दबंग दुनिया में कीर्ति राणा और ईशान अवस्थी संपादक बने, राजेंद्र तिवारी समेत तीन ने दिया इस्तीफा

दबंग दुनिया से खबर है कि कुछ लोगों ने की नई नियुक्ति हुई है और कइयों ने इस्तीफा दिया है. वरिष्ठ पत्रकार कीर्ति राणा उज्जैन के संपादक बनाए गए हैं. ईशान अवस्थी को इंदौर एडिशन का एडिटर बनाया गया है. वहीं दबंग दुनिया जबलपुर से पत्रकार राजेन्द्र तिवारी, अनंत चतुर्वेदी लीगल रिपोर्टर तथा पेज डिजाइनर मुकेश झारिया ने मैनेजमैंट के रवैये से तंग आकर नौकरी छोड़ दी है.

वरिष्ठ पत्रकार राजेन्द्र तिवारी के बारे में खबर है कि एक बड़े अखबार में महाराष्ट्र ज्वाइन करने वाले हैं. लीगल रिपोर्टर एवं हाईकोर्ट की खबरों के मामले में विश्वसनीय स्थान रखने वाले अनंत चतुर्वेदी ने इसलिए नौकरी छोड़ी क्योंकि उन्हें टाइमिंग के मामले में वाइस प्रेसीडेंट द्वारा प्रताड़ित किया जा रहा था. वे स्थानीय एक अखबार में ज्वाइन करने जा रहे हैं. पेज डिजाइनर मुकेश झारिया ने राज एक्सप्रेस ज्वाइन कर लिया है.



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “दबंग दुनिया में कीर्ति राणा और ईशान अवस्थी संपादक बने, राजेंद्र तिवारी समेत तीन ने दिया इस्तीफा

  • sudama sarad says:

    दबंग दुनिया जबलपुर में तिवारी जी के संपादक रहते षहर में दबंग को जानने लगे थे । उनके स्वभाव के चलते राजनीतिकबाज और तिकडम बाजों को भी नौकरी जाने का खतरा नहीं रहता था। अब सभी दुखी हैं। अब कोई नियंत्रण करने वाला नहीं है। हम सब पछता रहें कि काश तिवारी संपादक रहते।

    Reply
  • anant chaturvedi says:

    तिवारी जी, आपको दबंग दुनिया जैसे अखबार में जाना ही नहीं था। जहां चोर उचक्के किस्म के पत्रकार बसते हैं और उनके पास सिर्फ गंदी राजनीति करना ही एकमात्र काम है वहां आप जैसे सम्मानित पत्रकार को नौकरी ही नहीं करना चाहिए था । अच्छा किया आपने वहां से नौकरी छोड दी। अब जहां ज्वाइन कर चुके हैं वह सबसे बढिया अखबार है वहां दबंग जैसी ओछी राजनीति नहीं है। आप इतने उंचे मुकाम पर पहुंच चुके हैं कि दबंग दुनिया जबलपुर में संपादक पद भी आपके लिए छोटा है। यह तय है कि आगे चलकर दबंग दुनिया गर्त में पहुंच जाएगा क्योंकि लगाम जिन्हें दी गई है वे बंदर के हाथ में उस्तरा थमा देने वाली कहावत को जल्द ही चरितार्थ करने वाले है। यह अब दिखने भी लगा है।

    Reply
  • kuchh yhi hal raipur edition ka hai jaha ke ex sampadk ki manmani aaj bhi pue staff per chalti hai …jisko chahker malik nikal nhi paa raha hai …

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code