क्या अंबानी का यूपी वाला चैनल सीएम योगी से मुंह मोड़ रहा?

भड़ास के पास एक गोपनीय दस्तावेज है. इसमें यूपी सरकार की तरफ से सीएम योगी के लाइव प्रसारण का विवरण दर्ज है. किस चैनल ने कितने देर तक लाइव दिखाया. कुल 12 न्यूज चैनलों ने लाइव दिखाया जिसमें सबसे ज्यादा वक्त तक सुदर्शन न्यूज चैनल ने सीएम योगी के भाषण को अपने चैनल पर लाइव …

यूपी में आईपी सिंह ने तो योगी शासन को आइना दिखा दिया, लगा दिए जवाबी पोस्टर, देखें

Sanjaya Kumar Singh : सरकार जब कानून का मजाक उड़ाएगी तो यही होगा। अगर हर फैसला सुप्रीम कोर्ट में होना है और तब तक सरकार मनमानी कर सकती है तो यह अधिकार दूसरों को भी है। दूसरे राजनीतिक दलों को भी होगा।

यूपी में शराबी दरोगाओं ने पत्रकार को सड़क से उठाया और पुलिस चौकी में बंद कर पीटा, देखें CCTV फुटेज

उन्नाव में बिंदानगर चौकी इंचार्ज इरफान अहमद व बालूघाट चौकी इंचार्ज प्रेमनारायण बीते 5 सितम्बर की रात पत्रकार विपिन पांडे को जबरन उठाकर पुलिस चौकी ले गए और मारपीट की. दोषी दरोगाओं के विरुद्ध कोई कार्यवाही नहीं होते देख पीड़ित पत्रकार ने लखनऊ पुलिस मुख्यालय पहुंचकर अपर पुलिस महानिदेशक पीवी रामाशास्त्री से मिलकर न्याय की …

योगी राज में सच दिखाएंगे तो पत्रकार पवन जायसवाल की तरह नप जाएंगे! देखें वीडियो

Manish Srivastava : यूपी के प्रशासनिक अफसर खुद को नादिरशाह न समझें… योगी जी! आपके जैसे संवेदनशील मुख्यमंन्त्री के राज में डीएम-एसपी जैसे प्रशासनिक अफसर खुद को नादिरशाह समझने की भूल कर रहे हैं। पत्रकारों से व्यक्तिगत खुन्नस है तो आइए। सरेआम फांसी दे दीजिये। अगर सरकार की तथ्यों सहित आलोचना ही सबसे बड़ा गुनाह …

योगी राज में मीडियाकर्मियों का उत्पीड़न चरम पर, शामली के पत्रकार बेमियादी धरने पर बैठेंगे

उत्तर प्रदेश के हर जिले में पुलिस प्रशासन से मीडियाकर्मी परेशान हैं. योगी राज के कुछ बड़े अधिकारियों की मनमानी के कारण हर जिले के अफसर खुद को आका समझने लगे हैं और चौथे खंभे के कर्मियों का गला घोंटने के लिए आमादा रहते हैं. नोएडा में पांच पत्रकारों पर गैंगस्टर लगा दिया गया. आजमगढ़ …

यूपी में जंगलराज : बनारस पुलिस निर्दोषों को घर से उठा हवालात में ठूंस देती है, देखें वीडियो

यूपी में न अदालत न कानून, पुलिस जो कहे वही सही! बनारस। न कानून न कोर्ट। यहां खाकी का विधान है। लगातार बढ़ रहे आपराधिक घटनाओं के बीच यूपी पुलिस के लोग गुडवर्क के चक्कर में आधी रात को बिना किसी महिला कांस्टेबल को साथ लिए आम नागरिकों का दरवाजा पीटते हैं। दरवाजा खुलते ही …

योगीजी, अपना DGP बदलिए… यूपी में लॉ एंड आर्डर नहीं संभाल पा रहे ठाकुर ओपी सिंह!

Yashwant Singh : यूपी में लॉ एंड आर्डर का बुरा हाल है. सत्ताधारी ‘सिंह समूह’ अपने में ही मस्त है और एक दूसरे की पीठ थपथपा रहा है. जमीन पर अपराधी बेखौफ घूम रहे हैं. सहारनपुर में पत्रकार का मर्डर किसी पड़ोसी से गंदगी के छोटे-मोटे विवाद के चलते पैदा तात्कालिक आवेश के कारण नहीं …

इस पूर्व आईएएस ने योगीजी की निवेश और रोजगार पर आंकड़ेबाजी को झूठा करार दिया!

Surya Pratap Singh : औद्योगिक निवेश व रोजगार पर योगी सरकार का सफेद झूठ! संलग्न अखबार में प्रायोजित खबर में लिखा है कि 1.16 लाख करोड़ रु. का निवेश हुआ व 28 लाख नौकरी दी गयी। योगी सरकार में हिम्मत है तो सूची जारी करो और मुझे सत्यापन की अनुमति दें….मैं चुनौती स्वीकार करता हूं। …

बिना अनुमति सभा करने से रोकने पर भाजपा सांसद और समर्थकों ने दरोगा को पीटा, देखें वीडियो

इटावा से एक बड़ी खबर आ रही है. बिना अनुमति सभा कर रहे भाजपाइयों को रोकने पर भाजपा उम्मीदवार डॉ.रामशंकर कठेरिया और भाजपा समर्थकों ने दरोगा को पीट दिया. जिस मोबाइल से दरोगा ने बिना अनुमति सभा किए जाने का वीडियो रिकार्ड किया था, उस मोबाइल को भी छीन लिया. दरोगा ने भाग कर किसी …

यूपी में मुंह के बल गिरेगी भाजपा, मुस्लिम-दलित बाहुल्य सीटें बिगाड़ेंगी गणित!

अजय कुमार, लखनऊ पिछले लोकसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश भाजपा के लिए ‘सोने का अंडा’ देने वाली मुर्गी साबित हुआ था। 80 में से 73 सीटें भाजपा गठबंधन के खाते में गई थीं। समाजवादी पार्टी को पांच और कांग्रेस को दो सीटों पर संतोष करना पड़ा था तो बसपा का खाता ही नहीं खुल पाया …

कोबरापोस्ट के स्टिंग में फंसने पर UNI ने जिसे हटाया, योगीजी ने उसे सूचना आयुक्त बनाया!

जिस नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव को यूपी के दस नए सूचना आयुक्तों में से एक बनाया गया है, उनके बारे में खबर है कि वे कोबरा पोस्ट के स्टिंग में फंस चुके हैं और इसी कारण उन्हें यूएनआई ने नौकरी से हटा दिया था. लेकिन योगी राज में उन्हीं एनके श्रीवास्तव उर्फ नरेंद्र कुमार श्रीवास्तव को …

जसवीर सिंह जैसे आईपीएस अफसरों के चलते ही बची हुई है पुलिस की साख, देखें वीडियो

Yashwant Singh : आईपीएस जसवीर सिंह के बारे में मुझे ज्यादा जानकारी नहीं थी. पर जब हाल में ही उन्हें सस्पेंड किया गया तो पता चला कि इस बंदे को जहां जहां पनिशमेंट पोस्टिंग पर तैनात किया गया, वहां वहां घोटाला-घपला पकड़ा. आखिरकार रुल्स मैनुवल्स डिपार्टमेंट में बिठाकर कह दिया गया कि किसी भी टापिक …

मोदी आगमन की पूर्व संध्या पर प्रयागराज में हुआ था एक और निर्भया कांड, गोदी मीडिया ने चुप्पी साधी

दो दिन पहले से कुंभ की पीएम की वीवीआईपी ड्यूटी में लगा रहा पुलिस प्रशासन, झूंसी में होता रहा गैंगरेप…तारीख 24 फरवरी दिन रविवार. मौका प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी का कुंभ स्नान का. प्रधानमन्त्री के दौरे पर उनका स्वागत करने के लिए मुख्यमंत्री योगी, उप मुख्यमंत्री केशव मौर्य और अन्य केन्द्रीय व प्रादेशिक मंत्री प्रयागराज में …

हर्षवर्धन शाही समेत ये पांच पत्रकार यूपी में नए सूचना आयुक्त बने

पत्रकारों पर यूपी सरकार की नेमतें बरसीं… पांच पत्रकार बने सूचना आयुक्त… मान्यता समिति भी गठित… पिछले 24 घंटे से लखनऊ के पत्रकारों को योगी सरकार पद और रुतबों से मालामाल कर रही हैं. संभव है जल्द ही उर्दू अखबारों पर सरकार की मेहरबानी बरसे. अब तक मिली जानकारी के अनुसार यूपी सरकार ने नये …

योगी पर रासुका लगाने वाला आईपीएस सस्पेंड, वो इंटरव्यू पढ़ें जिसके चलते हुई कार्रवाई

लखनऊ : 1992 बैच के आईपीएस जसवीर सिंह को सस्पेंड किए जाने की खबर आ रही है. योगी सरकार ने इस आईपीएस को गुपचुप तरीके से सस्पेंड किया. आईपीएस जसवीर सिंह इन दिनों एडीजी रैंक के अफसर हैं और रूल्स मैनुअल में तैनात हैं. जसवीर सिंह को सस्पेंड किए जाने के पीछे जो वजह चर्चा …

जहरीली शराब से मौतों के लिए योगी सरकार की शराब नीति जिम्मेदार!

उत्तर प्रदेश में पुलिस महानिरीक्षक के रूप में कार्यरत रहे एस.आर. दारापुरी (संयोजक, जन मंच) का कहना है कि जहरीली शराब से मौतों के लिए योगी सरकार की शराब नीति जिम्मेदार है. वर्तमान शराब नीति में तरफ सरकार शराब के ठेके उच्चतम बोली पर चढ़ाती है जिसे शराब माफिया सिंडिकेट बना कर हथिया लेते हैं. …

योगी आदित्यनाथ के अफसर गोमती रिवर फ्रंट घोटाले में लिप्त कंपनियों के एजेंट हैं…

गोमती रिवर फ्रंट घोटाले में शामिल रही कंपनियों के खिलाफ इन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट की लखनऊ समेत देश के कई अन्य शहरों में की गई छापेमारियां पिछले दिनों सुर्खियों में रहीं। इस कार्रवाई पर प्रदेश की भाजपा सरकार ने अपनी पीठ ठोकी और अखबारों ने भी सरकार की पीठ ठोकने में कोई कोताही नहीं की। इन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट …

कोर्ट में भी बोलें योगी कि ठोंक देंगे, निपटा देंगे- रिहाई मंच

ठोंकने-निपटाने वाली योगी की पुलिस का शिकार हुए थे विवेक तिवारी, कुंभ पर हमले का हौव्वा, एक धर्म को दूसरे धर्म के खिलाफ खड़ा करने की साजिश, कुंभ की अव्यवस्था को छुपाने के लिए आतंकवाद का बहाना…

क्या कुंभ में करोड़ों लोगों के आने-नहाने का दावा झूठा है?

Mangla Prasad Tiwari : इसको कहते हैं 56 इंच का सीना, सब करोड़ों में पर अमर उजाला सबसे अलग… एक ओर जहां पूरा शासनिक प्रशासनिक कुनबा गला फाड़ फाड़ कर चिल्ला रहा है ‘दिव्य कुंभ, भव्य कुंभ’, और इसके लिए हजारों दावे, वादे तो किए ही जा रहे हैं, करोडो़ के विज्ञापन, होर्डिंग्स, बैनर्स, के …

यूपी में पुलिस क्रूरता के खिलाफ दिल्ली में उठी आवाज

उत्तर प्रदेश पुलिस मुठभेड़ों पर फिर उठे सवाल, पुलिस मारे गए लोगों के परिवार वालों को कर रही है प्रताड़ित, मुठभेड़ में घायल लोगो को जेल में नहीं मिल रहा है उचित इलाज़

यूपी में योगी आदित्यनाथ की सरकार ने जिस तरह अंधेरगर्दी मचा रखी है!

Nadim S. Akhter : यूपी के लखनऊ में अपने बेटे की मौत की रिपोर्ट लिखवाने के लिए इंस्पेक्टर के सामने गिड़गिड़ाती और उनके पैर पकड़ती बुजुर्ग महिला का वीडियो वायरल हुआ है। फैक्ट्री में काम करते वक़्त दुर्घटना से उसके जवान बेटे की मौत हो गयी थी। वीडियो में दिख रहा है कि राक्षस इंस्पेक्टर …

कुंभ में मीडिया वालों की बुरी हालत, प्रबंधन में योगी सरकार फेल!

Mangla Prasad : पत्रकार के बिना कुछ होता भी नहीं और पत्रकार उपेक्षित भी है, ये कहां का न्याय है? गुरूवार को प्रयागराज कुंभ में पत्रकार के साथ हुई मारपीट की घटना से न सिर्फ पत्रकार समाज आक्रोशित है बल्कि आम जनमानस भी इस घटना की निंदा कर रहा है।

क्या योगीजी भ्रष्ट अफसरों के दबाव में कामिनी रतन चौहान का तबादला कर बैठे!

Manish Srivastava : भला हम मिले भी तो क्या मिले, वही दूरियाँ वही फ़ासले, न कभी हमारे क़दम बढ़े न कभी तुम्हारी झिझक गई…यूपी की सत्ता पर कोई भी मुख्यमंत्री विराजमान रहे। कमोबेश सभी के लिए यूपी की नौकरशाही के चन्द ईमानदार अफसरों का यही फसाना रहा। अब योगी जी मुख्यमंत्री हैं लेकिन नौकरशाही के …

अपने डीजीपी को भी इग्नोर मार देती है यूपी पुलिस, निर्दोष युवक संग ‘मुठभेड़’!

यूपी के डीजीपी ने जिस मामले में खुद इंट्रेस्ट लिया, अपनी तरफ से जांच बिठाई, पूरे मामले की तहकीकात कराई, जांच नतीजा अभी आना बाकी है, उसी मामले में उन्हीं की पुलिस ने अपने बॉस को इग्नोर करते हुए कागजों में गुपचुप ढंग से फर्जीवाड़ा करके इनामी बनाए गए निर्दोष युवक को घर से उठा …

खनन घोटाले में सीबीआई वर्ष 2017 में कर चुकी है आईएएस चंद्रकला से पूछताछ!

इलाहाबाद हाईकोर्ट की देखरेख में चल रही अवैध खनन की सीबीआई जांच केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने हमीरपुर जिले में हुए अवैध खनन के मामले में आईएएस बी. चंद्रकला समेत 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करते हुए शनिवार को उनके ठिकानों पर छापे मारे। छापे की टाइमिंग को लेकर मीडिया और राजनीतिक विश्लेषकों ने …

एक भक्त ने यशवंत को ‘कुत्ता, कमीना और सूअर’ कहा…. देखें फिर क्या हुआ!

Yashwant Singh : एक गालीबाज भक्त का माफीनामा देखिए…. वैसे, भक्त भी मनुष्य ही होते हैं। अगर वे क्षमा दिल से मांग लेते हैं तो उन्हें माफ कर देना चाहिए। मैंने माफ किया शिवा! वैसे भी, जिन शब्दों को तुम गाली मानकर मुझे कहे हो, उन शब्दों के प्रतीक रीयल जीवों से मैं बेहद प्यार …

पूर्व आईएएस सूर्य प्रताप सिंह ने अमित शाह और सुनील बंसल के खिलाफ उठाई आवाज

गडकरी का साहस और योगी जी का टूटता तिलिस्म.. भाजपा में खलबली! केंद्र के सबसे सफल मंत्री नितिन गडकरी जी ने मोदी-शाह की जोड़ी के ख़िलाफ़ अपनी आवाज उठाकर Pandora’s box खोल दिया है। अब तक संघ की भी हिम्मत नहीं हो रही थी कि वह अमित शाह और नरेंद्र मोदी के विरुद्ध कुछ बोल …

एबीपी न्यूज के इंद्रजीत राय ने स्टिंग के जरिए योगी राज में शीर्ष स्तर पर भ्रष्टाचार का किया खुलासा, देखें वीडियो

ABP न्यूज़ चैनल पर Indrajeet Rai जी ने दिलेरी का परिचय देकर ओम प्रकाश राजभर के निजी सचिव की पोल खोली.. असल में ट्रांसफर, पोस्टिंग का ये धंधा बड़ा आम है.. जानते सभी पत्रकार हैं लेकिन इंद्र ‘जीत’ होना आसान नहीं…

लखनऊ के इस महाघूसखोर ने डिप्टी सीएम का नाम लेकर पत्रकार से उद्यमी बने शख्स को धमका डाला!

योगी आदित्यनाथ का राज रहा हो या फिर इससे पहले अखिलेश राज, सत्ताधारी पार्टी का झंडा या सत्ताधारी पार्टी से प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष जुड़ाव ही यूपी में सबसे बड़ा कानून है। नेता और कार्यकर्ताओं का तो खैर पूछना ही क्या, सत्ताधारी दल के सरंक्षण में पल रहे भ्रष्ट अधिकारी-कर्मचारियों के तेवर भी किसी राजा-महाराजा से कम नहीं …

रवीश ने पूछा- पुलिस अफ़सर जब अपने IPS साथी के प्रति ईमानदार न हो सके तो इंस्पेक्टर के हत्यारों को पकड़ने में ईमानदारी बरतेंगे?

Ravish Kumar इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह को नफ़रत से प्रोग्राम्ड रोबो-रिपब्लिक ने मारा है… कल यूपी पुलिस के जवानों और अफसरों के घर क्या खाना बना होगा? मुझे नहीं मालूम। इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की तस्वीर उन्हें झकझोरती ही होगी। नौकरी की निर्ममता ने भले ही पुलिस बल को ज़िंदगी और मौत से उदासीन बना …

इंस्पेक्टर हत्याकांड : एडीजी की ये दो तस्वीरें कुछ सवालों के साथ हो रहीं वायरल, देखें

Sheetal P Singh : ADG साहिब आपके कांधे पर जिस अपराइट ऑफिसर का मृत शरीर है उसकी और उस जैसों की अर्थी उस दिन से तैयार होना शुरू हुई थीं जिस दिन आप संविधान को धता बताकर सरकारी खर्चे पर कांवड़ियों के ऊपर हेलीकॉप्टर से पुष्प वर्षा कर रहे थे! पुलिस का इकबाल खत्म करने …

आरक्षण में सेंधमारी के ‘मंत्र’ से यूपी फतह करेंगे योगी!

अजय कुमार, लखनऊ उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनाव से पूर्व आरक्षण की सियासत एक बार फिर परवान चढ़ने लगी है। बसपा सुप्रीमों मायावती ने आरोप लगाया है कि भाजपा और कांगे्रस आरक्षण व्ययवस्था को खत्म करना चाहती है तो योगी सरकार ने विधान सभा चुनाव में किए गये वायदे के अनुसार कोटे में कोटा (आरक्षण …

अलीगढ़ मुठभेड़ की जांच करने गई टीम के दो सदस्यों के खिलाफ पुलिस ने अपहरण का मुकदमा दर्ज कर दिया!

अलीगढ मुठभेड़ : मृतक के परिवार ने यूपी पुलिस पर लगाए संगीन आरोप… मुस्तकीम और नौशाद को घर से उठा कर ले गयी थी पुलिस… इस महीने 20 सितम्बर को अलीगढ़ पुलिस द्वारा कथित दो वांछित अपराधियों के लाइव एनकाउंटर के मामले में मानवाधिकार संगठन ‘यूनाइटेड अगेंस्ट हेट ने बड़ा खुलासा किया है। जांच टीम …

उत्तर प्रदेश में कानून मौत बांटता है और सरकारें मुआवजा!

विवेक हम शर्मिंदा हैं, तेरे कातिल जिंदा हैं! अगर आपकी हत्या पर 25 लाख का मुआवजे मिले तो आपको इससे ज्यादा क्या चाहिए जनाब. लखनऊ में पुलिस की गोली और पुलिस से मिलने वाली मौत के बदले पच्चीस लाख रुपये दिए जाते हैं. अब भी नहीं समझे तो आपके समझते समझते घर के दो लोगों …

योगी की पुलिस ने तो एप्पल के अधिकारी का ही एनकाउंटर कर दिया! देखें तस्वीरें

अपडेट 1 : लखनऊ में हुए एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी हत्याकांड पर एसएसपी लखनऊ कलानिधि नैथानी की प्रेस कॉन्फ्रेंस-दोनों सिपाही प्रशांत मलिक & संदीप गिरफ्तार, दोनों जेल भेजे गए, मजिस्ट्रेट जांच बैठी, sit भी गठित हुई, इस केस की जांच दूसरे सर्किल को दी गई। अपडेट 2 : लखनऊ में हुए एप्पल के सेल्स …

नकली शराब बिकवाने वाले आबकारी निरीक्षक अब भी जमे हैं पदों पर, शासन मौन

योगी राज में अफसर सरकारी नीतियों का भर्ता बनाने में जुटे हैं. आबकारी विभाग का सबसे बुरा हाल है. प्रदेश भर में नकली शराब बिक रही है. दुकानों में ग्राहकों से ज्यादा पैसे लेकर शराब बेची जा रही है. हरियाणा से नकली शराब की खेप धड़ल्ले से चली आ रही है.

योगी राज में कप्तान साहब जयकारा लगवा रहे- ‘बोलबम’! देखें वीडियो

यूपी के जिला अंबेडकर नगर के कस्बा टांडा में कावड़ यात्रा के दौरान फील्ड में उतरे पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार मिश्रा ने तेज आवाज में कहा- ”थोड़ा जयकारा लगवाओ बोलबम…”.

भाजपा विधायक ने धमकाया तो इंस्पेक्टर ने छोड़ दिया दुष्कर्म का आरोपी

बीजेपी एमएलए दिनेश खटिक भाजपा के विधायक जी लोग तो इंस्पेक्टर को कुछ समझ ही नहीं रहे… मेरठ में मवाना थाने के एसओ से एक विधायक की बातचीत का ये आडियो सुनें. पुलिस की नौकरी कितनी मुश्किल होती है, यह टेप सुनकर समझ में आता है. धमकी का असर भी हुआ. अभिलेखों में बदलाव कर …

अश्लील वीडियो बना वायरल करने से आहत दलित लड़की ने दी जान, देखें वीडियो

यूपी के मैनपुरी से एक बड़ी खबर है. यहां बेखौफ मनचलों ने एक दलित लड़के से छेड़छाड़ कर पहले उसका वीडियो बनाया और फिर वायरल कर दिया. इससे परेशान लड़की ने जान दे दी. बताया जाता है कि शौच को गयी एक दलित किशोरी के साथ कुछ मनचलों ने छेड़छाड कर वीडियो बना लिया और …

बुलंदशहर में लॉ एंड आर्डर का बुरा हाल, अबकी पुलिस वालों ने फौजी को पीटा, देखें वीडियो

फौजी बंटी सिंह यूपी में लॉ एंड आर्डर के मामले में बुलंदशहर सबसे खराब और खतरनाक जिले में शुमार हो गया है. यहां पुलिस वाले किसी अपराधी से पैसे लेकर किसी निर्दोष युवक को इनामी बदमाश बना देते हैं तो कभी यही पुलिस वाले सरेआम देश की सेवा करने वाले फौजी की पिटाई करने लगते …

योगी की लखनऊ पुलिस ने जानकारी लेने थाने आए डाक्टर को पीट-पीट कर ये हाल कर दिया, देखें तस्वीरें

योगी राज में पुलिस अराजक हो चुकी है. कहीं अपराधियों से सुपारी लेकर निर्दोष युवक को इनकाउंटर में मारने के लिए फर्जी तरीके से इनामी बदमाश में तब्दील कर देती है, तो कहीं संपादक के घर में कूद कर बिना वजह जान मारने की धमकी देती है.

एलटी शिक्षक भर्ती परीक्षा : यूपी सरकार या तो बेकार है या फिर यहां सिर्फ भ्रष्टाचार है!

तीन-तीन बार परीक्षा की तिथि तय करने के बावजूद भी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग बिना अपने माथे पर प्रश्नचिह्न लगवाए एलटी शिक्षक भर्ती परीक्षा करा पाने में पूरी तरह अक्षम साबित हुआ है। साढ़े 7 लाख प्रतियोगियों के भविष्य को अधर में डालते हुए तीन बार परीक्षा की तिथि घोषित की। विज्ञान और बायोलॉजी …

निर्दोष को इनामी बनाने की शिकायत मानवाधिकार आयोग तक पहुंची

अलीगढ़ के जाने माने समाज सेवी, आरटीआई कार्यकर्ता व तेज़ तर्रार वकील प्रतीक चौधरी ने बुलंदशहर के बहापुर गांव के बीवी नगर थाने में हत्या के मुलजिम बनाए गए सौरव पुत्र देवेंद्र के जीवन की रक्षा हेतु राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग का दरवाजा खटखटाया है।

प्रबंध संपादक को धमकाने वाले दरोगा ने यूं मांगी सरेआम माफी, देखें तस्वीरें

Dev Nath : दरोगा धमकी प्रकरण में मेरे साथ खड़े रहने वालों का अभिनंदन। यह मित्रों और मीडिया में आई खबरों का नतीजा ही है कि दरोगा जी अपनी दबंगई भूल गए और लखनऊ में मुझसे मिलकर माफी मांग ली। दरोगा जी भले लगे इसलिये हमने भी दिल से माफ कर दिया।

फर्जी मुठभेड़ का मुद्दा उठाने पर थानेदार ने भेजा लीगल नोटिस, सोशल एक्टिविस्ट ने भी भेजा जवाब

लखनऊ : जेल में बंद निर्दोषों को छुड़ाने और मुठभेड़ में मारे गए निर्दोषों के परिजनों को न्याय दिलाने के लिए बनाए गए संगठन ”रिहाई मंच” के महासचिव राजीव यादव ने आजमगढ़ के कन्धरापुर थाना प्रभारी अरविन्द यादव की क़ानूनी नोटिस का जवाब भेज दिया है. अपने जवाब में राजीव ने कहा कि पुलिस प्रशासन …

निर्दोष युवक को इनामी बदमाश में तब्दील कर दिया बुलंदशहर पुलिस ने!

जब शासन सत्ता की तरफ से पुलिस को इनकाउंटर करने की खुली छूट दे दी जाती है तो उसका साइड इफेक्ट बड़ा भयावह होता है. कुछ भ्रष्ट पुलिस अधिकारी पैसे लेकर निर्दोष युवकों को इनामी बदमाश में तब्दील करने के लिए दिन-रात ‘मेहनत’ करने लगते हैं. बुलंदशहर के सौरभ अपने मां-पिता की इकलौती संतान हैं. …

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने साल भीतर ही अपना तेज खो दिया!

छवि बदलने के अंतर्द्वंद में योगी लखनऊ : उत्तर प्रदेश की सियासत में काफी कुछ बदला-बदला नजर आ रहा है। लोग सवाल पूछ रहे हैं कि आखिर क्यों योगी सरकार खुल कर फैसले नहीं ले पा रही है? क्यों डर-डर का काम कर रही है? कहीं ऐसा तो नहीं है कि नौकरशाही पर लगाम नहीं …

योगीराज में अंधेरगर्दी : सौ से ज्यादा शिक्षकों को मनमाने तरीके से लखनऊ में पोस्टिंग दे दी गई!

पंजाब के लुधियाना से एक बड़ी खबर आ रही है. 31 वर्षीय एक महिला शिक्षिका पर यहां एक नाबालिग लड़के का यौन शोषण करने का आरोप लगा है. साथ ही ब्लैकमेल करने का भी मामला है. दोनों ही आरोपों में पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. पुलिस ने बताया कि महिला शिक्षिका छात्र को ट्यूशन पढ़ाती थी. पुलिस ने बताया कि पीड़ित आठवीं कक्षा का छात्र है और उसका परिवार जिस मकान में किराये पर रहता था, वह आरोपी के पिता का है.

Justice For Sanskriti : हत्या के 6 दिन के बाद भी लखनऊ पुलिस के पास कोई सुराग नहीं है

Samar Anarya एक जिला है बलिया। आजादी की लड़ाई के लिए मशहूर। कचहरी पर कब्ज़ा कर आज़ादी के पहले तिरंगा लहरा देने वाले चित्तू पांडेय का जिला। जिले में एक जगह है फेफना। बस. इसके बाद कुछ है नहीं। इसके बाद कुछ है नहीं सब था.

योगी राज में मनबढ़ कोतवाल ने इस बुढ़िया संग की बदसलूकी, देखें वीडियो

निजाम बदला, नहीं बदला पुलिस का मिजाज आजमगढ़। देश-प्रदेश का निजाम तो बदल गया मगर पुलिस के मिजाज अभी भी नहीं बदले हैं। वही सुर, वही ताल। फूलपुर कोतवाली पर फरियाद लेकर पहुंची एक बुढ़िया को गाली देते कोतवाल का तेवर देखकर यही सच सामने आया। जबकि तंग आने के बाद वह बुढ़िया कप्तान के …

योगी डाल-डाल तो भ्रष्ट अफसर पात-पात!

Ashwini Kumar Srivastava : योगी डाल-डाल तो भ्रष्ट अफसर पात-पात! राज्य में एक विभाग है प्रदूषण नियंत्रण विभाग। हर उद्योग या प्रोजेक्ट के लिए वहीं से एनओसी लेनी पड़ती है, तभी जाकर प्रोजेक्ट मंजूर माना जाता है। योगी आदित्यनाथ जानते हैं कि यह विभाग महाभ्रष्ट है और हर एनओसी के लिए मोटी रकम घूस में …

बस्ती में भाजपा विधायक ने पत्रकार से की अभद्रता, थानेदार के जरिए कैमरे से वीडियो डिलीट कराया

यूपी के बस्ती जिले के रूधौली कस्बे से खबर है कि दैनिक अमर उजाला के वरिष्ठ पत्रकार व ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन बस्ती के मण्डलीय उपाध्यक्ष डॉ एस के सिंह से भाजपा के विधायक ने अभद्रता की है. अभद्रता से नाराज ग्रामीण पत्रकार एसोसिएशन ने आंदोलन की चेतावनी दी है.

योगी के गृह जिले में महिला कल्याण समेत कई विभागों-योजनाओं पर चढ़ी बदइंतजामी की चादर

गोरखपुर में महिला कल्याण विभाग के मन्डलीय अधिकारी ‘डिप्टी सीपीओ’ का पद 2 वर्ष से रिक्त चल रहा है. ऐसे में सवाल है कि महिला कल्याण की योजनायें सीएम के गृह जिले में कैसे कार्यान्वित होंगी. महिला कल्याण निदेशालय में वैसे तो 4 अधिकारी बैठे हुए हैं लेकिन मुख्यमन्त्री के संसदीय क्षेत्र रहे जनपद गोरखपुर …

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार सुभाष राय के घर में घुसकर बोला- ”मैं STF से रणजीत राय हूँ, जो उखाड़ना हो, उखाड़ लो…”

Subhash Rai : मैं एसटीएफ से रणजीत राय हूँ, जो उखाड़ना हो, उखाड़ लो… (जब पुलिस और एस टी एफ के लोग इस तरह क़ानून तोड़ने वाले, अराजक और अपराधी क़िस्म के मित्रों और रिश्तेदारों की मदद में आम जीवन जीने वालों का जीना हराम करने के लिए बिना किसी सक्षम अधिकारी की अनुमति लिए, …

भड़ास में खबर व सोशल मीडिया पर मुहिम के बाद मीडिया छात्रा को छेड़ने वाला गया जेल

मीडिया की छात्रा तपस्या शर्मा इस योगी राज में लफंगों से इस कदर परेशान थीं कि वे लगभग सुसाइड की सोचने लगी थीं. पुलिस की लफंगे के साथ मिलीभगत के चलते उन्हें हर पल, हर मोड़ पर उत्पीड़न झेलना पड़ा. गाजियाबाद की स्थानीय इलाकाई पुलिस बजाय इस लड़की की मदद करने के, लफंगों के साथ …

योगी राज में गाजियाबाद पुलिस और लफंगों से परेशान ये मीडिया की छात्रा कहीं सुसाइड न कर ले, देखें वीडियो

पीड़ित छात्रा तपस्या शर्मा गाजियाबाद के इंदिरापुरम थाना एरिया में एक लफंगा अपने दोस्तों के साथ खुलेआम एक लड़की और उसके पिता को गालियां देता है. लड़की को छेड़ता है. गंदे मैसेज भेजता है. काल करके गंदी गंदी बातें करता है. लड़की का नाम तपस्या शर्मा है जो मीडिया की छात्रा है.  

पुलिस कप्तान का स्टिंग करने वाला पत्रकार भाई समेत जेल गया, पत्नी से गैंगरेप

बाराबंकी में एक पत्रकार ने पूर्व एसपी अनिल कुमार सिंह का स्टिंग ऑपरेशन किया. इस पूर्व एसपी के खिलाफ एक कॉन्स्टेबल ने तकरीबन आठ लाख रुपए लेकर स्थानीय थानों में पुलिसकर्मियों की पोस्टिंग कराने का आरोप लगाया था. पत्रकार ने इसी मसले से जुड़ा स्टिंग अपने चैनल पर तीन से चार बार चलावाया. इसके बाद …

भ्रष्ट सुनील बंसल ने मेरे खिलाफ FIR दर्ज करायी है, जेल जाने को हूं तैयार : सूर्य प्रताप सिंह

Surya Pratap Singh : भ्रष्ट सुनील बंसल ने मेरे ख़िलाफ़ गोमतीनगर थाने, लखनऊ में FIR दर्ज करायी है… अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री के कार्यकर्ता (अब भाजपा में) के नाम से छल से यह FIR दर्ज कराके यह दिखाने का प्रयास किया गया है कि यह अखिलेश यादव की शय पर लिखी गयी है। जबकि अपने …

योगी सरकार के करोड़ों के इस विज्ञापन में कार्यक्रम स्थल का नाम ही नहीं है

सिस्टम को टीबी का सुबूत… जगाने का काम करने वाले सोते हुए कर रहे हैं काम… करोड़ों के बजट वाले इस विज्ञापन में पूरी रामकथा है। लेकिन रामकथा में राम जी का ही नाम नहीं है। कार्यक्रम की पूरी जानकारी है पर ये लिखना भूल गये कि कहां है कार्यक्रम।

दागी आईएएस सत्येंद्र सिंह पर मेहरबान योगी सरकार

यूपी की योगी सरकार दागी आईएएस सत्येंद्र सिंह पर मेहरबान है. यही कारण है कि इस भाजपा सरकार में इस घोटालेबाज अफसर के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं हुई है. आईएएस सत्येंद्र सिंह एनआरएचएम घोटाले के भी आरोपी हैं. वे अब भी एक बड़े पद पर तैनात हैं.  सत्येंद्र सिंह जब एनआरएचएम में जीएम हुआ करते थे तो उन्होंने काफी खेल किए. इसी कारण उन्हें आरोपी बनाया गया. सीबीआई जांच के दौरान सत्येंद्र सरकारी गवाह बन गए. इसी कारण उनके खिलाफ चलने वाली सभी जांच ठंढे बस्ते में डाल दी गई. पर क्या सरकारी गवाह बनने से गुनाह माफ़ हो जाते हैं?

योगी राज में युवा उद्यमी के संघर्ष को मिली जीत, करप्ट अफसरों का गिरोह हारा

Ashwini Kumar Srivastava : योगी राज में देर तो है….अंधेर नहीं! क्रिसमस पर सांता क्लॉज़ मेरे जीवन का अब तक का सबसे बेहतरीन तोहफा लेकर आये हैं…और वह है, सरकारी तंत्र के भ्रष्टाचार में फंसकर ढाई बरस की भयंकर देरी से तकरीबन दम ही तोड़ चुके हमारे आवासीय प्रोजेक्ट की मंजूरी। ईश्वर की कॄपा से …

रिश्वत के लिए फाइल पर कुंडली मार कर बैठ जाता है ये अफसर, कंप्लेन पर पीएमओ भी सक्रिय

Ashwini Kumar Srivastava : 2018 की तरफ बढ़ते हुए मुझे एक बेहद बड़ी खुशखबरी यह मिल रही है कि भ्रष्टाचार और एक भ्रष्टाचारी अफसर एसपी सिंह के खिलाफ चल रही मेरी लड़ाई को खुद प्रधानमंत्री कार्यालय और मुख्यमंत्री कार्यालय ने संज्ञान में ले लिया है। दोनों ही जगहों से बाकायदा मेरी शिकायत पर न सिर्फ …

यूपी में सुरक्षित महसूस नही कर रहे पत्रकार, पढ़िए हाथरस में भास्कर के पत्रकार के साथ क्या हुआ…

हाथरस। अब तक हमने खबरे बहुत लिखी पर कल मेरे साथ बड़ी गजब और ऐसी घटना
घटी कि खुद की खबर लिखने लायक घटना घट गई। पत्रकारिता के अबतक के जीवन
काल में मेरी खबरों से जहां कुछ लोग खुश हुए तो कुछ लोग निराश भी हुए।
कुछ लोगों ने इधर उधर से धमकिया भी दिलवाई। पर में चुप न हुआ। पर कल तो
मेरी जान पर बन आयी मैं अपनी जान बचाकर किसी तरह बच कर अपने घर आया।

पत्रकार गौरव अग्रवाल ने पूछा तीखा सवाल तो तिलमिला गए सीएम योगी (देखें वीडियो)

कल आगरा पहुंचे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ताज महल में झाड़ू लगाने के बाद एक प्रेंस कांफ्रेंस किया. इसमें एक युवा पत्रकार गौरव अग्रवाल ने उनसे तीखा सवाल पूछ लिया.

एफआईआर दर्ज न होने से परेशान यूपी के एक मान्यता प्राप्त पत्रकार ने भेजी भड़ास को चिट्ठी

अर्जुन द्विवेदी ने भड़ास4मीडिया को एक पत्र भेजकर एक एफआईआर दर्ज कराने के बाबत किए जा रहे अपने संघर्ष का उल्लेख किया है और अपनी जान-माल के नुकसान की आशंका जाहिर की है. अर्जुन द्विवेदी यूपी के राज्य मुख्यालय से मान्यता प्राप्त पत्रकार हैं. अर्जुन से संपर्क editorsristimail@gmail.com के जरिए किया जा सकता है. पढ़िए भड़ास के नाम आई अर्जुन की चिट्ठी…

सीएम योगी के पैर छूने वाले बाराबंकी डीएम अखिलेश तिवारी को बीजेपी सांसद प्रियंका रावत ने बताया भ्रष्टाचारी

बाराबंकी : यूपी के बाराबंकी में बीजेपी सांसद प्रियंका रावत ने अपनी ही सरकार के डीएम अखिलेश तिवारी पर भ्रष्टाचार और भाजपा सरकार की छवि धूमिल करने का आरोप लगाया है। डीएम के खिलाफ शिकायत मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से की है। प्रियंका ने मुख्यमंत्री से शिकायती पत्र में  डीएम अखिलेश तिवारी पर कड़ी कार्यवाही की मांग की है। पत्र में शिकायत की गयी है कि डीएम द्वारा ज़िले में विकास एवं जनकल्याणकारी कार्यों में सहयोग नहीं किया जा रहा जिसके कारण जनपद के विकास कार्य अवरुद्ध हो गए हैं। इससे भाजपा सरकार की छवि धूमिल हो रही है।

ये भाजपा जिलाध्यक्ष तो किशोर से कुकर्म का प्रयास करने वाले अपराधियों को बचाने में जुट गया! (देखें वीडियो)

बलिया में नाबालिग छात्र को अगवाकर दुष्कर्म करने की कोशिश के मामले में पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि भाजपा जिलाध्यक्ष ने आरोपियों से समझौता करने के लिये दबाव डाला है. पीड़ित बच्चे के चाचा ने भाजपा के जिलाध्यक्ष विनोद शंकर दूबे पर आरोपियों से भाजपा कार्यालय में दबाव डालकर सुलह करवाने का आरोप लगा दिया.. पीड़ित के चाचा का आरोप है कि भाजपा जिलाध्यक्ष ने भाजपा कार्यालय में बुलाकर आरोपियों से सुलह करने का दबाव बनाते हुए कहा कि सुलह कर लो नहीं तो कुछ नहीं बिगाड़ पाओगे, सरकार मेरी है..

न्याय के लिए भटक रहा बांदा का एक पत्रकार, हमलावर दबंग आज भी दे रहे धमकी

बांदा। बांदा शहर के छोटी बाजार निवासी पत्रकार मनोज गुप्ता लखनऊ से प्रकाशित दैनिक ‘स्पष्ट आवाज’ से मान्यता प्राप्त पत्रकार (जिला संवाददाता) हैं। 8 अगस्त को रक्षाबंधन के दिन उनके पडोस मे रहने वाले दबंग बल्लू गुप्ता ने एक दर्जन परिजनों के साथ दिनदहाड़े उनके घर में घुसकर श्री गुप्ता और उनके पुत्रों की पिटाई की, तोड़फोड़ की। घर में मौजूद महिलाओं ने हमलावरों से जान बचाई। हमलावर उनके घर से सैम्संग का मोबाइल और 1226 रूपये भी लूट ले गए। पीड़ित पत्रकार मनोज ने हमलावरों के विरूद्ध रिपोर्ट दर्ज किए जाने के लिए कोतवाल डीपी तिवारी को तहरीर दी।

नौकरशाही ने खूब कराई योगी सरकार की किरकिरी

अजय कुमार, लखनऊ

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार का छह माह का कार्यकाल पूरा हो चुका है। प्रदेश की जनता पहली बार एक संत की सत्ता का अनुभव प्राप्त हासिल रही हैं। संत की सत्ता के कई अच्छे पहलू हैं तो कुछ खामियां भी नजर आ रही है। पिछली सरकारों के मुकाबले इस सरकार के कामकाज का तरीका काफी बदला-बदला है। विकास का प्राथमिकता दी जा रही है। भयमुक्त प्रदेश बनाने के लिये अपराधियों से सख्ती से निपटा जा रहा है।

लो जी, सुदर्शन न्यूज वाले सुरेश चह्वाणके भी कर आए योगीजी का इंटरव्यू!

Ashwini Sharma : योगी जी आपसे ये उम्मीद नहीं थी… आप इस बात का तो ख्याल रखें कि आपका साक्षात्कार कौन कर रहा है… क्या आप नहीं जानते कि सुदर्शन न्यूज चैनल के मालिक सुरेश चव्हाण पर रेप का आरोप है… महिलाओं को जाल में फांसने वाले और खुद को देशभक्त बताने वाले सुरेश ने …

योगीजी की सरकार ने डेढ़ करोड़ गरीब भूखे बच्चों की खाने की थाली छीन ली!

Kamal Krishna Roy : पोंटी चढ्ढा की कम्पनी की तिजोरी भरने के लिये और मंत्री नौकरशाहों की लालच लिप्सा को शांत करने लिये योगी जी की सरकार ने इस प्रदेश में डेढ़ करोड़ गरीब भूखे बच्चों की खाने की थाली छीन ली है। प्रदेश के 75 जिलों में चल रहे 188259 आंगनबाड़ी सेंटर पर गरीब बच्चों को दिन में एक टाइम गरम खाना देने का नियम था। यह लाभ किशोरी बालिकाओं और गर्भवती व नव प्रसूता माताओं के लिये भी था। नई सरकार ने, जो गोरखपुर फरुखाबाद, इटावा में, बनारस में छोटे ताबूत सप्लाई के काम मे लगी हुई है, एक झटके में गरम ताजा खाने का सिस्टम बन्द करा कर उसके जगह पर पंजीरी देने का राज्य भर का टीका पोंटी चड्ढा की कम्पनी को दे दिया है।

सीएम योगी के मीडिया सलाहकार बने पत्रकार मृत्युंजय कुमार

सारे कयासों और नामों को धता बताते हुए मीडिया एडवाइजर पद पर पत्रकार मृत्युंजय कुमार की नियुक्ति ने सबको चौंका दिया. शलभमणि त्रिपाठी से लेकर संजय सिंह समेत करीब दर्जन भर नाम चर्चा में थे लेकिन मीडिया एडवाइजर पद पर चयन हुआ बेहद विनम्र और प्रतिभाशाली पत्रकार मृत्युजंय कुमार का. मृत्युंजय कुमार अमर उजाला के …

शलभमणि त्रिपाठी या संजय सिंह या कोई और… कौन बनेगा योगी सरकार में सूचना सलाहकार?

लगभग 10 नामों पर चल रहा है मंथन… घोषणा शीघ्र… लखनऊ। योगी सरकार को आए कई महीने बीत गये हैं। मुख्यमंत्री और सत्तारूढ़ दल की विचारधारा क्या हो, जन मानस को समाचार के रूप में क्या परोसना व संदेश देना है, यह अभी तक तय ही नहीं हो सका है। पर, सरकार अब चेत गयी है। शीघ्र ही एक सूचना सलाहकार की नियुक्ति होने वाली है। नाम लगभग तय हो चुका है। आगामी 20-25 सितम्बर तक नाम की घोषणा होना बाकी है।

अपराधी को हिरासत से भगाने वाली गाजीपुर पुलिस ने निर्दोष बुजुर्ग का मोबाइल फोन छीन लिया!

Yashwant Singh : ग़ज़ब है यूपी का हाल। अपराधी भाग गया हिरासत से तो खिसियानी पुलिस अब बुजुर्ग और निर्दोष को कर रही परेशान। मेरे बुजुर्ग चाचा रामजी सिंह का फोन ग़ाज़ीपुर की नन्दगंज थाने की पुलिस ने छीना। बिना कोई लिखा पढ़ी किए ले गए। अब बोल रहे फोन हिरासत में लिया है। शर्मनाम …

नाकारा तंत्र की बलि चढ़े मासूम?

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के संसदीय क्षेत्र गोरखपुर में 63 से भी ज्यादा नन्हे-मुन्नों की मौत की घटना ने  देश के आम नागरिकों के दिलों को झकझोर कर रख दिया लोगों के मन में यह सवाल कोलाहल मचाने लगा कि आखिर आबादी के हिसाब से दुनिया के दूसरे सबसे बड़े देश भारत और उसके सबसे बड़े सूबे उत्तर प्रदेश में स्वास्थ्य सेवाएं इतनी लचर क्यों हैं ..? कहना न होगा स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं के मामले में भारत अन्य कई देशों से काफी पीछे है. यहाँ तक की पड़ोसी देश बांग्लादेश, चीन, भूटान और श्रीलंका भी स्वास्थ्य सेवाओं और सुविधाओं के मामले में भारत से कहीं आगे हैं मेडिकल जर्नल ‘द लैनसेट’ में प्रकाशित ‘ग्लोबल बर्डेन ऑफ डिजीज स्टडी’ के अनुसार स्वास्थ्य सेवा से जुड़ी 195 देशों की सूची में भारत का 154 वें स्थान पर होना बेहद अफसोसजनक है!

कल पंचनामा की जगह एक दर्द एडिट किया!

न्यूज नेशन के आशीष जैन ने बाल संहार कांड पर यूं किया अपने दर्द का बयान… मैं भी एक पिता हूँ. एक दिल के अंदर कितने लोग रहते हैं, यह मैं जानता हूं. मुमकिन यह बातें आपके अंदर भी घूम रही हों. मैं एक न्यूज़रूम में काम करता हूँ. आप उसे अपनी सहूलियतों से उसकी संज्ञा बदल सकते हैं. खैर. आमतौर पर मैं पंचनामा एडिट करता हूँ जो शाम 6 बजे on air होता है. कल पंचनामा की जगह एक दर्द एडिट किया. एक नहीं करोड़ों आंखों को नम होते देखा. भीगे हुए लोग क्या लिखते हैं, मैं नहीं जानता. लेकिन एक हारा हुआ इंसान क्या लिखता है, यह मैं जानता हूँ. जब कलम से स्याही बाहर न निकले तो सोच लेना कि कुछ गलत है. कल ऐसा ही तो हुआ था.

गैस सिलेंडर खत्म होने के बारे में दस दिन पहले ही ‘हिंदुस्तान’ ने आगाह कर दिया था!

गोरखपुर में गैस सिलेंडर खत्म होने से तीस बच्चों की मौत के मामले में नया तथ्य यह सामने आया है कि हिदुस्तान अखबार ने गोरखपुर एडिशन में गैस सिलेंडर खत्म होने के बारे में दस दिन पहले ही आगाह कर दिया था और इससे जु़ड़ी खबर में सारे तथ्यों का हवाला दिया था. बावजूद इसके भ्रष्ट, काहिल और जनविरोधी अफसर चुप्पी साधे रहे. सामूहिक बाल संहार का इंतजार करते रहे. यहां तक कि गैस सिलेंडर खत्म होने वाले दिन भी हिंदुस्तान अखबार में एक विस्तृत खबर का प्रकाशन किया गया.

‘चड्ढा-खंडेलवाल-अग्रवाल’ माफ़िया सिंडिकेट को ध्वस्त कर पाएंगे सीएम योगी?

Surya Pratap Singh :  उ. प्र. में भ्रष्टाचार की ‘झनक़-झनक़ पायल बाजे’ की धुन में फँसी बच्चों की ‘किताबें/यूनिफोर्म’ व ‘पंजीरी’! उत्तर प्रदेश के प्राइमरी स्कूलों में अभी तक न तो किताबें और न ही यूनीफ़ॉर्म पहुँची…. ४ माह हो गए सत्र शुरू हुए। पंजीरी ख़रीद में ज़्यादा रुचि! क्या करें दृढसंकल्पित CM योगी? बड़ी चुनौती? प्राइमरी स्कूलों की हालात पहले से ख़स्ता थे… सबको भरोसा था कि नयी सरकार के आने से हालात बदलेगें लेकिन सब ढाक के तीन पात….

योगी राज में शिक्षा मित्रों ने किया ऐलान- ‘हम बन जाएंगे मुसलमान!’ (देखें वीडियो)

अपनी नौकरी के लिए संघर्षरत शिक्षा मित्रों ने लगता है भाजपा वालों की कमजोर नस पकड़ ली है. तभी तो ये शिक्षा मित्र न्याय न मिलने पर मुसलमान बन जाने का ऐलान कर रहे हैं. इस वीडियो में साफ तौर पर शिक्षा मित्र कह रहे हैं कि अगर उन्हें उनका हक नहीं मिला तो वे मुसलमान बनकर ‘अल्ला हो अकबर’ कहेंगे-करेंगे. संबंधित वीडियो देखने सुनने के लिए नीचे क्लिक करें :

योगी राज में सामान्य वर्ग की गरीबों बेटियों को मिलने वाले 20 हजार रुपये के शादी अनुदान पर वज्रपात

प्रदेश सरकार के बजट में किसान ऋण माफी का इतना दबाव रहा है कि एक और प्रमुख जन कल्याणकारी योजना से सरकार ने हाथ खींच लिया है। निर्धन अभिभावकों को उनकी पुत्रियों के विवाह पर मिलने वाले शादी अनुदान को सरकार ने बंद करने का फैसला ले लिया है। प्रदेश सरकार के इस फैसले से लाखों अभिभावकों का सपना चूर हो जायेगा। जिन्होंने विवाह के बाद शादी अनुदान के लिए आवेदन कर रखा था या आवेदन करने की तैयारी में थे। शादी अनुदान के रूप में गरीब अभिभावक को 20 हजार रुपये की आर्थिक सहायता मिल जाया करती थी। जिससे उनका कर्ज कुछ कम हो जाया करता था।

योगी राज में भी पोंटी ग्रुप का जलवा, भाजपा नेता ‘पोंटी प्रेम’ में फंसे!

अजय कुमार, लखनऊ

शराब ब्रिकी लक्ष्य में 1.5 हजार करोड़ का इजाफा… उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सामाजिक सुधार के बड़े-बड़े दावे करती है, लेकिन जब सरकारी खजाना भरने की बात आती है तब उसके मापदंड बदल जाते हैं। वह भी पूर्ववर्ती सरकार के ही नक्शे कदम पर चलती है। शायद इसी लिये अखिलेश सरकार के मुकाबले योगी सरकार ने आबकारी नीति में बिना किसी बदलाव के दारू से डेढ़ हजार करोड़ रूपए की अतिरिक्त धनराशि जुटाने का लच्क्ष निर्धारित किया है। वितीय वर्ष 2016-2017 के लिये अखिलेश सरकार ने शराब से 19 हजार करोड़ का राजस्व संग्रह का लक्ष्थ रखा था, जिसे योगी सरकार ने 2017-2018 के लिये 20 हजार 593 करोड़ 23 लाख रूपये निर्धारित किया है।

यूपी में ‘ईमानदार’ मुख्यमंत्री के मुफ़्तख़ोर ‘भ्रष्ट’ मंत्री!

Surya Pratap Singh : उ.प्र. में ‘ईमानदार’ मुख्यमंत्री के मुफ़्तख़ोर ‘भ्रष्ट’ मंत्री…. उत्तर प्रदेश में कुछ भ्रष्ट मंत्रियों के स्टाफ़ व आगंतुकों के खाने-पीने व रहने के ख़र्चे कौन उठाता है ? यह एक गोपनीय जाँच का विषय है, इंटेलिजेन्स एकत्र की जानी चाहिए। आप जान कर हैरान हो जाएँगे कि सड़क निर्माण से जुड़े दो विभागों में से अपेक्षाकृत ‘छोटे बजट’ वाले विभाग के मंत्री के ५०-६० स्टाफ़ के रहने/खाने व प्रति दिन आने वाले सैकड़ों आगंतुकों की आवभगत का लगभग रु. १० लाख प्रति माह ख़र्चे कौन उठाता है… विभागीय अधिकारी ‘लूटे’ हुए कमिशन से यह ख़र्चा उठाते हैं।

मुख्य सचिव रहते राहुल भटनागर ने सहयोगी अफसरों को बदनाम किया, कुर्सी बचाने को किए घिनौने कृत्य!

राहुल भटनागर पर आरोप है कि मुख्य सचिव रहते हुए उन्होंने न सिर्फ अपने सहयोगी अफसरों को बदनाम किया बल्कि अपनी कुर्सी बचाए रखने के लिए हर किस्म के घिनौने हथकंडे अपनाए. उदाहरण के तौर पर गोमती रिवर फ्रन्ट परियोजना के सम्बन्ध में जानबूझकर राहुल भटनागर ने अपने सहयोगी अधिकारियों को बदनाम करने की नीयत से अनियमित कार्यवाही की… कुछ प्वाइंट्स देखें…

लो जी, योगी सरकार ने वरिष्ठ राज्यकर्मियों की पीठ में छुरा घोंप दिया

श्रमिक नेता दिनकर कपूर और वर्कर्स फ्रंट ने अनिवार्य सेवानिवृत्ति के आदेश को योयी सरकार का तुगलकी फरमान बताया…

लखनऊ : योगी सरकार के मुख्य सचिव द्वारा उत्तर प्रदेश में अनिवार्य सेवानिवृत्ति का फैसला तुगलकी फरमान है जिसे वापस लिया जाना चाहिए। यह मांग प्रेस को जारी अपने बयान में यूपी वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने की। उन्होंने कहा कि सरकार ने सेवाओं में गति व दक्षता सुनिश्चित करने के नाम पर सरकारी कर्मचारियों की अनिवार्य सेवानिवृत्ति करने का जो फैसला लिया है वह एक तरह से वरिष्ठ राज्यकर्मियों की पीठ में छुरा घोंपना है।

भगवा वस्त्रधारी को सीएम बनाने का प्रयोग यूपी में भी फ्लॉप होने की ओर!

भगवा वस्त्रधारी मुख्यमंत्री का प्रयोग पहले-पहल मध्यप्रदेश में हुआ था. भारतीय जनता पार्टी ने ही दिसंबर-2003 के चुनाव उमा भारती को बतौर मुख्यमंत्री प्रोजेक्ट किया और बनाया भी. तब उमा भारती को लगा कि मध्यप्रदेश में पार्टी उनकी वजह से जीती और यह एहसास और अहंकार उन्हें पार्टी से दूर कर गया. वे एक साल भी मुख्यमंत्री नहीं रह पाईं और अदालती फैसले की आड़ लेकर हटा दी गईं.

हिस्ट्रीशीटर विधायकों के एजेंडे पर काम न करने पर बरेली की डीएम पिंकी को हटा दिया गया!

दिनेश जुयाल

Dinesh Juyal : दो हिस्ट्रीशीटर विधायकों के एजेंडे पर काम नहीं किया तो बरेली की डीएम पिंकी जोवेल को हटा दिया। इनमें एक विधायक ने मिठाई बांटी। हम तक भी पहुंची। इन्हें एक जाति विशेष के अफसर और धर्म विशेष के लोग पसंद नहीं ये भी ये बताते फिरते हैं। उधर सड़क पर अपना राज चलाने वाले भाजपा नेता की दबंगई के खिलाफ खड़ी होने पर सीओ श्रेष्ठा जी को नेपाल बॉर्डर भेज दिया।

पूर्व आईजी समेत कई लोग यूपी प्रेस क्लब से प्रेस कांफ्रेंस करते गिरफ्तार कर लिए गए!

Utkarsh Sinha : यूपी प्रेस क्लब में दलितों पर अत्याचार के खिलाफ प्रेस वार्ता कर रहे पूर्व आईजी दारापुरी सहित प्रो. रमेश दीक्षित, भाई राम कुमार और भाई आशीष अवस्थी सहित 9 लोगों को लखनऊ पुलिस ने महज इसलिए गिरफ्तार कर लिया है क्यूंकि उसे उम्मीद है कि ये लोग मुख्यमंत्री के खिलाफ प्रदर्शन कर सकते हैं…

यूपी के नए मुख्य सचिव राजीव कुमार के बुलंदशहर और लखनऊ कनेक्शन के बारे में जानिए

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार ने नवनियुक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार से प्रदेश के सूरत-ए-हाल और उनकी प्राथमिकताओं के बारे में बात की…

राजीव कुमार, यूपी के नए मुख्य सचिव

लखनऊ : इंजीनियर बाप के ब्यूरोक्रेट्स बेटे यानी 1981 बैच के आईएएस राजीव कुमार प्रथम के रूप में उत्तर प्रदेश को 51वां नया मुख्य सचिव मिल गया है। अभी तक पूर्ववर्ती सरकार की पंसद के मुख्य सचिव राहुल भटनागर से काम चला रही योगी सरकार ने अपनी पसंद का मुख्य सचिव चुनने में सौ दिन से अधिक का समय लगा दिया। प्रदेश में कई महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रह चुके मृदुभाषी, काम के प्रति गंभीर और सादगी के प्रतीक राजीव कुमार को दिल्ली से बुलाकर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई तो उन्हें इस कसौटी पर खरा उतरने के लिये सीमित समय में अधिकतम प्रयास करने होंगे।

योगी राज में भी अवैध खनन जारी, न्यायालय के आदेशों की हो रही अवहेलना

सोनभद्र 27 जून 2017 : योगी सरकार का सौ दिन का कार्यकाल प्रदेश की जनता के साथ धोखाधड़ी का रहा है। प्रदेश में सपा-बसपा के समय से जारी वीआईपी लूट के अवैध खनन के खिलाफ जनता के गुस्से का लाभ लेकर भाजपा गठबंधन ने जनपद की चारों सीटों पर विजय प्राप्त की थी। पर आज योगी राज में जनता ने देखा कि उसके साथ धोखा हुआ है। वीआईपी का रेट पहले से तीन गुना हो गया। सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट और एनजीटी के आदेशों के बाद भी सत्ता के संरक्षण में खननकर्ता नदी में पोकलैन मशीन लगाकर खनन करा रहे है, नदियों की धार को रोककर पुल बना दिए गए है, नदी के पेटे से 20 मीटर तक खनन कराया जा रहा है। यहां तक कि सेंचुरी एरिया में खनन हो रहा है। इसके खिलाफ स्वराज अभियान रिपोर्ट तैयार कर रहा है जिसे सीबीआई के निदेशक को दिया जायेगा और सुप्रीम कोर्ट में जारी याचिका में पूरक याचिका भी दाखिल की जायेगी। यह बातें आज राबर्ट्सगंज सिंचाई विभाग डाक बंगले में आयोजित पत्रकार वार्ता में स्वराज अभियान की प्रदेश कार्यसमिति सदस्य व यूपी वर्कर्स फ्रंट के प्रदेश अध्यक्ष दिनकर कपूर ने कहीं।

सौ दिन का योगी राज : ठाकुर लॉबी काफी सशक्त हुई, अफसर बेलगाम हुए!

अजय कुमार, लखनऊ
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार सौ दिन पुरानी हो चुकी है। 22 करोड़ की आबादी वाले प्रदेश की शक्ल-सूरत बदलने के लिये सौ दिन का कार्यकाल ‘ऊंट के मुंह में जीरा’ जैसा है। सौ दिन में किसी सरकार से चमत्कार की उम्मीद नहीं की जा सकती है, लेकिन कुछ मुद्दों पर तो उंगली उठाई ही जा सकती हैं। इस लिहाज से योगी सरकार के सौ दिनों का कार्यकाल कई संतोषजनक भले लगे लेकिन पूर्ववर्ती बीजेपी सरकारों से कमतर नजर आता़ गया। योगी के सत्ता संभालने के बाद जब यह उम्मीद की जा रही थी कि प्रदेश में कानून व्यवस्था में सुधार आयेगा तब अचानक कानून व्यवस्था अखिलेश काल से भी बुरे दौर में पहुंच गई। जिस जनता ने अखिलेश राज में प्रदेश में व्याप्त जंगलराज के चलते सत्ता से नीचे उतार दिया था, वही जनता यह सोचने को मजबूर हो गई कि कहीं उसका फैसला गलत तो नहीं था। हर तरह के अपराध में इजाफा हो गया था। छोटी-छोटी आपराधिक घटनाओं की बात तो दूर थी, खून-खराबा, दंगा-फसाद, लूटपाट, गैंगरेप जैसे जघन्य अपराधो ंसे अखबार के पन्ने रगे मिल रहे थे। यह सब तब हो रहा था जब सीएम योगी अपराधियों को उलटा लटका कर सीधा करने के दावे कह रहे थे।

केंद की मोदी व उत्तर प्रदेश की योगी सरकारें हाथ धोकर पत्रकारों के पीछे पड़ी हैं!

पत्रकारों के आवास आवंटन निरस्तीकरण का आदेश वापस ले योगी सरकार… सर्वविदित है केन्द्र की मोदी सरकार ने लघु-मध्यम समाचार पत्रो के प्रकाशन पर RNI एवम् DAVP के माध्यम से शिकंजा कसकर पत्रकारों के लिए कब्र खोद दी है। दूसरी ओर उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने पत्रकारों को आवास आवंटन में अखिलेश सरकार के फैसले को  जबरन पत्रकारों पर थोप दिया है। जिसके परिणामस्वरूप पत्रकार घर से बाहर सड़क पर आकर दर-दर भटकने को मजबूर हो जायेंगे। लोकतन्त्र के सजग प्रहरियों का उत्पीड़न करना क्या न्याय संगत है?

मोदी-योगी राज में चोरी और चोरों का बोलबाला!

Yashwant Singh : अभी टिकट बुक कर रहा था, तत्काल में। प्रभु की साइट हैंग होती रही बार बार। paytm ने अलग से पैसा लिया और सरकार ने अलग से टैक्स वसूला, ऑनलाइन पेमेंट पर। ये साले भजपईये तो कांग्रेसियों से भी बड़े चोट्टे हैं। इनको रोज सुबह जूता भिगो कर पीटना चाहिए। मुस्लिम गाय गोबर पाकिस्तान राष्ट्रवाद के फर्जी मुद्दों पर देश को बांट कर खुद दोनों हाथ से लूटने में लगे हैं। ये लुटेरे खटमल की माफिक जनता का खून पी रहे हैं, थू सालों।

भ्रष्ट और चापलूस अफसरों ने सीएम योगी के हाथों आईएएस एनपी सिंह और आईपीएस सुभाष चंद्र दुबे के करियर का कत्ल करा दिया!

सुभाष चंद्र दुबे तो लगता है जैसे अपनी किस्मत में लिखाकर आए हैं कि वे सस्पेंड ज्यादा रहेंगे, पोस्टेड कम. सुल्तानपुर के एक साधारण किसान परिवार के तेजस्वीय युवक सुभाष चंद्र दुबे जब आईपीएस अफसर बने तो उनने समाज और जनता के हित में काम करने की कसम ली. समझदार किस्म के आईपीएस तो कसमें वादे प्यार वफा को हवा में उड़ाकर बस सत्ता संरक्षण का पाठ पढ़ लेते हैं और दनादन तरक्की प्रमोशन पोस्टिंग पाते रहते हैं. पर सुभाष दुबे ने कसम दिल से खाई थी और इसे निभाने के लिए अड़े रहे तो नतीजा उनके सामने है. वह अखिलेश राज में बेईमान अफसरों और भ्रष्ट सत्ताधारी नेताओं की साजिशों के शिकार होते रहे, बिना गल्ती सस्पेंड होते रहे.

यूपी के दागी चीफ सेक्रेट्री की विदाई तय, केंद्र से लौटे राजीव कुमार सिंह को मिलेगी जिम्मेदारी

यूपी के दागी नौकरशाह और चीफ सेक्रेट्री राहुल भटनागर ने भाजपा राज में भी कई महीने तक निर्विरोध बैटिंग कर ली, यह उनके करियर की प्रमुख उपलब्धियों में से एक माना जाना चाहिए. जिस राहुल भटनागर के कार्यकाल में और जिस राहुल भटनोगर के अनुमोदन से यूपी में दर्जनों गोलमाल हुए, वही राहुल भटनागर आज भी खुद को पाक साफ दिखाकर मुख्य सचिव की कुर्सी हथियाए हुए हैं.

भटके मुस्लिम युवकों को सुधारने के लिए यूपी एटीएस का ‘डी-रेडिक्लाइजेशन’ अभियान!

संजय सक्सेना, लखनऊ

युवा अवस्था में भटकाव लाजिमी है। कभी गलत संगत तो कभी बिगड़ी सोच के कारण युवा अपने मार्ग से भटक जाता है। ऐसा नहीं है कि पूरा युवा समाज ही भटकाव से जूझ रहा हो, ऐसे युवा भी हैं जो अपनी स्पष्ट और लक्ष्य भेदी सोच के कारण सही राह पर चलते हुए अपने कुल और देश का नाम रोशन करते हैं, लेकिन इससे इत्तर कड़वी सच्चाई तो यही है कि भटकने वाले युवाओं का ग्राफ काफी ऊपर है। शायद ही कोई ऐसा युवा होगा जो दावे के साथ कह सके कि उसकी जिंदगी में भटकाव वाला मोड़ कभी नहीं आया। हॉ,सच्चाई यह भी है कि समय के साथ परिपक्त होने पर कुछ युवा संभल जाते हैं और जो नहीं संभल पाते हैं, उनके पास ठोकरे खाने के अलावा कुछ नहीं बचता है। ऐसे भटके हुए युवा घर-परिवार के लिये तो मुश्किलें पैदा करते ही हैं समाज को भी इनसे खतरा रहता है। समाज में जो अपराध बढ़ रहा है उसके पीछे ऐसे ही भटके हुए युवा हैं, जिस देश की 65 प्रतिशत आबादी युवा हो, अगर वह गलत रास्ते पर चल पड़े तो उस देश को कोई बचा नहीं सकता है। यह बात हम-आप सोचते और समझते तो हैं, लेकिन इससे निपटने के लिये कभी उपाय नहीं तलाशे गये। अगर तलाशे भी गये तो वह सीमित  और कमजोर थे।

आईएएस से वीआरएस लेकर भाजपा नेता बने सूर्य प्रताप सिंह ने उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या को ‘झुट्ठा’ करार दिया

Surya Pratap Singh : यूपी की 63% सड़कें गड्ढामुक्त का भी सच जानना है तो ….केवल एक सड़क ही देख लो, जिसका सीधा सम्बन्ध दो VIP क्षेत्रों से है …. क्यों शर्म नहीं आती, झूठ बोलने में? लोक निर्माण विभाग के मंत्री और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या के लोकसभा की सड़क जो प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र की ‘बनारस-इलाहाबाद’ लिंक मार्ग है, को ही देख लो… स्थानीय लगभग 100 से गाँवो के लिये यह लिंक रोड मुख्यमार्ग है।

यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर संवाददाता सम्मेलन की यह तस्वीर हो रही वायरल

Dilip Mandal : यह बीजेपी कार्यकर्ताओं का सम्मेलन नहीं है. यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर हुए संवाददाता सम्मेलन की ताजा तस्वीर है. ये सब निष्पक्ष पत्रकार हैं. इनका बताया हुआ जानकर हम अपने विचार बनाते हैं. आपके प्रिय चैनल का रिपोर्टर भी यहीं है. भारतीय मीडिया एक पोंगापंथी सवर्ण पुरुष है. यूपी के मुख्यमंत्री निवास पर संवाददाता सम्मेलन की वायरल हो रही तस्वीर. पहचानिए अपने प्रिय चैनल और अखबार के पत्रकार को. वह यहीं कहीं है. गौर से देखिए. यूपी के सीएम निवास पर संवाददाता सम्मेलन की तस्वीर.

एवार्ड लेते समय यशवंत ने योगी के कान में क्या कहा, देखें वीडियो

योगी के हाथों पुरस्कार लेने पर वामपंथी खेमे के कुछ पत्रकारों द्वारा विरोध किए जाने का यशवंत ने कुछ यूं दिया विस्तार से जवाब…

Yashwant Singh : लोकमत अखबार के यूपी के संपादक आनंदवर्द्धन जी का एक दिन फोन आया. बोले- ”हर साल की तरह इस बार भी लोकमत सम्मान का आयोजन करने जा रहे हैं हम लोग. हमारी जूरी ने ‘जनक सम्मान’ के लिए आपको चुना है क्योंकि भड़ास4मीडिया एक बिलकुल अनोखा प्रयोग है, मीडिया वालों की खबर लेने-देने के वास्ते जो भड़ास4मीडिया की शुरुआत हुई है, उसके लिए आप सम्मान योग्य हैं.”

रिवर फ्रंट के हर काम को वित्तीय स्वीकृति देने वाले चीफ सेक्रेटरी राहुल भटनागर पर मेहरबानी क्यों?

रिवर फ्रंट की शुरुआत के पहले चरण में वित्तीय मंजूरी की शुरुआत जिसने की वे थे प्रमुख सचिव वित्त राहुल भटनागर, जब परियोजना में दो गुने से ज्यादा रुपये की धनराशि देने की फाइल चली तो वित्तीय स्वीकृति देने वाले अधिकारी थे प्रमुख सचिव वित्त राहुल भटनागर, पिछले नौ महीनों से रिवर फ्रंट की मॉनीटरिंग करने वाले चीफ सेक्रेटरी हैं राहुल भटनागर, मजे की बात ये कि अब जब रिवर फ्रंट के घोटालों की बात हो रही है तो भी घोटालेबाजों के सबसे बड़े अफसर हैं राहुल भटनागर, सरकार के इस फैसले पर लोग उठा रहे सवाल कि जो सबसे बड़ा दोषी, वह कैसे रह सकता है चीफ सेक्रेटरी के पद पर और कैसे करवा सकता है निष्पक्ष जांच…

दागी आईएएस अधिकारी राहुल भटनागर