कुमार विश्वास के पक्ष में वीडियो ट्वीट पर ज़ी ने रद्द किए ‘Sonu Nigam songs’ के छह करार

दिल्ली में जंतर मंतर पर पिछले दिनो दौसा के किसान गजेंद्र सिंह कल्याणवत ने पेड़ पर फांसी लगा ली थी। कई दिनो तक वह घटनाक्रम मीडिया की सुर्खियों में रहा। अब ‘आप’ नेता कुमार विश्वास के बारे में ‘जी न्यूज’ पर प्रसारित एक झूठी खबर पर मशहूर बॉलीवुड गायक सोनू निगम के एक वीडियो ट्वीट ने मामले को एक बार फिर गरमा दिया है। फेसबुक पर टिप्पणियां आ रही हैं कि ‘आम आदमी पार्टी और कुमार विश्वास के बारे में भारत के मशहूर गायक सोनू निगम ने भी सच का साथ दिया और दलाल मीडिया ज़ी न्यूज़ को आईना दिखाया।’

पूरा वाकया कुछ इस तरह है। गत 27 अप्रैल को सोनू निगम ने एक वीडियो ट्वीट कर ज़ी न्यूज़ की खबर के झूठ का पर्दाफाश कर दिया। ज़ी न्यूज़ ने अपने चैनल पर बार-बार दिखाया था कि जंतर मंतर पर किसान गजेन्द्र की मृत्यु के समय ‘आप’ नेता कुमार विश्वास ने मंच से ‘लटक गया’ शब्द बोला था। इस पर सोनू निगम ने वीडियो ट्वीट किया कि उसमें साफ़ दिख रहा है, ‘लटक गया’ शब्द कुमार द्वारा नहीं बोला गया था, बल्कि वह आवाज़ बाहर से भरी गई थी। इसका उद्देश्य निश्चित रूप से कुमार को बदनाम करना था। सोनू निगम ने सच लिखते हुए अपने मित्र कुमार विश्वास के पक्ष में वह वीडियो ट्वीट कर दिया, जिसमे ज़ी न्यूज़ का पारा हाई हो गया। 

उस ट्वीट की प्रतिक्रिया में अब जी न्यूज ने पूर्व में सोनू निगम के साथ किए गए छह फिल्मों के करार को रद्द कर दिया है। उल्लेखनीय है कि खबरों को लेकर जी न्यूज की विश्वसनीयता पिछले संसदीय चुनाव के समय से अत्यंत संदिग्ध रही है। उससे पूर्व केंद्रीय मंत्री नवीन जिंदल की कंपनी से कथित तौर पर 100 करोड़ रुपये की जबरन वसूली की कोशिश करने के आरोप में दिल्ली पुलिस द्वारा ‘जी’ समूह के अध्यक्ष सुभाष चंद्रा, ‘जी न्यूज’ के संपादक सुधीर चौधरी और ‘जी बिजनेस’ के संपादक समीर आहलूवालिया के खिलाफ आरोप-पत्र दायर करने और आरोपियों की गिरफ्तारी ने तो इस मीडिया घराने की विश्वसनीयता और बेपर्दा कर दी थी। उसके बाद से जी ग्रुप को किसी राजनीतिक छत्रछाया की तेज तलब लगी और लोकसभा तथा दिल्ली विधानसभा चुनावों में वह साफ साफ भाजपा का तरफदार बन गया। आज भी वह सिलसिला जारी है। दिल्ली चुनावों के दौरान उसी प्रतिशोधी मिजाज में जी न्यूज ने वर्तमान मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को टारगेट किया था। जंतर मंतर की घटना ने उसे एक बार फिर बैठे ठाले गंदा खेल खेलने का कुअवसर दे दिया। 

खबरों के साथ जी न्यूज के इस ताजा खेल और उस पर ‘आप’ नेताओं के प्रत्याक्रमण ने इस प्रकरण को सोशल मीडिया पर भी रोचक अंजाम तक पहुंचा दिया है। लिखा जा रहा है – ” सोनू निगम के गाने नहीं खरीदेगा ज़ी ग्रुप – एक सच्चे ट्वीट नतीजा। ज़ी न्यूज़ ने सोनू निगम को बैन कर दिया। क्यों? क्योंकि सोनू निगम ने ट्वीट किया था। क्यों? क्योंकि ज़ी न्यूज़ ने झूठी खबर दिखाई थी। क्यों? ये आप तय करें!!” 

29 अप्रैल को सोनू निगम ने ट्वीट किया कि ज़ी न्यूज़ ने उन्हें बैन कर दिया है 

https://twitter.com/sonunigam/status/593165185377964032

सच बोलने के बदले ऐसा होने से आहत सोनू ने और भी कई ट्वीट किए हैं 

https://twitter.com/sonunigam/status/593182715513413632

https://twitter.com/sonunigam/status/593179495563022336

ट्विटर पर इस बात को ले कर काफी गहमा-गहमी है। फिलहाल #IStandWithSonuNigam ट्रेंडिंग में हैं। कई बॉलीवुड गायकों ने सोनू निगम के पक्ष में ट्वीट किए हैं। लाइव इंडिया ने भी आज इस ब्यौरे को प्रसारित किया। 


वो कौन सा वीडियो है जिसे ट्वीट करने के बाद सोनू निगम पर जी ग्रुप भड़क गया, उस वीडियो को आप भी देखें… इस लिंक पर क्लिक करें: https://youtu.be/xmdtxzuyFi8


इसे भी पढ़ें…

कुमार विश्वास के पक्ष में ट्वीट करना सोनू निगम को पड़ा महंगा, जी ग्रुप ने किया बैन!

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “कुमार विश्वास के पक्ष में वीडियो ट्वीट पर ज़ी ने रद्द किए ‘Sonu Nigam songs’ के छह करार

  • rajendar prashad says:

    सारे मीडिया घराने ही दलालों के घर बन गया है। जी मीडिया का एडिटर तो चोर है। वह तो अंदर भी हो चुका है। हर अखबार, इलेक्ट्रोनिक चैनलों में चोर और दलाल भरे हैं। इन कुत्तों को जूते मारने चाहिए।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *