एंकर अर्चना शर्मा के निष्कासन पर स्पीकर सुमित्रा महाजन की खामोशी चिंताजनक

जी हाँ, ये सच है कि पिछले एक अरसे से लोक सभा टीवी की एंकर अर्चना शर्मा चैनल में महिला कर्मचारियों की सुरक्षा के मुद्दे को लेकर अपनी बात रखती रही हैं। कभी चैनल की मुख्य कार्यकारी एवं मुख्य  संपादक सीमा गुप्ता के समकक्ष तो कभी उनके उच्चाधिकारी लोक सभा सचिव श्रीमान भल्ला जी  के समक्ष, लेकिन इस समस्या को बताने के बाद भी जमीन पर कुछ नहीं बदला,  बदस्तूर लोक सभा टीवी में महिलाकर्मियों की ड्यूटी देर रात तक बिना किसी सुरक्षा के लगाईं जा रही थी और इस अहम मुद्दे की लिखित शिकायत करने का खामियाज़ा अर्चना शर्मा को भुगतना पड़ा। उन्हें 28 जुलाई को बुलाकर कहा गया कि आप कल से ऑफिस न आयें। सीमा जी ने आपका कार्यकाल नहीं बढ़ाया है। 

ये सुनकर अर्चना शर्मा ने पूछा कि आप मुझे मौखिक कैसे बोल सकती हैं? कुछ लिखित में तो दीजिये तो जवाब मिला कि मुझे यही कहा गया है। अब आपको संस्थान में रखने का अंतिम निर्णय स्पीकर ही लेंगी। लिहाज़ा अर्चना शर्मा अपनी बात रखने स्पीकर के समक्ष पहुंचीं। इस वक़्त संसद का मॉनसून  सत्र चल रहा  हैं। इसलिए स्पीकर से मिलना इतना आसान नहीं, ये बात अर्चना शर्मा जानती थीं। इसलिए अर्चना ने उनसे मिलने की कोशिशें जारी रखीं और ये कोशिश रंग लाई। 

स्पीकर अर्चना शर्मा समेत लोक सभा टीवी की कई महिला कर्मचारियों से अवकाश (रविवार ) के दिन मिलीं। अर्चना ने स्पीकर को रात में काम करने वाली महिलाकर्मी की  सुरक्षा से जुड़े कुछ ख़ास दस्तावेज़ व अपने कार्यकाल को सीमा जी द्वारा नहीं बढ़ाने के कुछ कारण भी बताए। स्पीकर सुमित्रा महाजन ने कहा कि इस विषय पर तुरंत ध्यान दिया जाएगा और साथ ही ये भी आश्वासन दिया कि लोक सभा टीवी में भी सब कुछ ठीक हो जाएगा।  सभी खुश थे और अर्चना शर्मा भी कि शायद स्पीकर उनके कार्यकाल को बढ़ाने के लिए लोक सभा टीवी की प्रमुख सीमा गुप्ता को जरूर  लिखेंगी। 

दिनाँक 4 /8 /15  को महाजन ने लोक सभा की बेव साइट पर लोक सभा टीवी की महिला कर्मचारियों के देर रात में घर जाने की सुरक्षा को लेकर प्रेस रिलीज़ जारी करा दी। इस प्रेस रिलीज़ में महिलाकर्मीयों की सुरक्षा के लिए ख़ास कदम उठाने के निर्देश दिए गए लेकिन दूसरी तरफ 5 अगस्त 2015 को अर्चना शर्मा को टर्मिनेशन लेटर भी थमा दिया गया। 

ऐसे में सवाल ये उठते हैं कि अगर एंकर अर्चना शर्मा द्वारा उठाया जा रहा मुद्दा गलत है  तो स्पीकर ने तुरंत संज्ञान लेते हुए प्रेस रिलीज़ क्यों जारी कराई? क्यों अर्चना के कार्यकाल को बढ़ाने के मामले में स्पीकर ने अपनी भूमिका शून्य रखी ? क्या उसका एक कारण सीमा जी की ऊँची पहुँच थी ? जैसाकि  हाल ही में देखने को मिला था, सीमा अपने अधीनस्थ अधिकारी धीरज सिह को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली और राज्यवर्धन सिंह राठौर की धमकी दी थी, वो भी लिखित में।

गौर करने वाली बात है कि अर्चना शर्मा के अप्रेजल फॉर्म में उनके रिपोर्टिंग अधिकारियों द्वारा उनके कार्य प्रदर्शन को बेहतर मानने के बाद भी उनका कार्यकाल क्यों नहीं बढ़ाया गया ? क्या अर्चना शर्मा के टर्मिनेशन के बाद अब सीमा गुप्ता ही लोक सभा टीवी में सब कुछ हैं, वो जो कहेंगी, वही होगा, उनकी तानाशाही पर लगाम लगाने वाला कोई नहीं? पत्रकारिता के सबसे प्रतिष्ठित पुरस्कार “राम नाथ गोयनका ” और चार  बार लाड़ली मीडिया अवॉर्ड पाने वाली अर्चना शर्मा के अंदर लोक सभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को क्योँ कोई काबिलियत नहीं दिखाई दी ? क्या अर्चना शर्मा ने इतने अहम मुद्दे को उठा कर गलत किया जिसकी कीमत उन्हें अपनी नौकरी देकर चुकानी पड़ी? जिस संस्थान को  अर्चना ने अपने जीवन के बहुमूल्य 9 साल दिए, उस संस्थान ने उन्हें निकालने में 9 मिनट भी नहीं लगाए। 

फिलहाल अर्चना शर्मा लोक सभा टीवी में नहीं हैं  लेकिन महिला सुरक्षा की उनकी  ये मुहिम  रंग लायी, जिसके फलस्वरूप पहली बार किसी लोक सभा अध्यक्ष को महिला सुरक्षा को लेकर लोक सभा टीवी के लिए नियम कानून बनाने को बाध्य होना पड़ा। ज़रा सोचिये। 

एक टीवी पत्रकार द्वारा प्रेषित पत्र पर आधारित

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas WhatsApp News Alert Service

 

Comments on “एंकर अर्चना शर्मा के निष्कासन पर स्पीकर सुमित्रा महाजन की खामोशी चिंताजनक

  • bhai itna bawaal kyo hay archna sharma key mudday par..jab bade bade channel per rato rat 100-100 log nikal diya jata hay tab kuch nahi..waise b kisi channel ko doobone kay liye aise 2-4 log kaafi hay..m regular viewer of this channel..last 4 month me channel me accha badlaav acchay prog dekhney ko mil reha thai..kuch kaamchor log hay jo kaam bhi nhi karna chaahte or moti tankhaa salo saal se lay rahe hy..inhey kon bardast karega. kaabil hongi to apney dum par kisi bade channel me kaam paa jayenge..isme kya harz hy

    Reply
  • Mujhe samajh nahi aa raha hai ke jo Seema Jee k chamche hai wo Jugad, Seting ki paribhasha bata rahe hai… Ya ye kahe ki Chamchagiri poori tasalli ke saath kar rahe hai to galat na hoga.. Ye bhi ho sakta hai k wo apan likha comment bhi seema jee ko dikhate ho, kyoki yahi sab karke to naukari bachni hai… Otherwise kun au kitna kaam kar raha hai ye sabko pata hai… Dalal patrakaro ki jamat banta ja raha hai LSTV, kuch ke naam samne aaye hai bhadas par, koi shak ho to jarur padhe aur unke comment bhi…. sab Samajh aa jayega patrakaro ka asli chehra…

    https://bhadas4media.com/vividh/4704-loksabhatv-sabhasad-jhangirabad-anurag#comment-4879

    https://bhadas4media.com/vividh/4704-loksabhatv-sabhasad-jhangirabad-anurag#comment-5568

    Reply
  • ls tv journalist says:

    अर्चना शर्मा के पीछे जल्द ही एक बड़े चैनल में ज्वाइन करने वाली हैं। अर्चना शर्मा के पीछे भी ऊंची पहुँच है। यूँ ही कोई 9 साल की पारी नहीं खेल जाता एक ही चैनल में। ना ही ट्रेनी से शुरुआत कर सीनियर एंकर बन सकता है। समस्या ये है कि लोकसभा टीवी में यूपीए के दौर में नियुक्त किये गए वामपंथी और काकांग्रेसीयोन की पूरी फ़ौज है। जो काम की जगह राजनीति करके अपना कॉन्ट्रेक्ट बढ़ाना चाहते हैं। जिसके लिए ये डराने धमकाने, ऊंची पहुँच का रौब दिखाने तक जाने को तैयार हैं। लोकसभा अध्यक्ष से मिलकर सीईओ सीमा गुप्ता की शिकायत करना भी उसी रणनीति का हिस्सा था। लेकिन इसबा दांव उलटा पड़ गया। इन लोगों ने लोकसभा टीवी को राजनीति का अखाड़ा बना दिया है। सीईओ सीमा गुप्ता को बेहद सावधान रहने की ज़रूरत है क्योंकि ऐसे लोगों की संख्या यहां बहुत ज़्यादा है जिनकी कथनी और करनी में अंतर है। अभी तो बस शुरुआत है, इसके बाद एक और बड़े कारनामे की तैयारी है।

    Reply
  • अर्चना शर्मा एक समझदार और गंभीर महिला हैं उन्होंने ये रिस्क सोच समझ कर ही उठाया होगा सुनने में तो ये भी आ रहा हैं की अर्चना शर्मा की इस मुहिम की गूँज प्रधानमंत्री तक भी पहुंची हैं और वो स्पीकर के इस कदम से नाराज़ भी हैं
    हो सकता हैं की अर्चना शर्मा आने वाले दिनों में बीजेपी में एक बड़े ओहदे के साथ नजर आए

    Reply
  • सीमा गुप्ता ऐसी पहली औरत हैं जो लोक सभा टीवी की मालिक बनी हैं और जिसको निकाला वो भी एक अौरत और उस औरत ने भी इस अौरत की शिकायत एक दूसरी अौरत से की फिर इन दोनों अौरतों ने उस अौरत को निकाल दिया और अगर कोसने की बात आये तो ये सारा दोष हम पुरुषों पर डाल देती हैं वाकई अौरत ही अौरत की दुश्मन हैं पता नहीं क्या सोच कर सीमा गुप्ता को सीओ बना दिया कभी अपनी अबतक की जिंदगी में किसी चैनल को हेड किया हैं जो यहाँ सी ओ बन गई सब सैटिंग का कमाल हैं भाई

    Reply
  • अर्चना शर्मा ने नौ सालों से भी ज्यादा का वक़्त लोक सभा टीवी में बिताया हैं और लगभग 14 सालों से पत्रकारिता में हैं औरतों की बात करने वाली अर्चना शर्मा को अपनी बात रखने पर निकाल देने के बाद अर्चना को बीजेपी को नहीं कांग्रेेस को ज्वाइन करना चाहिए

    Reply
  • ls tv journalist says:

    शीतल जी झूठ तो ज़रा सोचकर बोला कीजिये। अर्चना शर्मा अपनी उम्र 30 से ज़्यादा बताती नहीं हैं। अगर वो पिछले 14 साल से पत्रकारिता में हैं तो इसका मतलब ये हुआ कि उन्होंने 16 साल से भी कम उम्र में पत्रकारिता शुरू कर दी थी। वैसे लोकसभा टीवी से पहले कहाँ काम करती थी वो ये भी बता दीजिये।गुमनाम से प्रोडक्शन हाउस के झूठे सर्टिफिकेट और कथित फ्री लान्सिंग का एक्सपीरियेन्स दिखाकर लोकसभा टीवी में एंकर बन जाना और 9 साल तक नौकरी करना काफी नहीं है क्या? या फिर आप ये बता दीजिये कि अर्चना जी इसके पहले किस राष्ट्रीय चैनल में एंकर के रूप में काम कर रही थी? कहीं नहीं….लोकसभा टीवी में पिछले दरवाज़े से घुसने वाले लोग ही सीईओ सीमा गुप्ता को निशाना बना रहे हैं।

    Reply
  • हा हा हा खिसियानी बिल्ली खंम्बा नोचे क्यो भई ls tv journalist अर्चना शर्मा अगर ३० से भ काम उम्र बताती हैं तो उनकी शक्ल को देख कर गलत भी नहीं लगेगा देखा हैं उनको टीवी पर एंकरिंग करते हुए सही कहते हो अर्चना शर्मा को तो किसी भी चैंनल में भी नौकरी मिल जायेगी लोक सभा टीवी से जो गया उनमें से ज्यादातर सभी अच्छी जगह हैं अब वो अपना सोचें जो सीमा गुप्ता की चापलूसी करने के लिए मज़बूर हैं क्योकि लोक सभा टीवी के बाद तो सबका बुरा हाल ही होगा क्योकि बहार तो काम भी करना पड़ता हैं सिर्फ चापलूसी से तो काम नहीं चलेगा लेकिन अभी तो लोक सभा टीवी में और भी बड़ी ख़ूबसूरत एंकर और नामी गिरामी भी हैं उनको भी टारगेट कर रही हैं क्या वो जैसे अर्चना शर्मा को योजना बनाकर निकाला अब तुम ही बता दो ls tv journalist अगला नंबर किसका हैं भाई ? हर सुन्दर अौरत से सीमा गुप्ता को जलन क्यो होने लगती हैं?

    Reply
  • हा हा हा खिसियानी बिल्ली खंम्बा नोचे क्यो भई ls tv journalist अर्चना शर्मा अगर ३० से भ काम उम्र बताती हैं तो उनकी शक्ल को देख कर गलत भी नहीं लगेगा देखा हैं उनको टीवी पर एंकरिंग करते हुए सही कहते हो अर्चना शर्मा को तो किसी भी चैंनल में भी नौकरी मिल जायेगी लोक सभा टीवी से जो गया उनमें से ज्यादातर सभी अच्छी जगह हैं अब वो अपना सोचें जो सीमा गुप्ता की चापलूसी करने के लिए मज़बूर हैं क्योकि लोक सभा टीवी के बाद तो सबका बुरा हाल ही होगा क्योकि बहार तो काम भी करना पड़ता हैं सिर्फ चापलूसी से तो काम नहीं चलेगा लेकिन अभी तो लोक सभा टीवी में और भी बड़ी ख़ूबसूरत एंकर और नामी गिरामी भी हैं उनको भी टारगेट कर रही हैं क्या वो जैसे अर्चना शर्मा को योजना बनाकर निकाला अब तुम ही बता दो ls tv journalist अगला नंबर किसका हैं भाई ? हर सुन्दर अौरत से सीमा गुप्ता को जलन क्यो होने लगती हैं?

    Reply
  • Akhil kumaar says:

    भैया जितने भी लोक सभा टीवी के सीओ आएं हैं सबने इसे अपनी दूकान बना लिया हैं अब सीमा गुप्ता को ही देख लो शक्ल न सूरत और अक्ल की बात तो दूर दूर तक करना भी मत मैडम एंकरिंग में उतर रहीं हैं पहले एंकरिंग करना सीख तो लें न तो सव्वाल पूछना आता हैं न बोलना क्यो ये पागलो वाली सलाह भी उनको किसी चापलूस ने ही दी होगी सुना है उस एपिसोड को सीमा गुप्ता ने गायब ही कर दिया हैं ऑफिस से अरे सीमा जी अपना कद तो बना लीजिये दूसरों की आलोचना करने से पहले

    Reply
  • सीमा जी के बारे में भड़ास का ये लिंक पढ़ने के बाद तो ये पक्का यकीन हो गया है कि सीमा जी को कुछ आता जाता नहीं है, सिर्फ जुगाड़ और सेटिंग के दम पर सीईओ बनीं हैं. क्योकिं उस लिस्ट में आधे से ज्यादे लोग उनसे बेहतर अनुभव और चैनल चलाने का तजुर्बा रखते हैं.. ऐसे में अगर लोकसभा टीवी का बेड़ा गर्क हो रहा हो तो सबसे ज्यादे जिम्मेदारी और जवाबदेही सीमा जी की ही बनती है..चारो ओर थू-थू हो रही है सीमा जी … लोगों पर अपनी भड़ास निकालने की बजाय काम सीख कर लाज बचाईये अन्यथा आपका जाना तय है…

    Reply
  • ls tv journalist says:

    लोकसभा टीवी, दूरदर्शन, राज्यसभा टीवी , आकाशवाणी इन सभी जगह सभी लोग जुगाड़ और सेटिंग के बल पर ही बैठे हैं। इसमें नया क्या है? जुगाड़ टेक्नोलॉजी का नाम ही तो मीडिया है। इसके पहले जो साहब थे वो क से दूध के धुले थे? वो भी बिहार के किसी लोकल से चैनल में छोटा मोटा काम करते थे। कांग्रेस के आशीर्वाद से यहां तक पहुँच गए। और अभी जो लोग अंदर सीमा जी के खिलाफ साजिश रच रहे हैं वो क्या अपनी अनुभव और योग्यता के दम पर आए हैं? वो भी तो पिछले दरवाज़े से घुसे थे लोकसभा टीवी में। अब मुंह मत खुलवाईए वरना नाम लेने लगा तो यहाँ बहुत लोगों के नाम खुल जाएंगे फिर मत कहना अंदर की बात क्यों बाहर कर दी?

    Reply
  • लोकसभा टीवी में एक बहुत बड़ा गुट है, जो सीमा जी को हटाने के लिए साजिश कर रहा है। ये सब उसी साजिश का एक हिस्सा है। सीमा जी एक योग्य और प्रतिभाशाली पत्रकार हैं लेकिन एक महिला को इस पद पर देखकर कुछ लोगों को परेशानी हो रही है। ये वो लोग हैं जिन्होंने 9 साल से लोकसभा टीवी का बेडा गर्क किया है और आगे भी ऐसा ही चाहते हैं। ये लोग लोकसभा स्पीकर तक सीमा जी की शिकायत कर आए हैं। और आगे इस मामले को बड़ा बनाने की कोशिश कर रहे हैं। जो सामने आए हैं वो तो मोहरें हैं, असली खिलाड़ी तो छिपकर चालें चल रहे हैं।

    Reply
  • Lagta hai baat bahut andar tak chubh gayi hai, ye aawaje Seema Jee ke chamcho ki hi ho sakti hai,,,, Kripya karke sabhi ka naam bataye aur apna bhi wo bhi asli wala… Umeed hai k jawab nahi aayega ya aayega to naam badalkar… Bhadas par likhne ki bajaye channel me kuch kaam bhi kar ke upkar karo channel par, aur apni salary bhi justice karo…

    Reply
  • महाश्वेता जी अर्चना जी ने तो अपना पूरा ज़ोर लगा दिया, तमाम पुरुस्कारों की दुहाई भी दे ली, अपनी ऊंची पहुँच और शिकायत की धमकी भी दी लेकिन वो अपना कॉन्ट्रेक्ट बढ़वा नहीं पाई। इससे अच्छा होता वो अपने काम पर ध्यान देतीं एक अच्छी कॉपी लिखकर ही सीमा जी को दिखा देती, शायद उनकी योग्यता के आधार पर उन्हें प्रोडक्शन असिस्टेंट का नया कॉन्ट्रेक्ट मिल जाता।आप लोगों की परेशानी ये है कि आप लोगों को काम तो आता नहीं, सीखना भी नहीं चाहते, बस ये चाहते हैं कि दिन भर स्टूडियो में बैठकर खुद को बड़ा पत्रकार बताते रहें। याद है ना आप लो 15 से 20 हज़ार की सैलरी परप्रोडक्शन असिस्टेंट और ट्रेनी के रूप में भर्ती हुए थे, फिर रातों रात सीनियर एंकर और प्रोड्यूसर के रूप में क्यों और कैसे प्रमोट कर दिए गए? जब आपके सीखने का वक्त था उस वक्त आपने ऊंची पहुँच का इस्तेमाल कर खुद को सीनियर के रूप में प्रमोट करवा लिया। ऐसे में काम कैसे सीखते? अब जब सीमा जी आपसे काम मांग रही हैं तो आप उन्हें सीनियर होने की और इनाम जीतने की धौंस दे रहे हैं। जहां तक सवाल है पिछले दरवाज़े से लोकसभा टीवी में इंट्री पाए लोगों का, तो बस थोडा इंतज़ार कर लीजिये….उनके नाम सार्वजनिक होने वाले हैं, और लोकसभा टीवीऐसे लोगों पर कार्रवाई करने वाला है। कृपया थोड़ा धीरज रखें। धन्यवाद।

    Reply
  • ha…ha…ha…ha…ha…ha…….. Lstv aur vinod je lstv…
    Ha…ha…ha…ha…..
    Lagta ha wakai baat bahut andar tak chubh gayi hai… shyad isiliye Archana Jee ka hi sahi naam liya aur bakiyo ke saath saath apna naam bhi chupa le gaye… Waise apna post Seema jee ko jarur padhana kyoki unke chamchagiri me koi kor karsar baki na rah jaye… Ho sakta hai shyad Asst producer ya traini se kuch upar ki post hasil ho jay… Jai ho chamchagiri ki…. Waise mujhe umeed hai ke shyad is baar jawab na aaye….

    Reply
  • किस अनाड़ी ने ये खबर लिखी है क्या कोई बता सकता है? जो व्यक्ति 9 साल में एक खबर ठीक से लिखना भी नहीं सीख पाया हो, उसने मीडिया के राष्ट्रीय पुरस्कार कैसे जीत लिए समझना मुश्किल है। इंट्रो की शुरुआत जी हाँ से….नातो कखबर का कोई सर है ना पैर…. सिर्फ अपनी राम कहानी सूना दी वो भी सलीके से कोई बात नहीं कही। और अंत देखिये किस तरह किया है…..मानो कोई एहसान कर रहे हों…लोकसभा अध्यक्ष को बाध्य कर दिया इन्होंने…भगवान् आपको सदबुद्धि दे। और लोकसभा टीवी में काम करने वालों को पत्रकारिता की ट्रेनिंग दिलवाइए सीमा जी। ये सब चांदी की चम्मच लेकर पैदा हुए है, नेताओं के ऊंची पहुँच वाले रिश्तेदार हैं, काम नहीं करेंगे ये लोग।

    Reply
  • राहुल says:

    देवियों लोकसभा चैनल के इतिहास में केवल एक ऐसा प्रोग्राम तो बता दीजिये जो यादगार हो मुझे तो याद नहीं। बाकि दुनिया जानती है की भारत में पुरुस्कार देने के लिए किस तरह की योग्यता चाहिए होती है। केवल महिला मुद्दे को ढाल बनाना आजकल आप जैसी कुछ औरतों ने खूब सीख लिया है। ईश्वर का शुक्र है की सीमा जी की जगह कोई आदमी को लोकसभा चैनल का सीईओ नहीं बनाया गया वरना एक और रक्षक को अभी तक भक्षक बना दिया गया होता और उस बेचारे पर महिला से जुड़े अपराध का कोई केस शुरु हो गया होता।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *