मेरे घर में 4 बोतल दारू है! :)

Yashwant Singh : मेरे घर में 4 बोतल दारू है। पिछले 2 दिनों में 3 मित्रों ने दिए हैं ये कीमती उपहार। इतना माल इकट्ठा देखकर मन आध्यात्मिक हो गया है। सोच रहा हूँ ये पी भी लूंगा तो क्या हो जाएगा, नहीं पियूँगा तो क्या खो जाएगा।

सो सुबह सबेरे तय किया हूँ कि बिना परिश्रम हाथ लगे इस स्टॉक को छूआ नहीं जाएगा, ये एवें ही पड़ा रहेगा। मैँ पूरा जोर लगाकर भूलने की कोशिश करूंगा कि मेरे पास 4 बोतल मुफ्त में मिली दारू रखी है।

मैं पूर्व की भांति शाम को सब्जी लेने जाऊंगा और तेज कदम बढ़ाते हुए ठेके से परिश्रम पूर्वक दस रुपए अतिरिक्त योगी टैक्स न देकर MRP में ही पव्वा खरीद कर अन्टी में खोंस लूंगा।

घर रखे इन बोतलों का क्या करना है, संत ऋषि मुनि जंता जन बताएं!

(नोट- उपरोक्त वचन उपभोक्ता की वर्तमान मनःस्थिति में लिपिबद्ध किया गया है। आखिरी फैसला उपभोक्ता शाम की मनःस्थिति के आधार पर लेगा क्योंकि उपभोक्ता डेमोक्रेटिक किस्म का है। वह अपने मन में चलने वाले विविध विचारों भावों को तन्मयता से सुनता है और फिर आखिरी निर्णय मौसम मूड मन माहौल की खुफिया रिपोर्टों के अध्य्यन के बाद लेता है। नोएडा में सूर्यास्त के बाद बारिश बर्फबारी के आसार हैं, इसकी तस्दीक वाट्सअप पदस्थ पियक्कड़ जनों के महफ़िल ग्रुप से हो रही है। इसलिए आप लोग अपनी प्रतिक्रियाएं सूर्यास्त से पहले ही दे देवें। उसके बाद आए कमेंट्स को उसी किस्म का स्पैम मानकर डिलीट मार दिया जाएगा जैसे पियक्कड़ों के बीच में नॉन-पियक्कड़ समय पूर्व ही समस्त चिखना उदरस्थ कर लेने के चलते दो तीन पैग हींच चुके पियक्कड़ों द्वारा भारी मात्रा में लात जूता गाली खाता है।)

भड़ास के फाउंडर और एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से.

उपरोक्त पोस्ट पर आए ढेरों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं-

S.K. Misra आबकारी विभाग ने घर में स्टॉक लिमिट तय कर रखी है उसका ध्यान रखना । 😁😃

Yashwant Singh हमार मेहरारू भी पीती हैं। दो बोतल उनका, दो मेरा। अब ठीक है न!

Roli Tiwari Mishra इन्हें तत्काल प्रभाव से भैरों बाबा पर चढ़ाकर…. साधु सन्यासियों में बाँट दिया जाए

Yashwant Singh काहें दिल तोड़ रहीं उपभोक्ता का। हम भी तो साधु संन्यासी हैं, स्वामी भड़ासानंद का fb पेज, वेबसाइट सब बना लिए हैं। जान लीजिए कि उपभोक्ता ही असल बाबा है इसलिए उसे ही समस्त रस का पान करने का नैसर्गिक हक़ है।

Sandeep Verma दस रुपये योगी टैक्स क्या है . बीस रुपये बहन जी टैक्स तो सुना था . यह क्या कम हो गया है .

Yashwant Singh हम नोएडा के जिस ठेके से लेते हैं, वो मिनिमम दस रुपए एक्स्ट्रा प्रति पव्वा या अद्धा या बोतल लेता है। अधिकतम डेढ़ सौ के पव्वे पर अतिरिक्त डेढ़ सौ भी वसूलता है। वह किसी से नहीं डरता। बस हमने उसे योगी जी द्वारा खुद को सम्मानित किए जाने की फोटो डालकर डरा रखा है इसलिए अक्सर mrp पर दे देता है, कभी कभी दस बीस झटक लेता है। पर बाकी जंता से तो हर हाल में टैक्स वसूलता है। चूंकि योगी सत्ता में हैं तो इसे योगी टैक्स ही कहूँगा

Sandeep Verma आपको इस टैक्स की कहानी बतानी चाहिए . मेरी जानकारी के अनुसार यह टैक्स बहन जी के काल में शुरू हुआ था . लोग कहते थे यह पैसा सीधे पार्टी फंड में जाता है .

Yashwant Singh ये कहानी बताने का अपना पूरा अधिकार आपमें निहित करता हूँ।

Girijesh Kumar शाम तक उपभोक्ता का मन डोल जाएगा, ऐसा मालूम देखलाई पड़ता है🤣

Yashwant Singh उपभोक्ता को उकसा कर निर्णय कराने की प्रवृत्ति संविधान सम्मत नहीं जान पड़ती 🙂

Ajit Singh मुफ्त में कुछ नही मिलता। There is no free lunch. अब वो लोग आपसे आत्मा ला सौदा करेंगे.

Yashwant Singh उनको भी मुफ्त में मिली थी तो थोड़ा हमको दे गए। वैसे बहुत सारे लोगों की आत्मा का सौदा तो मोदी जी ने कर रखा है। न जाने केतना पैसा में। वैसे, मुफ्त में हवा पानी आसमान धरती जीवन मृत्यु सब मुफ्त में मिलता है बाबा। कहां पड़े हैं मोदी के चक्कर में, कोई नहीं है भड़ासानंद के टक्कर में 🙂

लखन मिश्र खाली डिब्बा दिखाकर हम लोगों को दुकान तक दौड़ाने के लिए मजबूर न करें ,ऊपर से मौसम और नीचे से आग लगा रहो हो ये ठीक नहीं है भाई!

Yashwant Singh आप तो महाभारत वाले संजय जान पड़ते हैं। दूर बैठे ही अँखियों से सील तोड़कर छेद से अंदर प्रविष्ट हो मौका मुआयना कर ग्राउंड रिपोर्ट ब्रेक कर रिये हैं 🤓

लखन मिश्र जी सही पहचाना आपने , वैसे आप हमसे बड़े हैं क्यों कि जो भड़ास मीडिया में लिख देते हो वो हिंदुस्तान की मीडिया कोई कर ही नहीं सकता है ! कुछ ज्यादा लिखा हो आपके लिए तो क्षमा करना लेकिन इस तरह के दो तीन डिब्बे हमें भेजिएगा!

Nahid Fatma अफसोस आप लोग अपने मज़ाक में सन्त अध्यात्म और शरीअत का मज़ाक उड़ा रहे है

Yashwant Singh तो? रोएं का? मनुष्यता का सबसे ज्यादा नाश धर्मों ने किया है। इसलिए सभी धर्मों का नाश हो। जिसमें दुनिया की हर चीज का मजाक उड़ाने और खुद का मजाक उड़ाए जाने पर हंसने का माद्दा हो, वही महामानव है। वही संत है।

Ashutosh C Dubey सर धर्म का मतलब होता है धारण करने योग्य जो भी हो उसको धारण करना और आप जैसा धार्मिक भावनाओं से ओत प्रोत संत मैंने नहीं देखा इस नस्वर संसार की नश्वरता का सोपान जैसा आपने पहचाना है मुझे विश्वास है उसको मेरे जैसा संत ही समझ सकता है अतः आप शाम की संध्या वंदना में भक्तों द्वारा अर्पित प्रसाद का ही सेवन करे और दूसरे भक्तों को वितरित भी करे बाकी नश्वरता से भरे धार्मिक लोगो के नश्वर बातो को ध्यान न दे 😁🙏

Yashwant Singh आप Ashutosh C Dubey जी, अतिशीघ्र सम्पर्क करें मुझसे। आप इस रस के पान करने वाले सर्वाधिक उचित पात्र हैं

Ashutosh C Dubey सर आप नोएडा में है और मै जौनपुर अगर आप गाजीपुर होते तो अबतक मै अपनी गाड़ी स्टार्ट कर लेता अगर दिल्ली होता तो अबतक मेट्रो पकड़ लेता खैर मै शाम को महफ़िल में डिजिटल आरती लूंगा और आपको डिजिटल प्रसाद अर्पित करके खुद ग्रहण कर लूंगा 😀🙏

Sadique Zaman काहे इतना पीते हैं भाई। आपकी सेहत भी ठीक नहीं रहती। परहेज करें बाबा।

Yashwant Singh पीते तो एक्को नहीं बचता। हम बस खाली देखा रहे हैं 🤓

Sanjay Yadav Sir collection kijiye branded whiskey ka

Yashwant Singh ताकि घर पर छापा मरवा कर आबकारी एक्ट में अंदर करवा सकें आप 🤓

Sanjay Yadav Sir mere pass rakhwa dijiye safety ke liye

Kumar Sahil दुनिया की बुराई और विष जल्द खत्म कर दें। बड़ी जिम्मेदारी है।

Yashwant Singh मैँ अपने कंधे पर महसूस कर रहा हूँ भाई, ये महती जिम्मेदारी।

Kumar Sahil शानदार दद्दा। हमें चाहिए महंगी शराब से आज़ादी😊

Yashwant Singh जे बात। आज़ादी आज़ादी। शिवाज़ रीगल से आज़ादी। ब्लेंडर्स प्राइड से आज़ादी …. 😊

Anand Agnihotri मैं हार्टअटैक का शिकार हूं घर में पड़ा हूं कृपया यह बदले मुझे भेज दें ताकि मैं इनका सेवन कर और अपना खून पतला करूं

Yashwant Singh खून पतला नींबू पानी से होता है भाई। इससे तो कोलेस्ट्रॉल बढ़ेगा बीपी बढ़ेगा। हार्ट अटैक का रिस्क बढ़ेगा। हमें आपकी जान प्यारी है इसलिए आपको एक्को बूंद न मिलेगा…

Ashish Rai Kaushik बाबा ये सब फेस बुक पर शेयर मत किया करिए। आपको आगे चलकर अध्यात्म लाइन में करियर बनाना है। आपको बाबा बनना है। करियर चौपट हो जाएगा। फिर हम जैसे चेले घंटा बजाएंगे। जब बाबा का कैरियर चौपट तो भगत तो भूखे ही मरेंगे।

Yashwant Singh बच्चा, हम थोड़े अलग किस्म के बाबा हैं। वो बाबा क्या जो समाज से डर जाए। समाज बीमार है। असहज है। अपन मुक्त हैं। सहज हैं। स्वस्थ हैं। इसलिए निर्भय रहो। बाबा पर भरोसा रखो। बाबा वैतरणी पार जरूर लगवाएंगे। 🤓

Ashish Rai Kaushik प्रभु प्रभु प्रभु,,,,,,, दंडवत

RaJesh K. Sharma अच्छी नही देता न सही, खराब तो दे.. ज्यादा न सही थोड़ी ही सही, शराब तो दे..!! (राहत साहब का शेर का तोड़ विनम्र क्षमायाचना सहित)

Nitin Jauhari बारिश का मौसम है, तो दो- तीन यारों का भी भला कर दे। गिफ्त (दान की वस्तु) का पूरा सम्मान करके आनंद लिया जाए, वर्ना दारू और दानदाता दोनों बुरा मान जाएंगे।।।

Kumar Swasti Priye 🤔आधुनिक और तथाकथित संतों ने आध्यात्म का कम मज़ाक बनाया है जो एक नए संत भी इस आध्यात्मिक कार्यक्रम में शरीक हो रहे हैं!😜 वैसे, ये सवाब लेने में देर करना शरीयत के ख़िलाफ़ होगा।🤣😂🤣

Yashwant Singh रस पान का अधिकार सिर्फ संतों बाबाओं को है। जनता लेबरई करे और राष्ट्र हित में समय से घर जाकर टाइम पर सोकर सुबह समय से काम पर जाए

Sanjay Singh हम तो बूढ़े संत की पेटी रखे हैं, शाम को इन्हीं के शरण में रहते हैं

Mayank Rai भईया इस मौसम में दान करना बेहद कल्याणकारी होगा

Hemraj Singh Chauhan हम तो ये ही कहेंगे कि इसे कभी मित्र मंडली के बीच खोला जाए और भैरव बाबा का प्रसाद सबको हासिल हो

Y.P. Singh भाई, आप तो लालच दिला रहे हैं, वैसे आपके मित्र भी आप ही की तरह दिलदार लगते हैं।

Vivek Mathuria ये ध्यान रस है इसके सेवन के बाद ही आदमी आत्म तत्व से मुखतिब होता है. बोलो राधे राधे

Neel Kamal भाई साहब ये उपहार में मिले है अतः देने वाले व्यक्ति की भावनाओ को ध्यान में रखते हुए इनका सेवन किया जा सकता है

Sant Sameer जय हो भगवन्…आज भर सँभाल कर रखिएगा, कल हम ज़ोरदार सुझाव देंगे।

Robin Singh चार और मित्रों को बुलावा भेजा जाए .. 👍👍

Haryashva Singh Sajjan जंगल में लेकर चलते हैं। वहीं धूनी जमाकर तपस्या करते हुए विचार करेंगे कि आगे इनका क्या करना है… जय हो…

Sanjay Omar खाली डब्बा,खाली बोतल,,😂

Shravan शराब हमेशा अपने पैसे से पीनी चाहिए।

Sumer Dan सर जैसलमेर भेज दो

Vipin Singh दान कर दे आप छोटे भाइयों को बहुत कृपा होगी 😊

पंकज सिंह महर बीच वाली बोतल मुझे भेज दो।

Gaurav Prajapati बड़के भईया भय, लोभ, लालच से परे और बेहद ईमानदारी वाली निशुल्क राय यह है कि चारों बोतल लेकर देहरादून आ जाओ…!!
😂🤪😝😍🤓🤪😜

Pawan Tailor सही कहे हो भईया, एसन उपहार को सहेजकर ही रखा जाना चाहिए, कमस कम तब तक, जब तक कि कोई हमार जैसन पियक्कड़ साथ में ना बैठे…👍

Nimish Kumar Gaazaabe likhe ho👍👏👏👌👌

Anurag Pandey हमारे जैसे किसी गरीब ब्राह्मण को बुलाकर पिला दीजिए ,,,,भईया ,,,,,

Pankaj Srivastava भाई नीतीश की चले तो आपके ऐसे पोस्टों पर नजर डालना भी गुनाह की श्रेणी में डाल दें।

Umashankar Kailash Singhal शिवाज एक लीटर की तो जुगाड़ (2000/-)मैंने भी पकड़ ली थी अभी एक.

Sunil Sharma ये अजीम गुनाह है, इतने खम्भे दिखा कर जनता जनार्दन का ईमान डुलाया जा रहा है

Dharmendra Agrawal सहाब शाम तक बारिश का इंतजार क्यों, हमारे यहाँ तो बारिश हो रही है, जरा दो चार फुहार इसकी भी बरसा दो

Manish Sharma बुराई जितनी जल्दी ख़त्म हो उतना ही बेहतर है ..

Tweet 20
fb-share-icon20

भड़ास व्हाटसअप ग्रुप ज्वाइन करें-

https://chat.whatsapp.com/JcsC1zTAonE6Umi1JLdZHB

भड़ास तक खबरें-सूचना इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *