गैंगरेप पीड़िता की पहचान उजागर करने का दोषी पाया गया ‘आजतक’, एक लाख रुपये जुर्माना

एनबीएसए यानि नेशनल ब्राडकास्टिंग स्टैंडर्ड्स अथारिटी ने आजतक न्यूज चैनल के खिलाफ एक शिकायत को सही पाते हुए एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया है. एनबीएसए के चेयरपर्सन रिटायर्ड जस्टिस आरवी रवींद्रन ने बीते पच्चीस फरवरी को सुनाए गए अपने फैसले में आजतक न्यूज चैनल को चेतावनी जारी की और संबंधित वीडियो कंटेंट आनलाइन प्लेटफार्म्स से हटाने के लिए निर्देशित किया है. साथ ही आगे से ऐसे मामलों में ज्यादा सतर्क रहने को कहा है.

चौदह सितंबर 2018 को आजतक पर टेलीकास्ट गैंगरेप की एक खबर में पीड़िता के बारे में बताया गया कि वह 2015 बैच की सीबीएसई टापर है और उसे राष्ट्रपति सम्मानित कर चुके हैं. एनबीएसए चेयरपर्सन ने अपने फैसले में कहा कि 2015 बैच की टापर कहे जाने के कारण कोई भी पीड़ित लड़की की पहचान जान सकता था. इसी आधार पर एनबीएसए ने आजतक न्यूज चैनल को पीड़िता की पहचान उजागर करने का दोषी पाया और एक लाख रुपये का जुर्माना लगाया. देखें आर्डर की कॉपी के कुछ अंश…


बंदर भगाने के लिए लाया गया लंगूर दो पिल्लों के प्यार में डूबा

बंदर भगाने के लिए लाया गया लंगूर दो पिल्लों के प्यार में डूबा!…लंगूर ने पाल लिए दो पिल्ले! ताजनगरी आगरा में एक लंगूर और दो पिल्लों के बीच पनपा प्यार चर्चा का विषय बना हुआ है. यहां एक लंगूर दो पिल्लों को मां की तरह प्यार करता है. लंगूर और पिल्ले कभी आपस मे अठखेलियाँ करते हैं तो कभी लंगूर मां की तरह अपनी गोद में उन्हें उठाकर प्यार करता है. ये कहानी है आगरा के कमला नगर पार्क की. यहां एक लंगूर को बंदरों को भगाने के वास्ते रखा गया है. पार्क में रहने वाला लंगूर पिल्लों को बेहद प्यार करता है. उनको खाना भी खिलाता है. कॉलोनी में रहने वालों ने बताया कि कॉलोनी की पार्क में कुछ महीने पहले एक कुतिया ने दो बच्चों को जन्म दिया. तब से ही ये दोनों पिल्ले लंगूर के साथ खेलते हैं और अठखेलियाँ भी करते हैं. -आगरा से फरहान खान की रिपोर्ट.

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಸೋಮವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 25, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *