हे टीवी संपादकों, तुम लोग ही इन हरामी बाबाओं को प्रमोट करते हो… प्रसाद में थप्पड़ मिला तो हल्ला क्यों?

Shaitan Singh Bishnoi : कल ये देख के मुझे बेहद ताज्जुब हुआ कि ओबी वैन जलाने पर और मीडिया कर्मियों की पिटाई पर प्रलाप मचा कर गुरमीत सिंह को फर्जी बाबा घोषित कर उन्हें अन्धविश्वास फैलाने का आरोपी ठहराने वाला एक चैनल मात्र आधे घण्टे के बाद “समुद्र में मायावी मंदिर” नामक कवर स्टोरी दिखा रहा था।

आप अपने फायदे के लिए खून पीने वाली चुड़ैलों का प्रोग्राम बनायेंगे… सवेरे शाम घंटों चमत्कारी ताबीजों, यंत्रों की मार्केटिंग करेंगे… सुबह ज्योतिषाचार्यों को बैठा के सम्पूर्ण भारत के भविष्य की घोषणा करवा देंगे… फिर इल्जाम दूसरों पे लगायेंगे कि अगला जनता को भ्रमित कर रहा है?

आप स्वयं “सभी दुखों को हरने वाले उपायो को सुझाने वाले बाबाओ की मार्केटिंग करते हैं”

आप फर्जी तस्वीरो के सहारे विमानों के अवशेष तथा घटोत्कच का कंकाल ढूंढ निकालते हैं।

आप ही साईं बाबा के चमत्कारो की 20 कहानिया सुबह शाम जनता को दिखाते हैं।

मुझे गुरमीत सिंह को भगवान् समझने वाले उन भोले भाले मासूम इंसानो, औरतो बच्चों से भी सहानुभूति है.. जो ये समझते हैं कि कुछ पत्थर फेंक के, वाहनों में आग लगा के वे शासन तंत्र को झुका लेंगे।

पर ना जाने क्यों… गुरमीत समर्थकों द्वारा कूटे जाते इन खबरिया चैनलों वालों से चाह के भी सहानुभूति पैदा नहीं होती।

भारत की जनता को अशिक्षित, अराजक बनाने में सबसे बड़ा योगदान तो आप लोगों का ही है।

दो चार थप्पड़ और पड़ने चाहिए! उम्मीद है, न्यायपालिका ओर प्रशासन मिलकर इसपे काबू पा लेंगे

जयपुर के युवा उद्यमी शैतान सिंह बिश्नोई की एफबी वॉल से.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *