ओमी महाराज को करारा थप्पड़ अरसे बाद किसी टीवी बहस में हुआ कोई शानदार काम है

Samar Anarya : कल आईबीएन7 की बहस में ज्योतिषी दीपा शर्मा का हिंदू महासभा के ओमी महाराज को मारा करारा थप्पड़ अरसे में किसी टीवी बहस में हुआ कोई शानदार काम है। मने, बहस करिये मगर ये क्या कि कौन पति से कितने साल से अलग रह रहा है गिनने लगिये। Deepa Sharma beating Hindu Mahasabha’s Omi Maharaj for a sexist jibe on IBN7 is best thing to happen in TV debates in a long time. Best way to tell a MCP that living separately from husband is no argument in a debate over a god- womam or anything else but for a court case on the same separation/divorce.

Sanjaya Kumar Singh : एक महिला का टीवी चैनल पर लाइव चर्चा के दौरान किसी पुरुष को थप्पड़ जड़ देना (और थप्पड़ खाना भी) विरोध ही है। यह कोई मार-पीट नहीं थी। ओमी महाराज जो बोल रहे थे उसका विरोध थप्पड़ रसीद करके ही किया जा सकता है। बोलकर उसका विरोध किया जाता तो दर्ज ही नहीं होता – अनसुना रह जाता। दीपा शर्मा ने बिल्कुल ठीक किया। कुछ लोग इसे जबरदस्ती संस्कार से जोड़ रहे हैं। मुझे लगता है उनके बारे में जो गैर जरूरी टिप्पणी की गई उसपर थप्पड़ मारना अच्छे संस्कारों में ही आएगा (इससे लोग संस्कार सीखेंगे)। कोई पुरुष किसी महिला को टीवी पर कहे कि वह पति के साथ नहीं रहती है – इसपर महिला की क्या प्रतिक्रिया होगी, इसका अनुमान एंकर कैसे लगा सकता है। वीडियो देखो, जब दीपा कुर्सी छोड़कर खड़ी होती हैं, माइक निकालती हैं तो कहीं नहीं लगता कि वे पिटाई करने जा रही है। एंकर मनुष्य होता है। ज्योतिष तो ये लोग हैं।

Priyadarshan Shastri : जो भी हुआ अशोभनीय था इसके लिए टीवी चैनल जिम्मेदार है क्योंकि कई बार बहस के दौरान बोलने वालों पर कोई नियंत्रण ही नहीं रखा जाता है या कई बार एंकर किसी एक विचारधारा से जुड़े लोगों का ही साथ देता दिखता है और सर ! क्या न्यूज एवं मुद्दों के नाम पर इन्द्राणी एवं राधे माँ ही बची है?

अविनाश पांडेय समर, संजय कुमार सिंह और प्रियदर्शन शास्त्री के फेसबुक वॉल से.


लाइव मार कुटाई का वीडियो देखने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें : https://www.youtube.com/watch?v=xblYGUAUDCo

 

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “ओमी महाराज को करारा थप्पड़ अरसे बाद किसी टीवी बहस में हुआ कोई शानदार काम है

  • जो हुआ वो बेहद गलत था गलती पूरी तरह से महिला की थी लेकिन आजकल कानून महिलाओं को जो सुरक्षा प्रदान कर रहा है उसने कुछ महिलाओं को कंट्रोल से बाहर कर दिया है ……….बाबा ने जो कहा वो सही था और जो झापड़ रसीद किया वो और भी बेहतर ……………..

    Reply
  • बेशर्म न्यूज24 ने इसी तस्वीर पर 4 घंटे बहस की . TRP के लिए दीप ने नीचता की सारी सीमा लांघ दी. जिन लोगों को चैनल पर बैन करना चाहिए…उसको आज दिन भर न्यूज24 टीआरपी के लिए महिमामंडित करता रहा. जिस चैनल की मालकिन एक महिला हो आखिर वो इतना संवेदनहीन कैसे ? सिर्फ अपने फायदे के लिए दिन भर एक महिला को पिटता हुआ दिखाता रहा. Shame shame

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *