उपेंद्र राय के मामले में सीबीआई को झटका, बैंक खातों से आंशिक रूप से रोक हटाने के आदेश

एक बड़ी खबर आ रही है उपेंद्र राय प्रकरण में. सीबीआई की अदालत ने उपेंद्र राय के सील किए गए बैंक खातों को आंशिक रूप से खोलने का आदेश जारी कर दिया है. बताया जाता है कि उपेंद्र राय की तरफ से वकील ने एक याचिका सीबीआई अदालत में लगाई थी कि उपेंद्र राय के खाते सील कर दिए जाने से जो भी लोन के पैसे भरे जाने थे, जो ईएमआई जाती थी, जो दैनिक खर्चे थे, वे सब रुक गए हैं. इसलिए खातों पर से ईएमआई और अन्य आवश्यक जरूरतों को पूरा करने के वास्ते पाबंदी हटाई जाए.

सीबीआई कोर्ट ने इस याचिका पर सीबीआई के वकील से पूछा. तब सीबीआई के वकील ने वही पुराना तर्क दुहराया कि जांच चल रही है, संदिग्ध लेन-देन के प्रमाण मिले हैं, खातों पर से रोक हटाई जाएगी तो गड़बड़ हो जाएगा. सीबीआई की अदालत ने जांच एजेंसी को अब तक मिले संदिग्ध लेन-देन के प्रमाण के सुबूत पेश करने को कहा. अगली सुनवाई पर सीबीआई की तरफ से ऐसा कुछ भी प्रमाण नहीं पेश किया जा सका जिससे लगे कि खातों से कोई संदिग्ध लेन-देन हुई है. इसके बाद सीबीआई अदालत ने उपेंद्र राय के खातों से आवश्यक जरूरतों के लिए पैसा निकासी का अनुमति दे दी. इस तरह सीबीआई को एक तगड़ा झटका लगा है.

माना जा रहा है कि उपेंद्र राय को सिर्फ बदले की भावना और सबक सिखाने के वास्ते गिरफ्तार कराया गया है और इसी उद्देश्य से उनके परिजनों-वकीलों आदि को प्रताड़ित किया जा रहा है, तो इस मामले में सीबीआई को प्रमाण के तौर पर बहुत कुछ मिलना जुलना नहीं है. हां, उपेंद्र राय की संपत्ति बढ़ा-चढ़ा के दिखा कर उनका करियर और उनकी सामाजिक प्रतिष्ठा को नुकसान पहुंचाने का काम जरूर किया जा रहा है. फिलहाल इस मामले में पत्रकारों ने सच्चाई जानने के बाद अब उपेंद्र राय के फेवर में आवाज बुलंद करना शुरू कर दिया है और उन्हें व उनके परिजनों को प्रताड़ित किए जाने के खिलाफ धरना, प्रदर्शन, ज्ञापन आदि कार्यक्रम शुरू कर दिया है.

इसे भी पढ़ें…

उपेंद्र राय और उनके परिचितों की प्रताड़ना के खिलाफ पत्रकारों ने खोला मोर्चा, देखें तस्वीरें

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *