Connect with us

Hi, what are you looking for?

टीवी

‘आजतक’ निष्पक्ष है तो भाजपा की जबरदस्त जीत पर इस चैनल के न्यूज रूम में क्यों बंटी मिठाई? (देखें वीडियो)

Mayank Saxena : इस वीडियो में एक समाचार चैनल है, एक पत्रकार है; जिसको निष्पक्ष होना चाहिए…वह जाहिल एक राजनैतिक दल के जीतने पर कभी बेहद पवित्र और निष्पक्ष रही न्यूज रूम जैसी जगह पर मिठाई बांट रहा है…एक पत्रकार जिसका निष्पक्ष होने का दावा है; जिसको संघी गुंडों ने क्या-क्या न कहा, बेशर्मी से कैमरा पर मिठाई खा कर, अमित शाह को अपनी निष्ठा की दुहाई दे रहा है…10 और पत्रकार ताली बजा रहे हैं…और बजाय अपने न्यूज़रूम में मिठाई बांट रहे इस पत्रकार को नौकरी पर रखने के लिए शर्मिंदा होने के; चैनल इस वीडियो को गर्व से अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर रहा है।

<script async src="//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js"></script> <script> (adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({ google_ad_client: "ca-pub-7095147807319647", enable_page_level_ads: true }); </script><p>Mayank Saxena : इस वीडियो में एक समाचार चैनल है, एक पत्रकार है; जिसको निष्पक्ष होना चाहिए...वह जाहिल एक राजनैतिक दल के जीतने पर कभी बेहद पवित्र और निष्पक्ष रही न्यूज रूम जैसी जगह पर मिठाई बांट रहा है...एक पत्रकार जिसका निष्पक्ष होने का दावा है; जिसको संघी गुंडों ने क्या-क्या न कहा, बेशर्मी से कैमरा पर मिठाई खा कर, अमित शाह को अपनी निष्ठा की दुहाई दे रहा है...10 और पत्रकार ताली बजा रहे हैं...और बजाय अपने न्यूज़रूम में मिठाई बांट रहे इस पत्रकार को नौकरी पर रखने के लिए शर्मिंदा होने के; चैनल इस वीडियो को गर्व से अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर रहा है।</p>

Mayank Saxena : इस वीडियो में एक समाचार चैनल है, एक पत्रकार है; जिसको निष्पक्ष होना चाहिए…वह जाहिल एक राजनैतिक दल के जीतने पर कभी बेहद पवित्र और निष्पक्ष रही न्यूज रूम जैसी जगह पर मिठाई बांट रहा है…एक पत्रकार जिसका निष्पक्ष होने का दावा है; जिसको संघी गुंडों ने क्या-क्या न कहा, बेशर्मी से कैमरा पर मिठाई खा कर, अमित शाह को अपनी निष्ठा की दुहाई दे रहा है…10 और पत्रकार ताली बजा रहे हैं…और बजाय अपने न्यूज़रूम में मिठाई बांट रहे इस पत्रकार को नौकरी पर रखने के लिए शर्मिंदा होने के; चैनल इस वीडियो को गर्व से अपनी वेबसाइट पर प्रकाशित कर रहा है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

ये पत्रकारिता का ऐतिहासिक युग है, अभी आप एक राजनैतिक दल के प्रति दंडवत हो जाने के लिए; पत्रकारों को सर पर बिठाये हैं। एक विशेष दल के समर्थक पत्रकारों को ही देशभक्त मान रहे हैं। बाद में आप इस युग को याद करेंगे, रोते हुए…कि वो जो इस दौर में भी सर उठाये और रीढ़ सीधी करे खड़े थे…आपने उनको गाली दी और धीरे-धीरे परिदृश्य से ही बाहर कर दिया। न सदन में विपक्ष बचा और न ही पत्रकारिता में…ये ऐतेहासिक युग के तौर पर याद किया जाएगा, क्योंकि तब आपको बचाने वाला कोई नहीं होगा। सिर्फ ये मिठाई बांटने वाले पत्रकार होंगे…दरअसल तब मिठाई खाने वाले पत्रकार भी नहीं बचेंगे…जो बचेंगे, उनको ज़बरन मिठाई खानी पड़ेगी!!

रामराज्य मुबारक़ हो, पत्रकारिता का भस्मासुर युग मुबारक़ हो!!!

Advertisement. Scroll to continue reading.

वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें :

Advertisement. Scroll to continue reading.

https://www.youtube.com/watch?v=rH__gndxcFA

युवा पत्रकार और सोशल एक्टिविस्ट मयंक सक्सेना की एफबी वॉल से… उपरोक्त स्टेटस पर आए कुछ प्रमुख कमेंट्स इस प्रकार हैं….

Advertisement. Scroll to continue reading.

Shahid Khan : I did not find anything wrong in this video particularly Rajdeep conduct. Please note Rajdeep is just an employee any by accepting laddo he has shown he has big heart. Anjana om kashyap conduct is questionable.

Pashupati Jha : खुशियां मानते हुए आधुनिक पॉलीटिक्स की आधुनिक परिभाषा भी बता रहे हैं। Politics is about messaging…..it’s about road shows…it’s about social media…it’s about sending out simple messages.

Advertisement. Scroll to continue reading.

Kashyap Kishor Mishra : एक पत्रकार को निष्पक्ष होना चाहिए पर निष्पक्षता की सान भी तो निरपेक्ष हो, यदि दक्षिणपंथी राजनितिक रूझान का प्रदर्शन जाहिल हरकत है तो एक पत्रकार का अपना वामपंथी रूझान प्रदर्शित करना भी उतनी ही जाहिल हरकत है

Mayank Saxena : न्यूज़रूम में या ऑन ड्यूटी कैसा भी रुझान प्रकट करना ग़लत है। लेकिन आप अगर पत्रकार के तौर पर साम्प्रदायिकता के विरोध की बात कर रहे हैं या बिना वजह इसमें वाम को घसीटने की प्रवृत्ति के कारण ये लिख रहे हैं, तो आप भी जानते हैं कि आप क्या कर रहे हैं। ज़रा दिखाइए कि कब किस वामपंथी पत्रकार ने ऐसे लड्डू बांटे हैं, टीवी पर खड़े हो कर वाम का समर्थन किया है?

Advertisement. Scroll to continue reading.

Shakti Singh Bhabor : राजदीप सरदेसाई पक्का जाति समर्थक है। प्रभु, पर्रिकर, गडकरी, जावडेकर के मंत्री बनने पर इन्होंने ट्वीट कर कहा था कि अब सरकार सही हाथो में है।

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement