झारखंड के श्रम मंत्री बोले- मजीठिया के लिए साहस के साथ पत्रकार आगे आएं, सरकार उनके साथ

इंडियन मीडिया वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में कई पत्रकार हुए सम्मानित

रांची । इंडियन मीडिया वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन ने एक प्रस्ताव पास कर सभी राज्य सरकारों से मांग की है कि पत्रकारों के असामयिक निधन पर उनके आश्रितों को समुचित आर्थिक मदद और परिवार को जीविका के लिए स्थाई साधन उपलब्ध करायी जाये। मई दिवस के मौके पर इंडियन मीडिया वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन की रांची और देवघर में आयोजित बैठक में इसके अलावा पत्रकारों के हितों में और भी कई प्रस्ताव पास किये गये। पारित प्रस्तावों में पत्रकारों के उन्नयन और ट्रेनिंग के लिए समय समय पर परिभ्रमण, टीवी पत्रकारों को श्रम कानून के दायरे में शामिल करने और इसके लिए अलग से आयोग के गठन, केंद्रीय विद्यालयों में पत्रकारों के बच्चों के लिए सीटें आरक्षित करने, पत्रकारों के लिए कैलाश मानसरोवर और अमरनाथ यात्रा के लिए अलग से सरकारी व्यवस्था करने की मांग की गई है। इसके अलावा यूनियन ने सरकार से पत्रकारों की प्रताड़ना से जुड़े मामलों को स्पीडी ट्रायल के जरिये निपटाने की भी मांग की है।

इससे पूर्व रांची के बीएनआर चाणक्य में इडियन मीडिया वर्किंग जर्नलिस्ट यूनियन के तत्वाधान में आयोजित अंतर्राष्ट्रीय मीडिया समिट में देश विदेश के पत्रकारों ने विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की। इस मौके पर जहां पत्रकारों की दशा और दिशा पर विभिन्न वक्ताओं ने अपने विचार प्रकट किये वहीं कई प्रशासनिक अफसरों, शिक्षाविदों, समाजसेवियों समेत कुछ पत्रकारों को एक्सीलेंसी अवार्ड से सम्मानित भी किया गया। कार्यक्रम में झारखंड विधानसभा के स्पीकर दिनेश उरांव मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए, जबकि झारखंड के श्रम मंत्री राज पलिवार विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

इस मौके पर मुख्य अतिथि झारखंड विधानसभा के अध्यक्ष दिनेश उरांव ने कहा कि पत्रकारिता के पेशे को समुचित सम्मान दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्तमान समय में पत्रकारों के सामने कई चुनौतियां हैं, जिसका सामना करने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि पत्रकारों को भी अपने कर्तव्य के प्रति सचेत रहना होगा। सम्मेलन के विशिष्ट अतिथि झारखंड के श्रम मंत्री राज पालिवार  ने कहा कि पत्रकारों के हित में मजीठिया वेज बोर्ड की अनुशंसाएं लागू करने के लिए मीडिया घरानों पर सरकार दबाब बनायेगी। इसके लिए मीडियाकर्मियों को भी साहस करके आगे आना होगा । उन्होंने कहा कि पत्रकारों के हितों का संरक्षण हर हाल में होगा। समारोह में पूर्व स्वास्थ्य मंत्री और इंटक नेता राजेंद्र प्रसाद सिंह भी थे। उन्होंने कहा कि पत्रकारों के हित में सरकार को मजीठिया वेज बोर्ड पर तुरंत फैसला लेना चाहिए।

इस मौके पर सुदर्शन वर्ल्ड के कार्यकारी निदेशक बीके सुदर्शन को सोशल सेक्टर में उल्लेनीय सेवा के लिए एक्सीलेंस अवार्ड से सम्मानित किया गया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि सुदर्शन ग्रुप द्वारा संचालित सभी स्कूलों में मीडिया के लोगों के बच्चों को फीस पर पचास फीसदी रियायत दी जायेगी और जरुरत मंद मीडियाकर्मियों की मदद केलिए उनका संगठन हमेशा आगे रहेगा। समारोह में दिल्ली से पहुंचे वरिष्ठ टीवी पत्रकार उदय चंद्र सिंह ने पत्रकारों के प्रशिक्षण पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि इसके लिए सरकार के साथ साथ पत्रकार संगठनों को भी आगे आने की जरूरत है। जी मीडिया के हर्ष वर्धन द्विवेदी ने कहा कि आज जबकि पत्रकारिता व्यवसाय का रूप ले चुकी है, जरूरत इस बात की है कि पत्रकार अपने लक्ष्य से ना डिगें। इस मौके पर उल्लेखनीय सेवा के लिए कई पत्रकारों और समाजसेवियों को सम्मानित भी किया गया। सम्मान पाने वालों में दिल्ली के वरिष्ठ टीवी पत्रकार उदय चंद्र सिंह, जी मीडिया के हर्षवर्धन द्विवेदी, आईनेक्सट रांची के संपादक शंभुनाथ चौधरी, राकेश कुमार, अरविंद पांडेय, आनंद कौशल, रविकांत सिंह, आरती बेहरा, रांची दूरदर्शन केंद्र के निदेशक पीके झा शामिल थे।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *