SC admits PIL on Job losses in Media

Supreme Court Admits Journalists’ Unions’ PIL Challenging Job Losses

A Supreme Court Bench of Justices N.V.Ramana, Sanjay Kishan Kaul and B. R.Gavai today admitted a Writ Petition urging the Apex Court to suspend with immediate effect all terminations, resignations, wage deductions and directions to go on leave without pay that have taken place in the media after the announcement of the nation-wide lockdown.

While admitting the Writ Petition, filed by the National Alliance of Journalists, the Delhi Union of Journalists and the Brihanmumbai Union of Journalists, the court issued notice to the respondents, the Union Government, the Indian Newspaper Society and the News Broadcasters Association, giving two weeks’ time to file a reply.

Senior Counsel Colin Gonsalves appeared for the Petitioner Unions.

PRESS RELEASE

इसे भी पढ़ें-

मीडिया कंपनियों के छंटनी करने पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र से जवाब तलब किया

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “SC admits PIL on Job losses in Media”

  • यह मुद्दा उठा कर आप लोगों ने बहुत अच्छा काम किया है मीडिया मालिक कोरोना की आड़ मैं एम्प्लॉएंस की नौकरी खा रहें हैं और उनकी सुनने वाला कोई नहीं था . आप सब का बहुत बहुत धन्यवाद् की लड़ाई मैं आप लोगों के साथ खड़े हैं . मीडिया मालिक एम्प्लॉएंस को सैलरी मैं भी कटौती कर रहें हैं इस वक़्त उनको एम्प्लॉएंस का साथ देना चाहिए था तो वह और उनकी नौकरी खा रहें हैं

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *