इंस्पेक्टर हत्याकांड : एडीजी की ये दो तस्वीरें कुछ सवालों के साथ हो रहीं वायरल, देखें

Sheetal P Singh : ADG साहिब आपके कांधे पर जिस अपराइट ऑफिसर का मृत शरीर है उसकी और उस जैसों की अर्थी उस दिन से तैयार होना शुरू हुई थीं जिस दिन आप संविधान को धता बताकर सरकारी खर्चे पर कांवड़ियों के ऊपर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कर रहे थे! पुलिस का इकबाल खत्म करने के लिए मातहत नहीं, पुलिस की लीडरशिप का नेताओं के तलवे चाटना जिम्मेदार है!

Avinash Pandey ‘Samar’ : जिस भीड़ पर फूल बरसाया उसी ने मातहत की अर्थी उठवा दी! UP top cop showered flowers on Kanwarias. Then he carried dead body of his officer killed by Bajrang Dal. गाय पर निबंध नया वाला… गाय एक शाकाहारी जानवर होती थी, घास चरती थी, दूध देती थी। फिर भाजपा ने उसे विकसित कर दिया। अब वह आदमखोर है- अख़लाक़ से लेकर सुबोध कुमार सिंह तक को खाती है। Essay on cow New… Cows used to be ‘vegetarian’ animal, grazed grass and gave milk. Then BJP developed them. Now they eat human beings- from Akhlaq to Inspector Subodh Kumar Singh.

Nitin Thakur : पहले आम लोगों को मारा। अब पुलिस वालों को मारा जा रहा है। इससे पहले कि बात नेताओं के गिरेबां तक पहुंचे इसे हिंदू तालिबान बनने से रोक लीजिए। भीड़ का इंसाफ एक बूमरैंग जैसा है, जितनी ज़ोर से दूसरे पर फेंकेंगे लौटकर खुद पर आएगा।

Vijay Shanker Singh : इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की दुःखद मृत्यु केवल और केवल उसी धर्मांधता का दुष्परिणाम है जो पिछले कई साल से जानबूझकर कर फैलाई जा रही है। दुर्भाग्य से सरकार भी ऐसे धर्मांध एजेंडे के साथ ही खड़ी दिख रही है।

Dhruv Gupt : अब सियासत ने पाल ली गायें, आदमीयत ने ख़ुदकुशी कर ली! श्रद्धांजलि, इंस्पेक्टर सुबोध! श्रद्धांजलि, उत्तर प्रदेश और भारत की पशु सत्ता!

Dev Prakash Meena : क्या यूपी पुलिस इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की गौरक्षकों द्वारा दुःखद हत्या पर उसकी पत्नी को भी OSD जैसी नौकरी और आर्थिक सहायता मिलेगी? जबकि ये न तो विवेक तिवारी की तरह देर रात किसी पार्टी से ही लौट रहे थे न ही किसी के गाड़ी रुकाने पर भागने की कोशिश कर रहे थे बल्कि अपनी ड्यूटी निभा रहे थे। क्या यूपी पुलिसकर्मियों द्वारा इसका भी उसी तरह विरोध किया जाएगा जैसा विवेक तिवारी केस में आरोपी पुकिसकर्मी के समर्थन के लिए किया गया था?

वरिष्ठ पत्रकारों और रिटायर पुलिस अफसरों के फेसबुक वॉल से.

इसे भी पढ़ें….

रवीश ने पूछा- पुलिस अफ़सर जब अपने IPS साथी के प्रति ईमानदार न हो सके तो इंस्पेक्टर के हत्यारों को पकड़ने में ईमानदारी बरतेंगे?

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “इंस्पेक्टर हत्याकांड : एडीजी की ये दो तस्वीरें कुछ सवालों के साथ हो रहीं वायरल, देखें”

  • Who is joginder dalal how he became the owner of 7000 crore property from the salary of 7000 how he became the owner of opjs university’s churu and various other
    Industry such as ok life care Pvt limited Rohtak all fraud

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *