पहले ही कोर्ट मान चुका रेप का आरोप फर्जी, कल हाईकोर्ट में चैलेंज करेंगे IPS अमिताभ ठाकुर

लखनऊ : सामाजिक कार्यकर्ता डॉ.नूतन ठाकुर ने कहा है कि जिस महिला के आरोपों पर गोमतीनगर पुलिस ने आईपीएस अमिताभ ठाकुर के खिलाफ रेप की रिपोर्ट दर्ज की है, उसके संबंध में लिखित रूप में सीजेएम कोर्ट और हाईकोर्ट को बताया जा चुका है कि आरोप फर्जी हैं। 

उसी महिला की एफआईआर वहीं पुलिस तत्काल उस समय दर्ज कर लेती है, जब मेरे पति मुलायम सिंह पर धमकाने का आरोप लगाते हैं और एफआईआर करने की हिम्मत करते हैं। मैं तब तक समझती थी कि खनन का मामला मंत्री गायत्री प्रजापति तक ख़त्म हो जाता है पर अब मुझे यह साफ़ हो गया है कि इसके पीछे मुलायम सिंह ही हैं। हम इस मामले में सीबीआई जांच के लिए जायेंगे और मुझे पूर्ण विश्वास है, इसके बाद तमाम लोगों के पाप सामने आयेंगे।

आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने कहा है कि मैं अपने और पत्नी डॉ नूतन के ऊपर गाजियाबाद की एक महिला द्वारा कल गोमतीनगर थाने पर दी गयी प्रार्थनापत्र पर बलात्कार का मुक़दमा दर्ज किये जाने का स्वागत करता हूँ और इसे मुलायम सिंह का रिटर्न गिफ्ट मानता हूँ। हमारे पास तमाम ऐसे साक्ष्य और तथ्य हैं, जो इस रेप के आरोप को पूरी तरह झूठा साबित कर देंगे। अच्छा यह है कि इसी बहाने राजनेता-अपराधी-प्रशासन गठजोड़ सामने आएगा। हमें स्थानीय पुलिस पर रत्ती भर भरोसा नहीं और हम इस मामले की सीबीआई जांच के लिए कल ही हाईकोर्ट में याचिका दायर करेंगे। इस दौरान आने वाली सभी परेशानियों को मैं और नूतन एक सौगात मानते हैं।

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें- 

I and my wife Nutan welcome the rape case registered against us by a Ghaziabad woman taking it as a return gift from Sri Mulayam Singh Yadav against whom I, as an ordinary person, dared to go to register an FIR. We have ample amount of evidences to prove that the rape charges are completely false but it is good that in the process, we shall be able to play a role in exposing the Political-criminal-administration nexus in UP. We have no faith in the local police and we are going to file a petition in High Court tomorrow for CBI enquiry. We will take all the hardships on the way as our service for righteousness and justice.

आईपीएस अमिताभ ठाकुर और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ.नूतन ठाकुर के एफबी वाल से

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *