चुनाव खत्म, चैनल बंद, नौकरी गई : ‘खबरें अभी तक’ से है ये खबर, छंटनी-बंदी के लिए नोटिस जारी

हरियाणा में चुनाव क्या खत्म हो गया, हरियाणा केंद्रित न्यूज चैनलों में उलटफेर का तगड़ा दौर शुरू हो चुका है. ‘फोकस टीवी हरियाणा’ में छंटनी की सूचनाओं के बीच एक नई खबर ‘खबरें अभी तक’ चैनल से है. हरियाणा केंद्रित इस न्यूज चैनल के प्रबंधन ने एक नोटिस चस्पा कर दिया है कार्यालय में कि समस्त स्टाफ के लोग नवंबर के महीने को एक माह का नोटिस पीरियड समझें और चैनल को अलविदा कह दें. इस नोटिस के मिलने से चैनल में काम करने वाले परेशान हो गए हैं. हरियाणा प्रदेश की सियासत में आई भूचाल की आहट प्रदेश के न्यूज चैनलों में दिन-रात काम करने वाले पत्रकारों के घरों तक पहुँच रही है.

पहले तो चुनाव के दौरान बिना ऑफ के 12 घंटों की लम्बी शिफ्ट और अब नतीजों के बाद मिली हार का ठीकरा चैनल में काम करने वाले पत्रकारों  पर ही फोड़ा जा रहा है. गुडगांव से चलने वाले हरियाणा का रीजनल न्यूज़ चैनल “ख़बरें अभी तक” ने एक साथ सभी स्टाफ को महज एक नोटिस जारी कर टाटा बाय-बाय करते हुए हाल ही में बंद हुए महुआ न्यूज़ चैनल की याद दिला दी. ये चैनल “समस्त भारतीय पार्टी ” के अध्यक्ष सुदेश अग्रवाल के अधीन चलाया जा रहा है. करीबन  दो साल पहले ही ये चैनल खरीद कर चैनल के पूरे स्टाफ को “समस्त भारतीय पार्टी” के प्रसार से जुडी खबरें चलाने के लिए तुगलकी फरमान जारी कर दिया गया था.

बेचारे पत्रकार इस उम्मीद से काम करते रहे रहे कि विधानसभा चुनाव में यदि हरियाणा प्रदेश में एक भी सीट पार्टी के खाते में आ गई तो चैनल के अच्छे दिन आ जाएंगे… चुनाव से पहले सब कुछ ठीक चल रहा था लेकिन चुनावी नतीजों में पार्टी की करारी हार के साथ -साथ जमानत जब्त होने की टीस के चलते अब इस चैनल को आर्थिक तंगी के नाम पर छंटनी की ओर धकेला जा रहा है. कहा जा रहा है कि नए सिरे से शुरू किया जाएगा चैनल, जो कि एक सब्जबाग ही है. अब तक के न्यूज चैनल के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब इस तरह का नोटिस चिपका कर सबको नौकरी से निकालने की तारीख मुकर्रर कर दी गई. अगर चैनल मालिक अपनी तरफ से चैनल बंद करना चाह रहा है तो पत्रकारों को तीन महीने की एडवांस सैलरी देनी चाहिए. तकरीबन बारह लोगों को 30 तारीख को बुला कर कह दिया गया कि आप कल से ना आएं जबकि बाकी के कर्मचारी जो दो साल से भी ज्यादा पुराने हैं, अब प्रधानमंत्री से लेकर सूबे के नए मुखिया तक इस मामले में जाने का मन बना रहे हैं.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “चुनाव खत्म, चैनल बंद, नौकरी गई : ‘खबरें अभी तक’ से है ये खबर, छंटनी-बंदी के लिए नोटिस जारी

  • राघव says:

    Iske owner pe case hona chaiye……aur ek salah yaha ke karamchariyon ke liye ye mudda capt. Abhinayu ko forward karo aur modi ki website pe dalo bht jaldi solve ho rahe h aise case.aur inke aise kaam par to channel ka regst. Turant cancel hoga.

    Reply
  • :sigh: I have read twice a notice… bt there is no information like that channel is going to shut down……. den y everyone is saying it is going to shut down…….. its a company decision to reinaugrate it……….

    Reply
  • SBP ka CHunav chinf kainchi hai ..jo jb pradesh ke logon ki jeben nhi kaat payi to Manniy Sudesh ji ne ptrakaron par hi chali di hai

    Reply
  • राघव says:

    ख़बरें अभी तक के कायर कर्मचारी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री तक क्या वो अपनी आवाज खुद चैनल में नहीं उठा सकते….
    आलम यह है की सभी के सभी चाहे संपादक हो या निम्न स्तर के कर्मचारी…अपनी नोकरी बचाने में कुछ भी करने को तैयार है…।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *