दैनिक भास्कर में छोटी सी खबर छपी, बाकी सभी अखबारों ने आंदोलन की खबर को रद्दी में डाल दिया

मान्यवर, मैं, बंशीधर ब्रजवासी, परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष के तौर बिहार के नियोजित शिक्षकों के हित में वर्ष 05 से संघर्ष कर रहा हूं. फिलहाल हमारा संघ सूबे के सभी 38 जिलों में कार्यरत 4.5 लाख शिक्षकों के हक़ में समान काम को लेकर समान वेतन यानी वेतनमान के मुद्दे पर आंदोलनरत है. मैं इस लोकप्रिय वेबपोर्टल पर नम्र निवेदन करते हुए कहना चाहता हूं कि…

1. 15 दिसम्बर को मैंने संघ के लेटर पैड पे छपा एक घोषणा पत्र पटना के सभी दैनिक अखबारों में प्रेषित किया था. इसमें 22 दिसम्बर से बिहार के विद्दालयों में हड़ताल व पटना में आमरण अनशन की खबर थी. लेकिन 16 तारीख के अखबार में केवल दैनिक भास्कर को छोड़ (वह भी बेहद छोटी खबर) किसी ने यह खबर नहीं छापी थी.

2. जबकि दैनिक भास्कर केवल पटना में पहुंचता है. लेकिन पूरे प्रदेश में हिन्दुस्तान, दैनिक जागरण, प्रभात खबर, राष्ट्रीय सहारा और सन्मार्ग आदि अख़बार पढ़े जाते हैं. खासकर शिक्षक समाज में पहले के तीन अखबारों की खास गरिमा है.

3. एक शिक्षक नेता के तौर पर यह बात मैं बखूबी समझता हूं कि खबर को छापने या ना छापने को लेकर वर्तमान में अख़बारों की अपनी व्यावसायिक मजबूरियां हैं. हाथ बंधे होने की मजबूरी के कारण वे खबर छापने में एक हद से आगे नहीं जा सकते.

4, हां, इस बात की मैं जरूर बधाई देना चाहूंगा कि जिला स्तर के अखबारों में हमारे संघ की खबर को काफी तवज्जो मिल रही है. लेकिन बिहार सरकार के साथ हमारी लड़ाई 4.5 लाख शिक्षकों के हित में हो रही है. और बिना अखबारों के सहयोग के हमारे आंदोलन को अपेक्षाकृत मजबूती नहीं मिल सकती. इसलिए प्रादेशिक स्तर हमारी खबर को तरजीह मिलनी जरूरी है.

5. इसलिए हम शिक्षक समाज की ओर से एक बार फिर सिफारिश करेंगे कि हमारी खबर को प्रमुखता से प्रकशित करने की कृपा प्रदान की जाए. यदि हम वेतनमान लेने में सफल होते हैं तो हमारी जीविका पर आश्रित करीब 25 लाख परिजनों की दुआएं आप सबको मिलेगी. धन्यवाद!

आपका
बंशीधर ब्रजवासी
प्रदेश अध्यक्ष
परिवर्तनकारी प्रारंभिक शिक्षक संघ, बिहार
संपर्क नंबर- 9934607512



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code