ट्रेन टिकट फर्जीवाड़ा से हर माह 90 लाख कमाने वाले दो मीडियाकर्मी गिरफ्तार

अमर उजाला अखबार के नोएडा आफिस में कार्यरत दो वेब डेवलपर्स ने तत्काल टिकट बुकिंग के लिए साफ्टवेयर बनाया हुआ था

गाजियाबाद में आरपीएफ ने दो मीडियाकर्मियों को गिरफ्तार किया है. ये दोनों तत्काल टिकट बुकिंग के लिए एक साफ्टवेयर बनाकर महीने के 90 लाख रुपये कमाते थे. इनके नाम हैं- अरुण यादव और बिपुल रंजन.

इनके पास से अमर उजाला का आईडी कार्ड मिला है. अमर उजाला के नोएडा आफिस में कार्यरत आरोपी अरुण और बिपुल वेब डेवलपर के पद पर थे.

अमर उजाला कर्मियों के गड़बड़-घोटाले की खबर दैनिक जागरण ने एक्सक्लूसिव के बतौर प्रकाशित की है.

देखें आरपीएफ की प्रेस रिलीज जिसमें अमर उजाला में कार्यरत होने का जिक्र है-

Arrested Tatkal Ticket Extention and Web Developer

Action team :- IPF/GZB PKGA Naidu, IPF/DSJ Nitin Mehra and IPF/CIB R.K.Kanojiya along with RPF/GZB Staff.

Modues Operandi:-

Two Software Developers/ Designer of AMER UJJALA NEWS,NOIDA, were designed unauthorized Railway Tatkal ticket Softwares @ TATKAL PLUS SOFTWARE and TATKAL PRO SOFTWARE and sold to 15000 Rly.ticket agents all over India and getting Rs.20 from per agent per day as a part time business.

Recovery:- Software data in a Hard disk.

3 LAPTOPS, one CPU, Two Monitors, 5 Mobiles,one printer, 13 Credit & Debit cards were seized.

Accused:- Arun Yadav S/o Lallan Yadav, 29yrs R/o H.no.K-10084,16 Avenue Park, Gaur city-2, Greter Noida, U.P.

Wanted Accused:- Bipul RanjanS/o Alakh Niranjan, 27yrs R/o As above.

Case :- CC No 512/20 U/s 143(2)RA in RPF Post, Ghaziabad.

“During Festive season this action may impact on unauthorized Railway ticket agents”

ये है दैनिक जागरण अखबार में छपी खबर-

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *