दिल्ली की पत्रकार निरुपमा पाठक की मौत मामले में प्रियभांशु रंजन बरी

रांची : पत्रकार निरुपमा पाठक मौत मामले में कोडरमा की निचली अदालत ने उसके कथित प्रेमी प्रियभांशु रंजन को बरी कर दिया है।

कोडरमा की निचली अदालत में निरुपमा पाठक मौत मामले की सुनवाई पूरी हो गयी और अदालत ने निरुपमा के कथित प्रेमी प्रियभांशु रंजन को बरी कर दिया। अदालत में प्रियभांशु पर निरुपमा को आत्महत्या के लिए उकसाने का आरोप सिद्ध नहीं हो सका।

अदालत का फैसला आने के बाद प्रियभांशु रंजन ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस मामले में चार लोगों को आरोपी बनाया गया था, अदालत ने उन्हें बरी कर दिया है, लेकिन मामले के तीन अन्य आरोपी निरुपमा की मां सुधा पाठक, पिता धर्मेन्द्र पाठक और समरेंद्र पाठक के खिलाफ पुलिस अभी पूरी तरह से आरोप पत्र भी दाखिल नहीं कर चुकी है, जबकि इन तीनों की याचिका उच्चतम न्यायालय में भी खारिज हो चुकी है।

गौरतलब है कि 29 अप्रैल 2010 को दिल्ली की दैनिक अखबार की पत्रकार निरुपमा पाठक की कोडरमा स्थित अपने पैतृक आवास पर संदेहास्पद सिथति में मौत हो गयी थी और इस मामले में निरुपमा के परिजनों ने उसके कथित प्रेमी प्रियभांशु को आरोपी बनाया था। प्रियभांशु भी दिल्ली में एक प्रतिष्ठित संस्थान में पत्र्ाकार के रुप में कार्यरत था।

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएंhttps://chat.whatsapp.com/BPpU9Pzs0K4EBxhfdIOldr
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *