सहारा के उर्दू अखबार को नया ग्रुप एडिटर मिला, साधना एमपी सीजी से चार हटाए गए

खबर है कि सहारा मीडिया ग्रुप के उर्दू अखबार रोजनामा राष्ट्रीय सहारा का नया ग्रुप एडिटर मुशर्रफ आलम ज़क़ी को बनाया गया है. इस बाबत एक आंतरिक मेल जारी कर दिया गया है.

जानकारी मिली है कि निजी खुन्नस में साधना MP/CG न्यूज़ से 4 लोगों को नौकरी छोड़ने का फरमान जारी कर दिया गया है. इसके लिए चैनल के घाटे का हवाला दिया गया है. इन चारों लोगों को न तो कोई लिखित में नोटिस दिया गया और न ही मालिकों की तरफ से कोई मेल किया गया. सीधे-सीधे एक मीटिंग बुलाई गई और साफ कह दिया गया कि 15 तारीख के बाद आप काम पर नहीं आएंगे. साधना MP/CG नोएडा ऑफिस हेड मनीष बंड ने चैनल के घाटे का हवाला देते हुए 4 लोगों को नौकरी से निकाले जाने की बात कही है.

सभी जानते हैं कि जब कर्मचारी खुद रिजाइन करता है तो उसको नोटिस पीरियड पूरा करना होता है और उसको संस्थान पूरे महीने की सैलरी देता है लेकिन जब संस्थान खुद किसी कर्मचारी को निकालता है तो कर्मचारी को गुजारा भत्ते के तौर पर तीन महीने की सैलरी दी जाती है लेकिन साधना MP/CG से जिन लोगों को नौकरी छोड़ने का फरमान सुनाया गया है उनको न तो कोई भत्ता दिया जा रहा है और न ही उनको कोई दूसरी नौकरी मिलने तक काम करने की मोहलत दी जा रही है. ऐसे में जिन लोगों को नौकरी छोड़ने के लिए बोला गया है उनके सामने रोजी रोटी का संकट खड़ा हो गया है क्योकि कुछ लोग दिल्ली से बाहर के रहने वाले हैं.

ये लतखोर नेता : भारतीय राजनीति के इस रीयल सीन को न देखा तो क्या देखा!

ये लतखोर नेता : भारतीय राजनीति के इस रीयल सीन को न देखा तो क्या देखा!Related News : https://www.bhadas4media.com/jutakand/

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಗುರುವಾರ, ಮಾರ್ಚ್ 7, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *