आज तक का संपादक निशांत चतुर्वेदी पुराना कुकर्मी है : दिलीप मंडल

Dilip C Mandal : 2011 में बहन मायावती के खिलाफ की गई आज तक के संपादक निशांत चतुर्वेदी की अभद्र टिप्पणी. उस समय सोशल मीडिया में गैर-सवर्ण कम थे. उस समय चल गया. अब निशांत ने राबड़ी देवी के खिलाफ अशोभनीय टिप्पणी की है.

आज पूरी पब्लिक निशांत चतुर्वेदी को पटक-पटक कर धो रही है. सारा मैल छुड़ा रही है. ये बदलता भारत है.

आज तक का संपादक निशांत चतुर्वेदी पुराना कुकर्मी है. उस पर एससी-एसटी एक्ट और महिलाओं के बारे में गलत चित्रण का मुकदमा कायम होना चाहिए. आप भी देखिए. ऐसे हजारों लोग पत्रकारिता में भरे पड़े हैं और समाज में कटुता फैला रहे हैं.

वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मंडल की एफबी वॉल से.

इसे भी पढ़ें-

अपनी जाति के सामाजिक अहंकार से ग्रस्त एंकर निशांत चतुर्वेदी गोदी मीडिया के चापलूस हैं : रवीश कुमार

PayTM से जुड़ेंगे तो सड़क पर आ जाएंगे

PayTM से जुड़ेंगे तो सड़क पर आ जाएंगे… PayTM अपने वेंडर्स को ला देता है सड़क पर… पवन गुप्ता आज मारे मारे फिर रहे हैं…. इंटीरियर डेकोरेशन का काम कराने वाले पवन गुप्ता अपने सिर पर बढ़ते कर्ज और देनदारों के बढ़ते दबाव के चलते घर छोड़ कर भागे हुए हैं… उन्होंने भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत को अपनी जो आपबीती सुनाई, उसे आप भी सुनिए.

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಏಪ್ರಿಲ್ 26, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “आज तक का संपादक निशांत चतुर्वेदी पुराना कुकर्मी है : दिलीप मंडल

  • CRIMES WARRIOR says:

    ऐसे चूतियोॆं को जिनकी कभी दो लाइन सोचने की औकात नहीं हो सकी जिंदगी भर….रिपोर्टर के बजाये सीधे ‘हैंगर’ बनाकर लंगूर का सा मुंह पोतकर जिन चूतियों ने इन्हें इऩकी औकात के ऊपर बेवक्त पहुंचा दिया….उनके पहले जूते मारो… उन्हें पहले घुड़साल में लेजाकर बांधकर चमड़े की भीगी बेल्ट से कूटो…तब इन चूतियों को हाथ पांव बांधकर जंगल में ले जाकर छोड़ आओ…

    Reply
  • आदित्य कुमार says:

    भो श्री के दिलीप चु॰ मंडल तो खुद सजायाफ्ता भुजंग प्रसाद का दल्ला है और ये कैरेक्टर सर्टिफिकेट बांट रहा है और तुम भो श्री 4 मीडिया इसका महिमामंडन कर रहे हैं!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *