हर माह सपा के शीर्ष तक जाते हैं अवैध खनन के 500 करोड़ रुपए : अमिताभ ठाकुर

निलंबित आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने एक मीडिया रिपोर्टर से विशेष बातचीत में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं। उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह यादव की फोन पर धमकी सीधे तौर पर अवैध खनन के मामले से जुड़ी है और इस खनन में हर माह लगभग 500 करोड़ की कमाई ‘टॉप’ तक जाती है।

गौरतलब है कि खनन से जुड़े अहम खुलासे के बाद अमिताभ ठाकुर की पत्नी और सामाजिक कार्यकर्ता डॉ.नूतन ठाकुर ने पिछले साल सपा सरकार के खनन मंत्री गायत्री प्रजापति के खिलाफ लोकायुक्त के पास शिकायत दर्ज कराई थी, जिसके बाद से ही उन पर सरकार और पार्टी के नेताओं के द्वारा टारजेट किया जा रहा है। गौरतलब है कि मुलायम सिंह यादव के द्वारा फोन पर अमिताभ ठाकुर को दी गई धमकी के बाद से ही देश भर की मीडिया में पति-पत्नी चर्चा का केन्द्र बने हुए हैं। मुलायम सिंह पर मुकदमा दर्ज कराने की तहरीर देने के बाद इन पर और शिकंजा कसता जा रहा है।

अमिताभ ठाकुर ने कहा कि मुलायम सिंह यादव के द्वारा उन्हें दी गई धमकी का रिश्ता सीधे तौर पर अवैध खनन से है। उन्होंने अवैध खनन को प्रदेश ही नहीं बल्कि देश के अन्य हिस्सों की समस्या बताते हुए कहा कि खनन के कारोबार से तकरीबन 500 करोड़ रुपए अर्जित किए जाते हैं और यह राशि ‘टॉप’ तक जाती है। हालांकि इसका कोई सीधा प्रमाण उनके पास नहीं है।

उन्होंने कहा कि उनके हाथ एक-दो ऐसे वीडियो लगे थे, जिसमें एक खनन अधिकारी ने खुद मुलायम सिंह यादव का नाम लेते हुए कहा था कि चीजें वहां तक जाती हैं। संबंधित वीडियो उन्होंने लोकायुक्त को दे रखा है। ठाकुर ने कहा कि जिस तरह से मामले के उजागर होने के बाद भी गायत्री प्रजापति खनन मंत्री बने हुए हैं, क्योंकि लोग प्रजापति को मुलायम सिंह के खासमखास (ब्लू आईड ब्याय) कहते हैं। इसी वजह से पता चलता है कि यह एक बड़ा नेक्सस है, जो उत्तर प्रदेश में चल रहा है। संभवतः दूसरे राज्यों में भी ऐसा हो रहा है। 

ईनाडु इंडिया से साभार



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “हर माह सपा के शीर्ष तक जाते हैं अवैध खनन के 500 करोड़ रुपए : अमिताभ ठाकुर

  • Chandrabhan rai says:

    बुन्देलखन्ड में नदियो से बालू निकाल कर उनको गहरा कर एक प्रायोजित सूखे और अकाल की ओर धकेल रही है
    अवेध खनन मंडली
    जिसको सरकारी संरक्षण प्राप्त है ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code