसी की तैसी कर दो। आपकी मरी हुई दुकान के शेयर आसमान छूती बोलियों में खरीद लिए जाएँ और कोई एजेंसी आपसे सवाल तक न पूछे? कि भइया! ये चमत्कार हुआ कैसे?

‘जी न्यूज’ के पक्ष में प्रदर्शन! सुधीर चौधरी हुए खुश, देखें तस्वीर

 

Sanjaya Kumar Singh : ज़ी न्यूज कार्यालय के बाहर इन युवकों ने ज़ी न्यूज की खबरों से एकजुटता दिखाते हुए प्रदर्शन किया और इसे जी न्यूज के रामनाथ गोयनका पुरस्कार विजेता, संपादक सुधीर चौघरी ने अपने फेसबुक पेज पर लगाया है। कैप्शन लिखा है:

राम रहीम की मिमिक्री करने पर जीटीवी चैनल और उसके प्रोड्यूसर व कलाकारों पर दर्ज हुआ केस

कैथल (हरियाणा) : डेरा सच्चा सौदा प्रेमियों की शिकायत पर थाना सिविल लाइन पुलिस ने जीटीवी, इस चैनल पर प्रसारित एक कार्यक्रम के कलाकारों और प्रोड्यूसर पर धार्मिक भावनाओं को भड़काने के आरोप में केस दर्ज किया है। डेरा सच्चा सौदा समर्थक गांव ग्योंग निवासी दलशेर सिंह और गांव नौच निवासी उदय सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि 27 दिसंबर को जीटीवी पर प्रसारित जश्ने उम्मीद कार्यक्रम में बाबा राम रहीम की छवि को खराब करने का प्रयास किया गया। इससे डेरे से जुड़ी संगत की भावनाओं को ठेस पहुंची है।

डेस्क वाला स्ट्रिंगरों को फोन कर बोलता है कि पांच स्पेशल खबरें भेजो तो उसमें से एक चलेगी

श्रीमान संपादक महोदय
भड़ास 4 मीडिया
विषय : जी पुरवईया बिहार में संकट

जी ग्रुप का चैनल जी पुरवईया में शिव पूजन झा संपादक को हटा कर नया चेहरा अनुभव खंडूरी को लाया गया. अनुभव खंडूरी ने आते ही अपना तेवर दिखाया और जिलों से स्ट्रिंगर की खबर लगने लगी. इस कारण स्ट्रिंगर में उत्साह दिखा और खबर का फ्लो भी बढ़ा. खंडूरी सर ने एक मीटिंग बुलाया जिला के स्ट्रिंगरों का. उसमें कहा कि खबर चलेगी, आप सभी मन लगा कर काम करें. उन्होंने कहा कि पहले क्या हुआ, उससे मतलब नहीं है.

जिसने किया महिला टीचर का सम्मान तार-तार, उसे मिला रामनाथ गोयनका सम्मान

Vineet Kumar : जी न्यूज के दागदार संपादक सुधीर चौधरी को 16 दिसंबर 2012 में हुए दिल्ली गैंगरेप की पीडिता के दोस्त का इंटरव्यू करने के लिए साल 2013 का रामनाथ गोयनका सम्मान दिया गया. ये सम्मान सुधीर चौधरी के उस पत्रकारिता को धो-पोंछकर पवित्र छवि पेश करती है जिसके बारे में जानने के बाद किसी का भी माथा शर्म से झुक जाएगा. पहली तस्वीर में आप जिस महिला के कपड़े फाड़ दिए जाने से लेकर दरिंदगी के साथ घसीटने,बाल नोचने के दृश्य दे रहे हैं, ये शिक्षक उमा खुराना है. इन पर साल 2007 में लाइव इंडिया चैनल ने स्टिंग ऑपरेशन किया और लोगों को बताया कि ये महिला शिक्षक जैसे पेशे में होकर छात्राओं से जिस्मफरोशी का धंधा करवाती है. चैनल ने इस पर लगातार खबरें प्रसारित की.

धंधेबाज और चरित्रहीन जी न्यूज (एमपी-सीजी) वालों ने एक इमानदार रिपोर्टर को यूं बेइज्जत कर निकाला

घटना छत्तीसगढ़ के अंबिकापुर सरगुजा की है. यहां मनीष सोनी नामक पत्रकार कई वर्षों से जी न्यूज एमपी-सीजी से जुड़े हुए हैं. आज उन्होंने अचानक देखा कि चैनल स्क्रीन पर उनका नाम लिखकर यह चलाया जा रहा है कि मनीष सोनी को चैनल से निकाल दिया गया है, उनसे कोई किसी प्रकार का संबंध अपने जोखिम पर रखे. ऐसी ही कुछ लाइनें बदल बदल कर लगातार चल रही थी. मनीष सोनी को यकीन न हुआ कि आखिर उनके साथ ऐसा क्यों किया जा रहा है. उन्होंने न तो दलाली की है, न बेइमानी की है, न चोरी की है, न अपराधी हैं, तो चैनल वाले ये सलूक क्यों कर रहे हैं.

यूपी में जी मीडिया और राजस्थान में समाचार प्लस के संवाददाता मांग रहे पैसे (सुनें टेप)

: जी मीडिया का संवाददाता बाबा से मांग रहा है पांच लाख रुपये : समाचार प्लस राजस्थान के संवाददाता ने स्कूल संचालक से मांगे पैसे : इलाहबाद के पास है कौशाम्बी. यहां कुछ ऐसे लोग हैं जो मीडिया को बेच रहे हैं. कौशाम्बी में पत्रकार हैं अजय कुमार जो कथित तौर पर जी न्यूज़ में काम कर रहे हैं. इन महाशय ने तीन कैमरामैन भी रख लिया है. ये पूरा गिरोह मिलकर खबर के चलाने रोकने के नाम पर मोटी रकम की डिमांड कर रहे हैं. एक बाबा से रिपोर्टर अजय कुमार और उनके एक सहयोगी की बातचीत का आडियो वायरल हुआ है. इसमें अजय के सहयोगी धारा यादव ने बाबा से खबर न चलवाने के नाम पर जी मीडिया को विज्ञापन देने के लिए 500000 रुपये की मांग की. अजय कुमार पर शराब के नशे में बिजली विभाग के जेई से मारपीट की मामला मंझनपुर कोतवाली में दर्ज हो चुका है. टेप सुनने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें: https://www.youtube.com/watch?v=bUP6J2nn4_Y

16 वर्ष से सेवा दे रहे संजीव ने धोखा मिलने के बाद ज़ी मीडिया से दिया इस्तीफा, मोहित शर्मा प्रेम बने हिमाचल के नए प्रभारी

ज़ी मीडिया के हिमाचल प्रदेश प्रभारी संजीव शर्मा ने आखिर इस सोमवार को ज़ी से किनारा कर ही लिय. संजीव 1999 से इस चैनल के साथ जुड़े हुए थे. हिमाचल पंजाब और हरियाणा में उन्होंने अपनी रिपोर्टिंग की साख को बचाये रखा मगर ज़ी मीडिया के कुछ लोगों की मिलीभगत के चलते उनको इस लम्बे साथ को छोड़ना पड़ा. पिछले लगभग एक वर्ष से उन्हें हर प्रकार से तंग किया जा रहा था. यही नहीं उनको ज़ी मीडिया द्वारा इस्तीफ़ा देने के लिए मजबूर कर दिया गया. उनके प्रदेश प्रभारी होते हुए ही प्रबंधन ने शिमला में उनसे जूनियर रिपोर्टर को उनके ऊपर बिठा दिया. कई महीने तक उनका मानदेय रोके रखा गया. इस सबसे परेशान होकर संजीव ने ज़ी से इस्तीफा दे दिया. संजीव शर्मा के इस्तीफा देते ही प्रदेश की आधी से ज्यादा टीम ने भी अपने इस्तीफे जी मीडिया को भेज दिए. कुल मिलकर कुशल लोगों के छोड़ जाने के बाद अब हिमाचल में ज़ी मीडिया का क्षेत्रीय चैनल राम भरोसे ही हो गया है.

complaint to NBA against Zee News for spreading communal hatred

Date: 2nd august 2015

To

News Broadcaster Association    
Reg. Off.: Juris House Ground Floor
22, Inder Enclave, Paschim Vihar
New Delhi 110087          
New Delhi                                                                                                                                                                            

Sir,       

Subject  :  Complaint against zee news who is spreading communalism and hatred though news channel

जी पुरवइया कथा : कांप्रोमाइज न करने पर प्रताड़ित की जा रही महिला पत्रकार ने खोला कच्चा चिट्ठा, दिया इस्तीफा (पढ़ें पूरा पत्र)

नमस्कार सभी को…

अब मैं ज़ी पुरवईया की हिस्सा नहीं हूं… इसलिए कुछ बातें बताना बेहद ज़रूरी है… आप सभी को ये लग रहा होगा कि अचानक आख़िर मैंने क्योँ रिज़ाइन कर दिया… मुझे पता है संपादक महोदय ठीक उसी तरह कहेंगे जैसे अभिमन्यु सर के इस्तीफे के बाद कहा गया था कि मैंने उसे निकाला है… इसलिए मैं ख़ुद उस इस्तीफ़े की कॅापी इस मेल में लगा रही हूँ… ताकि लोगों को सच्चाई भी पता चले और बहुरुपिया संपादक का काला और घिनौना चेहरा भी सामने आए… मेरे छोड़ने का कारण नीचे दिए गए त्याग पत्र की कापी में उल्लखित है….

जी संगम : मैडम को खुश करने के लिए एक और पत्रकार की नौकरी खा गए वाशिंद्र मिश्रा

जी मीडिया का एक और चैनल एक बार फिर अपनी काली करतूतों की वजह से सुर्खियों में है। जी संगम के एडिटर वाशिंद्र मिश्रा बड़ी नैतिकता की बात करते हैं लेकिन वह अपने चेलो के साथ मिलकर गरीब पत्रकार की नौकरी खा जाते हैं। वह न्यूज रूम की एक मैडम को खुश करने के लिए एक और परिवार पर गाज गिरा गए।

ज़ी मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ से एक साथ 15 लोगों के जबरन इस्तीफे

ज़ी मध्यप्रदेश – छत्तीसगढ़ के चैनल हेड दिलीप तिवारी ने चैनल के कुछ रिपोर्टर सहित इनपुट और आउटपुट के कुल 15 लोगों से जबरिया इस्तीफा ले लिया है।

सुधीर चौधरी ने कुमार विश्वास को ‘कामुक कविराज’ कहा तो कुमार ने सुधीर को ‘तिहाड़ी’ करार दिया!

ट्विटर पर जी न्यूज के संपादक सुधीर चौधरी और कवि व ‘आप’ के नेता कुमार विश्वास के बीच जबरदस्त आरोप-प्रत्यारोप का दौर चल रहा है. सुधीर चौधरी ने कुमार विश्वास को एक ट्वीट में ‘कामुक कविराज’ कहा तो कुमार विश्वास ने सुधीर चौधरी को ‘तिहाड़ी’ करार देते हुए पूछा कि उन्हें उनके घर के किस सदस्य ने कामुक जैसी गोपनीय जानकारी दी है. दोनों के आरोप-प्रत्यारोप संबंधी ट्वीट का स्क्रीनशाट यूं है…

चौधरी साब ने बजा दिया बाजा : छठें नंबर का चैनल हुआ ‘जी न्यूज’

एक अच्छा खासा न्यूज चैनल नए जमाने की धंधेबाज पत्रकारिता की सोहबत में पड़ा और देखते ही देखते पतन के पराकाष्ठा तक पहुंच गया. जिस जी न्यूज चैनल को लोग नंबर वन न्यूज चैनल की तरह ट्रीट करते थे और इसे नंबर वन न्यूज चैनल आजतक का प्रतिद्वंद्वी मानते थे, वह जी न्यूज अब छठें नंबर का न्यूज चैनल बन चुका है. इस सारे पतन के पीछे सिर्फ एक शख्स का नाम लिया जा सकता है और वह हैं सुधीर चौधरी. चौधरी साहब एजेंडा पत्रकारिता यानि सुपारी पत्रकारिता यानि रंगदारी पत्रकारिता के बादशाह माने जाते हैं. कभी जिंदल ग्रुप तो कभी कुमार विश्वास. कभी केजरीवाल तो कभी कोई अन्य.

जी मीडिया के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने दी केजरीवाल को नसीहत

जी मीडिया के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है, ‘सीएम अरविंद केजरीवाल को लगता है कि मीडिया किसी को भी बनाऔर बर्बाद कर सकता है पर ये गलत है, मैं उनसे ये रिक्वेस्ट करता हूं कि वह न सिर्फ जी बल्कि किसी भी मीडिया से अपने दुश्मन जैसा बर्ताव नहीं करें.’

अपने गिरेबान में झांकने की बजाय सुभाष चंद्रा ने केजरीवाल के खिलाफ निकाली भड़ास

सुपारी पत्रकारिता को संगठित तरीके से अंजाम देने वाले सुभाष चंद्रा बजाय अपनी गिरेबान में झांकने के, दूसरों को ही समझाने पर उतारू हो जाते हैं. अबकी उनके निशाने पर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल हैं. जी मीडिया पर बार-बार आम आदमी पार्टी को बदनाम करने का आरोप लगाने वाले दिल्ली के सीएम केजरीवाल के खिलाफ भड़ास निकालते हुए जी मीडिया के चेयरमैन सुभाष चंद्रा ने अपने ट्विटर अकाउंट पर ट्विट कर लिखा है, ‘सीएम केजरीवाल को लगता है कि मीडिया किसी को भी बना और बर्बाद कर सकता है पर ये गलत है, मैं उनसे ये रिक्वेस्ट करता हूं कि वह न सिर्फ जी बल्कि किसी भी मीडिया से अपने दुश्मन जैसा बर्ताव नहीं करें.

कुमार विश्वास के पक्ष में ट्वीट करना सोनू निगम को पड़ा महंगा, जी ग्रुप ने किया बैन!

: सोनू निगम के गाने नहीं खरीदेगा ज़ी ग्रुप : ज़ी न्यूज़ की झूठी खबर के खिलाफ सोनू निगम के एक सच्चे ट्वीट का नतीजा :  27 अप्रैल को मशहूर बॉलीवुड गायक सोनू निगम ने एक वीडियो ट्वीट किया, जिसमें उन्होंने ज़ी न्यूज़ की बेईमानी का साफ़तौर पर खुलासा कर दिया। हुआ यूं कि ज़ी न्यूज़ ने अपने चैनल पर बार-बार दिखाया था कि गजेन्द्र की मृत्यु के समय आप नेता कुमार विश्वास ने मंच से ‘लटक गया’ शब्द बोला था। सोनू निगम ने जो वीडियो ट्वीट किया, उसमें साफ़ दिख रहा है कि ‘लटक गया’ शब्द कुमार विश्वास द्वारा नहीं बोला गया था, बल्कि वह आवाज़ बाहर से भरी गई थी। इसका उद्देश्य निश्चित रूप से कुमार को बदनाम करना था।

कुमार विश्वास के पक्ष में वीडियो ट्वीट पर ज़ी ने रद्द किए ‘Sonu Nigam songs’ के छह करार

दिल्ली में जंतर मंतर पर पिछले दिनो दौसा के किसान गजेंद्र सिंह कल्याणवत ने पेड़ पर फांसी लगा ली थी। कई दिनो तक वह घटनाक्रम मीडिया की सुर्खियों में रहा। अब ‘आप’ नेता कुमार विश्वास के बारे में ‘जी न्यूज’ पर प्रसारित एक झूठी खबर पर मशहूर बॉलीवुड गायक सोनू निगम के एक वीडियो ट्वीट ने मामले को एक बार फिर गरमा दिया है। फेसबुक पर टिप्पणियां आ रही हैं कि ‘आम आदमी पार्टी और कुमार विश्वास के बारे में भारत के मशहूर गायक सोनू निगम ने भी सच का साथ दिया और दलाल मीडिया ज़ी न्यूज़ को आईना दिखाया।’

जी न्यूज में तुगलकी फरमान, मोबाइल फोन के साथ आफिस के अंदर नहीं घुस सकेंगे!

खबर है कि जी न्यूज प्रबंधन ने एक तुगलकी फरमान जारी किया है. इसके मुताबिक अब मीडियाकर्मी आफिस के अंदर मोबाइल फोन लेकर नहीं घुस सकेंगे. कहा जा रहा है कि कुछ लोग मोबाइल फोन के जरिए अंदर की सूचनाएं बाहर कर रहे थे. मुखबिरी और लीक से परेशान जी प्रबंधन ने मोबाइल को दूर रखने का आदेश जारी कर दिया.

ज़ी के CEO पहुंचे मप्र के माइनिंग माफिया के कॉलेज में

बीजेपी के नेताओं ने माइनिंग माफिया और व्यापम घोटाले के सरगना सुधीर शर्मा से भले ही कन्नी काट ली हो लेकिन बिज़नेस बढ़ाने के चक्कर में ज़ी म.प्र. के नए हेड दिलीप तिवारी ने वो कर दिया जो किसी ने नहीं किया। तिवारी ज़ी न्यूज़ के ceo आशीष पंडित को सुधीर शर्मा के VNS कॉलेज के कार्निवाल में मुख्य अतिथि बनाकर ले गए। बेचारे ceo को माइनिंग और व्यापम माफिया सुधीर शर्मा के बारे में क्या पता हो।