काश, कोई ‘हेमंत तिवारी’ जगेंद्र सिंह का केस भी सीएम तक पहुंचा दे

शाहजहांपुर के सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह का लखनऊ के सिविल अस्पताल में इलाज के दौरान निधन हो गया। जगेंद्र सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय थे और वो सरकारी तंत्र में व्याप्त भ्रष्टाचार को लेकर काफी मुखर थे। राजधानी लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार एन यादव का हृदयगति रुक जाने से निधन हो गया। वे हिंदी दैनिक आज के ब्यूरो प्रमुख पद पर कार्यरत रहे थे।

दिवंगत पत्रकार एन यादव के लिए मुख्यमंत्री ने 20 लाख रुपये की सहायता दी। हेमंत तिवारी (अध्यक्ष मान्यता प्राप्त संवाददाता समिति) के आग्रह पर अखिलेश जी आपने यह धनराशि स्वीकृत की। उत्तर प्रदेश सरकार के एक मंत्री से लोहा लोने वाले जुझारू पत्रकार जगेंद्र सिंह की मौत पुलिस द्वारा डाली गई दबिश के दौरान जलकर घायल होने से हुई। जगेंद्र सिंह ने भी लखनऊ में ही सिविल अस्पताल में आखिरी साँस ली। 

एक सवाल : क्या मुख्यमंत्री जोगिंदर के परिजनों की कुछ आर्थिक मदद करेंगे। हेमंत तिवारी “गजेन्द्र” आप का वोटर नहीं है, क्या इसलिए आप ने उसकी मौत की खबर पर गौर नहीं किया। शाहजहांपुर जिले में कार्यरत एक जुझारू पत्रकार और एक संपादक की तुलना नहीं हो सकती पर मृत्यु के बाद कम से कम संवेदना तो एक बराबर दिखाई जा सकती है। क्षमा करें, मेरा मकसद लाश पर राजनीति करने का बिलकुल नहीं है (जैसा कि अन्य पत्रकार नेताओं का प्रतीत होता है) पर बात दिल को लगती है, इसलिए मुखर हो कर बोल रहा हूँ।

एक क्षुब्ध पत्रकार के पत्र पर आधारित

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *