अब फिर रोज खुलने लगा अजमेर का अजयमेरू प्रेस क्लब

स्थापना के 14 सालों में कई साल बंद रहने के बाद अब अजयमेरू प्रेस क्लब फिर रोजाना खुलने लगा है। अजमेर नगर निगम की ऐतिहासिक बिलडिंग गांधी भवन के उपरी तले पर अगर आप किसी भी दिन सुबह दस से शाम 5 बजे तक जाते हैं तो वहां सेवा राम मिलता है। नाम का ही नहीं काम का भी सेवा राम। शुरूआत हुई है तो अब मात्र ढाई रूपए में चाय भी मिलने लगी है। यह व्यवस्था शुरू होने के बाद से तो याद नहीं कि वहां आने वाले किसी सदस्य ने अकेले चाय पी हो। पीछे स्थित मदार गेट पर हर तरह का नाश्ता मिलता ही है। वैसे बाजार में चाय के दाम दस से पंद्रह रूपए है। काफी लम्बा अरसा बंद रहने के बाद जुलाई 2014 में क्लब फिर शुरू हुआ।

बंद क्यों रहा यह किस्सा फिर कभी। स्टेशन रोड पर रेलवे स्टेशन से थोड़ा हटकर स्थित इस प्रेस क्लब के अब तक जिले भर से करीब दो सौ से अधिक सदस्य बन चुके हैं। पत्रकारों के साथ साहित्यकारों, लेखकों, प्रबुद्ध नागरिकों के लिए भी गुंजाइश रखी गई है। इसलिए सदस्यता के भी कुछ रूप दिए गए हैं। सन् 2000 में स्थापना हुई तब इसके पहले अध्यक्ष बने दैनिक भास्कर के स्थानीय संपादक डॉ. रमेश अग्रवाल। उनके बाद नवज्योति के नरेंद्र चौहान, राजेंद्र गुंजल, नरेन राजगुरू रहे। फिर क्लब बंद हो गया। अब फिर से लोग जुटे और सर्वसम्मति से एक बार फिर डॉ. रमेश अग्रवाल को इसका अध्यक्ष बना दिया गया।

महासचिव बने जी न्यूज मरूधरा के मनवीर, पंजाब केसरी के एसपी मित्तल और हिन्दू के कमल वर्यानी उपाध्यक्ष बने हैं। पर मानना पड़ेगा क्लब जिंदा रखने के लिए फोटोग्राफर सत्य नारायण जाला और दैनिक भास्कर के वरिष्ठ पत्रकार प्रताप सनकत को जो किसी ड्यूटी की तरह बिना नागा रोजाना क्लब आते हैं और इसके लिए संसाधन जुटाते हैं। छह सात महीने में, आधा दर्जन से ज्यादा दफा सदस्य सामूहिक भोज कर चुके हैं। यह भोज कराया कुछ सदस्यों ने स्वेच्छा से। दो दफा तिरंगा झंडा भी फहरा चुके हैं। कुछ अन्य गतिविधियों के लिए कमेटियों का गठन भी किया हुआ है। वरिष्ठ पत्रकार गिरधर तेजवानी ने जहां सदस्यता छानबीन समिति संभाली है, वहीं राजेंद्र हाड़ा को विधि सलाहकार का जिम्मा दिया गया है। सबसे अधिक सक्रिय हैं लम्बे समय तक खेल खबरें देखने वाले विनीत लोहिया। लोहिया ने कैरम प्रतियोगिताओं का ऐसा आयोजन शुरू किया है कि प्रेस क्लब पर अब रोजाना दोपहर 1 से शाम 4 बजे तक बीस-पच्चीस सदस्य जुट जाते हैं।

दैनिक भास्कर में प्रशासनिक बीट संभालने वाले वरिष्ठ पत्रकार सुरेश कासलीवाल ने नए भवन की जिम्मेदारी ली है। काफी हद तक काम चल रहा है। केंद्र सरकार के जल संसाधन राज्य मंत्री सांवर लाल जाट, राज्य सरकार में महिला व बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल और स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री वासुदेव देवनानी तीनों प्रेस क्लब आ चुके हैं और यहां की मानद सदस्यता ले चुके हैं। इनसे पहले 14 साल पहले मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सबसे पहले मूर्धन्य पत्रकार प्रभाष जोशी इस क्लब की मानद सदस्यता ले चुके हैं।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की प्रतिमा लगे और उन्हीं के नाम पर बने ऐतिहासिक गांधी भवन में इस क्लब का चलने और शाम 6 बजते तक ताले लग जाने से आप समझ ही चुके होंगे कि अन्य प्रेस क्लबों जैसी दारू की परम्परा यहां नहीं है। यूं ज्यादातर सदस्यों को दारू की लत भी नहीं है। प्रेस क्लबों में क्या यह अपवाद नहीं है। शायद इसीलिए ज्यादातर अमीरों से दारू की जगह प्रेस क्लब में नया फ्रिज, नई मेज-कुर्सिया, आलमारी, कारपेट, चमकती टाइलें, टीवी, कैरम, शतरंज, वाई फाई जुटा ली गई हैं। अब टेबिल टेनिस की नई टेबलें लाने की तैयारी हैं। आई तो चौदह साल पहले भी थीं पर अब वे कबाड़ जो हो चुकी हैं।

फोटो: अजयमेरू प्रेस क्लब में हुई कैरम प्रतियोगता के प्रथम चरण के विजेता प्रेस क्लब अध्यक्ष डॉ. रमेश अग्रवाल और हौंसलों की उडान समाचार पत्र के सुनील को चल वैजयंती प्रदान करते अखिल भारतीय टेबिल टेनिस महासंघ के सचिव धनराज चौधरी। साथ खडे़ हैं प्रेस क्लब के खेलकूद संयोजक विनीत लोहिया और उपाध्यक्ष एसपी मित्तल।

अजमेर से वरिष्ठ पत्रकार और वकील राजेंद्र हाड़ा की रिपोर्ट. संपर्क: 09549155160 और 09829270160

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *