भ्रष्टाचार की भेट चढ़े पत्रकार की मौत पर आईपीएस अमिताभ ने जांच की मांग उठाई

शाहजहाँपुर निवासी सोशल मीडिया पत्रकार जगेन्द्र सिंह, जो 01 जून 2015 को दिन में अपने आवास विकास कॉलोनी, सदर बाज़ार स्थित मकान में सदर कोतवाल श्रीप्रकाश राय द्वारा दी गयी दबिश के दौरान आग लगने से लगभग 60 फीसदी जल गए थे, की आज सिविल अस्पताल, लखनऊ में मौत हो गयी.

घटना से चिंतित जगेंद्र सिंह के परिजन

इससे पूर्व श्री जगेन्द्र ने उन्हें जलाने की घटना इंस्पेक्टर द्वारा राज्यमंत्री राममूर्ति वर्मा के इशारों पर किये जाने की बात कही थी. उन्होंने कहा था कि इससे पूर्व भी 28 अप्रैल को उनके आवास के पास उनपर जानलेवा हमला किया गया किन्तु इसमें अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई. उन्होंने मंत्री श्री राममूर्ति द्वारा अवैध खनन, जमीन पर बलपूर्वक कब्जा करने और सत्ता के दुरुपयोग को उजागर करने के कारण यह सब होने का आरोप लगाया था.  

आज आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर से अस्पताल में श्री जगेन्द्र के परिजनों ने बताया कि 01 जून को दबिश के दौरान इंस्पेक्टर के साथ 28 अप्रैल को श्री जगेन्द्र पर हमला करने वाला मंत्री श्री राममूर्ति के ख़ास गुफरान भी मौजूद था और उसी के इशारे पर यह घटना घटी. श्री ठाकुर ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के कारण हुई इस मौत को एक अत्यंत गंभीर बात बताते हुए तत्काल सभी दोषी व्यक्तियों पर कठोर कार्यवाही की बात कही है.

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें –

Shahjehanpur based social media journalist Jagendra Singh, who got 60% burnt during raid by Sadar Inspector Sriprakash Rai at his Awas Vikas Colony, Sadar Bazar residence on 01 June 2015, died today in Civil Hospital, Lucknow.

Previously Sri Jagendra had accused Sriprakash Rai of acting at behest of State minister Rammurti Verma. He had said that even previously he had been attacked near his house by minister’s men on 28 April  but no action had been taken in that case. He said he was being hounded for having exposed the wrong doings of minister Sri Rammurti as regards illegal mining, forced occupation of land etc.

Today the family members of the deceased told IPS officer Amitabh Thakur in the hospital that during the raid on 01 June, Gufran, a close aid of the minister and the assailant on Sri Jagendra on 28 April, had also accompanied the Inspector and had played an active role in the entire incidence. Calling this a serious case where a person has lost his life for exposing corruption, Sri Thakur has sought strong immediate action against all persons guilty in this case.

डॉ नूतन ठाकुर संपर्क : 94155-34525

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *