पत्रकारों के पीछे पड़े योगी, चैनल हेड इशिका सिंह और संपादक अनुज शुक्ला भी गिरफ्तार

यूपी में मीडिया वालों के बुरे दिन आ चुके हैं. सीएम योगी सबका मुंह बंद रखना चाहते हैं. वे व्यंग्य करने वाले पत्रकारों को गिरफ्तार करा दे रहे हैं. वे अपने किसी प्रकरण पर डिबेट करने-कराने वाले पत्रकारों को अरेस्ट करा दे रहे हैं.

द वायर समेत कई मीडिया हाउस में काम कर चुके और इन दिनों स्वतंत्र पत्रकार के रूप में सक्रिय प्रशांत कन्नौजिया को यूपी की पुलिस ने दिल्ली में घुसकर अरेस्ट कर लिया. प्रशांत का कुसूर ये था कि उन्होंने सीएम योगी की कथित प्रेमिका होने की बात कहने वाली युवती के वीडियो को वनलाइनर के साथ ट्वीट कर दिया था.

प्रशांत की अरेस्टिंग को लेकर चर्चा अभी शुरू ही हुई कि पता चला कि सीएम योगी की पुलिस ने योगी और युवती प्रकरण को लेकर टीवी पर एक बहस आयोजित करने वाले पत्रकारों को गिरफ्तार कर लिया. किसी नेशन लाइव नामक चैनल की हेड इशिका सिंह और इसके संपादक अनुज शुक्ला को नोएडा पुलिस ने गिरफ्तार किया. उपरोक्त दोनों गिरफ्तारी कांड में पुलिस वाले ही शिकायतकर्ता बनाए गए हैं. यानि, उपर से आदेश के बाद ही पुलिस ने पत्रकारों को पकड़ा.

नोएडा के सेक्टर 63 से संचालित एक न्यूज चैनल नेशनल लाइव न्यूज पर उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लेकर एक डिबेट संचालित करना चैनल हेड और संपादक को भारी पड़ा है. नोएडा की फेस थ्री पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है. पुलिस का दावा है कि सीएम योगी आदित्यनाथ पर बिना तथ्य और निराधार आरोप लगाए गए थे, इसी को लेकर कार्यवाही की गई है. पुलिस एक महिला पत्रकार इशिका सिंह और एक पुरुष पत्रकार अनुज शुक्ला को गिरफ्तार किया है. बिना मान्यता चैनल चलाने को लेकर भी अलग से मुकदमा किया गया है.

फिलहाल देखिए अनुज शुक्ला और इशिका सिंह की गिरफ्तारी को लेकर नोएडा पुलिस की तरफ से जारी प्रेस रिलीज…

प्रेस विज्ञप्ति

थाना फेस 3 क्षेत्रान्तर्गत स्थित बी-53 सैक्टर 65 नोएडा मे संचालित हो रहे नेशन लाइव न्यूज चैनल पर दिनांक 06.06.2019 को अपरान्ह एक पैनल चर्चा आयोजित की गयी थी। उक्त कार्यक्रम मे एक महिला के द्वारा माननीय मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार पर लगाये गये कतिपय मानहानिकारक आरोपो पर चर्चा की गयी थी। उक्त चर्चा मे मानहानिकारक आरोपो का प्रसारण बिना तथ्यो की जांच के किया गया है। उक्त चर्चा के कारण पार्टी विशेष के कार्यकर्ताओ मे रोष की भावना परिलक्षित हुई और कानून व्यवस्था पर प्रतिकूल प्रभाव पडने की संभावना उत्पन्न हो गयी। इस सम्बन्ध मे थाना फेस 3 नोएडा पर उपनिरीक्षक धर्मेन्द्र सिंह द्वारा मु0अ0सं0 629/2019 धारा 505(1)/505(2)/501/153 भादवि पंजीकृत कराया गया हैं। इसके अतिरिक्त जांच में यह भी पाया गया है कि, उक्त चैनल के पास संचालन के सम्बन्ध में कोई लाईसेन्स नही है। उक्त चैनल ‘नेटवर्क 10’ नाम के न्यूज चैनल के लाईसेन्स पर बिना अनुमति प्राप्त किये संचालित किया जा रहा है। उक्त धोखाधडी के सम्बन्ध में सहायक निदेशक , जिला सूचना कार्यालय की तहरीर पर “नेशन लाइव” चैनल के विरुद्ध थाना फेस 3, नोएडा पर मु0अ0सं0 632/19 अन्तर्गत धारा 419/420/467/468/471 भादवि पंजीकृत किया गया है। चैनल हैड इशिका सिंह व सम्पादक अनुज शुक्ला को गिरफ्तार किया जा चुका है।

इन्हें भी पढ़ें-

योगी की कथित प्रेमिका वाला वीडियो ट्वीट करने पर दिल्ली के पत्रकार प्रशांत को यूपी पुलिस ने किया गिरफ्तार

पत्रकार प्रशांत कन्नौजिया को अरेस्ट कराना योगी सरकार की इमेच्योर हरकत!

इस प्रकरण से संबंधित अन्य सभी खबरें पढ़ने के लिए इस पर क्लिक करें- BabaRaj

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “पत्रकारों के पीछे पड़े योगी, चैनल हेड इशिका सिंह और संपादक अनुज शुक्ला भी गिरफ्तार

  • Madan kumar tiwary says:

    सर यह वाकई अपराध है उच्चतम न्यायालय इसपर निर्णय दे चुका है ,उसने फ्रीडम आफ स्पीच एंव डिफेमेशन और ब्रीच आफ प्राइवेसी को डिटेल्स में बतलाया था, सच बताऊँ तो मुझे भी उस लड़की का वीडियो देखकर एकबार लगा था कि इसके ऊपर कोई कार्रवाई क्यो नही हो रही जबकि मैं योगी का आलोचक रहा हूँ, अगर लड़की ने कोई केस दायर किया होता और उसके आधार पर उसका वीडियो बनाते तब मामला दूसरा था,वैसी हालत में वह लड़की दोषी थी

    Reply
    • bahut khoob bhai…Desh ke kuchh Pattalkaron (Urban Naksals) ne jaise thhan liya hai ki Iss Sarkar ke khilaf kuchh na kuchh “Vish Vaman” karte rahna hai aur Janta ko bargalana hai..

      Reply
  • अजय सिंह says:

    नमो टीवी के पास कौन सा लाइसेन्स था?

    Reply
  • ईशिका सिंह एक फ़्रॉड है.. कम से कम उसको पत्रकार मत बोलिए.. भड़ास मे ही कई बार इसके कारनामे प्रकाशित हो चुके है.. जाने कितने लोगो का वेतन न्ही दिया इसने और उनको बेवकूफ़ बनाकर काम करवाती रही.

    Reply
  • Ishika singh is fraud lady….bhadas4media kindly check all details about her…she is a blackmailer and her college Jai shah( ajay shah) is also same like her…बहुतों का पैसा खाया है इन्होंने…राजस्थान और मुंबई मई पता करे …और employee को समय P.E. वेतन नहीं देते है …महीनो चक्कर लगवाते है ….इन फ़्रोड लोगों की तारीफ़ मत करिए …लोग भड़ास4मीडिया पर भरोसा करते hai

    Reply
  • SUBODH JAIN says:

    यशवंत भाई आप तो पत्रकारिता की गम्भीरता को भली-भाँति जानते हैं। लेकिन यह लोग स्वयं को पत्रकार बताकर जो कर रहे हैं, क्या वह सही है? बिना तथ्यों और प्रथम दृष्ट्या अपुष्ट आरोप के आधार पर किसी पर भी कुछ भी आरोप लगाकर अरविन्द केजरीवाल बन जाना कहाँ तक सही है? केवल पत्रकार लिखने मात्र से मीडिया का हिस्सा कहते हुए गैरजिम्मेदाराना व्यवहार एवं आचार दोनों ही अक्षम्य हैं।

    Reply
  • अमित मोहन says:

    यशवंत जी, इस खबर को आपके द्वारा ‘लोकना’ ठीक ही है। क्योंकि आप लोकसभा चुनावों के दौरान अपनी ही एक पोस्ट में “पांच साल राहुल गांधी को आज़माने की इच्छा जता चुके हैं”। आपकी इच्छा अधूरी रह गई अफसोस है। शायद इसीलिए आपको “चुन्ना” काट रहा है। अब अगर कल को कोई आतंकी भी ‘सरकार के खिलाफ’ (बीजेपी की सरकार के खिलाफ) कोई स्कैंडल खड़ा करने का दावा करेगा तो आप उसके भी टट्टे चाटने से बाज नहीं आएंगे। क्यों? आप भी बिक गए, कांग्रेस के हाथ? भड़ास निकालने के साथ अब कमाना भी आप सीख चुके हैं।

    Reply
  • Rajendra prasad says:

    जब भी पत्रकारों पर मुशिबत आती है तो एक वर्ग पत्रकार पर आरोप ल्सागाने का काम बाखुवी से करते है पता नही क्या मिलता है पत्रकारो की बुराई करने में। नेता देश के साथ झूठ बोलता है कमीशन खाता है तब ये पत्रकार कहा चलें जाते है।पत्रकारों के ऊपर की जा रही कार्रवाई गलत है।

    Reply
  • Ajit singh says:

    क्या यशवंत भाई , ऐसे फ़र्ज़ी , criminals ,frauds को तो पत्रकार मत बोलिये ।
    कोई भी पागल सिरफिरी औरत कुछ भी कह देगी और आप उसे अपने फ़र्ज़ी चैनल पे प्रसारित कर डेंगे ……. यही पत्रकारिता रह गयी है ??????

    Reply
  • Rajni gupta says:

    Hello all of you
    Mera bhi paisa ishika sing jo nation live chennel ki head h makeup k kaal ke kaam ka one lakh se upper ki payment due h nhi de ri .

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *