यूपी में जंगलराज : डिबेट करने के ‘जुर्म’ में एंकर गिरफ्तार, कवरेज करने के ‘जुर्म’ में रिपोर्टर को पीट कर पेशाब पिलाया (देखें वीडियो)

उत्तर प्रदेश में पत्रकारों के साथ बदसलूकी का मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है. मुख्यमंत्री योगी के राज में यूपी मीडियावालों के लिए पूरी तरह असुरक्षित जगह बन चुका है. सत्ता के शह और संरक्षण में पुलिस प्रशासन के लोग मीडिया वालों के साथ लगातार बदतमीजी कर रहे हैं और दमन करने पर …

पत्रकार प्रशांत गिरफ्तारी प्रकरण पर PCI में फूट पड़ी, संजय सिंह चले अलग राह

प्रेस क्लब आफ इंडिया के कथित वामपंथी पैनल से लगातार जीतते रहे संजय सिंह ने अब अपनी राह खुल कर जुदा कर ली है. पत्रकार प्रशांत कन्नौजिया गिरफ्तारी प्रकरण को लेकर प्रेस क्लब आफ इंडिया की तरफ से आज जो प्रोटेस्ट मार्च आर्गेनाइज किया गया, उससे संजय सिंह ने अपनी नाइत्तफाकी जताई है. Share on:

सीएम योगी के संबंध में लिखना, पोस्ट करना मना है, पूरे प्रदेश में हो रहीं गिरफ्तारियां!

सिर्फ नोएडा और दिल्ली से तीन पत्रकार ही नहीं गिरफ्तार हुए हैं. खबर आ रही है कि पूरे उत्तर प्रदेश में जगह-जगह लोग धरे जा रहे हैं. अपराध वही है. सीएम योगी को लेकर टिप्पणी करना, पोस्ट करना, ट्वीट करना, शेयर करना. यानि सोशल मीडिया पर सीएम योगी को लेकर जो भी व्यंग्यात्मक, नकारात्मक टिप्पणी …

पत्रकार प्रशांत की गिरफ्तारी दिल्ली के सत्तापक्ष के कुछ पत्रकारों की देन है!

कल से प्रशांत कन्नौजिया की गिरफ़्तारी का मामला तूल पकड़े हुए है। मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार प्रशांत को पुलिस उनके घर से उठा कर लखनऊ ले गयी। प्रशांत की गिफ्तारी की वजह को एक वीडियो बताया जा रहा है। मगर इसके पीछे मामला कुछ और है। वीडियो को तो गिरफ्तारी का एक माध्यम बनाया गया …

तीनों पत्रकारों की गिरफ्तारियां कानून की नजर में टिकाऊ नहीं

लखनऊ और नोएडा पुलिस ने जिन धाराओं में पहले पत्रकार प्रशांत कनोजिया फिर उसके बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के खिलाफ कथित तौर पर अपमानजनक विषय-वस्तु प्रसारित करने को लेकर एक निजी टीवी न्यूज चैनल की हेड इशिका सिंह और उसके संपादक अनुज शुक्ला को गिरफ्तार किया है, उससे ये गिरफ्तारियां न्यायोचित प्रतीत …

एडिटर्स गिल्ड ने योगी सरकार के खिलाफ जारी की प्रेस रिलीज, पढ़ें

PRESS STATEMENT The Editors Guild of India condemns the arrest of Noida-based journalist Prashant Kanojia and the editor and head of a NOIDA-based television channel, Nation Live – Ishita Singh and Anuj Shukla- by the Uttar Pradesh government. Share on:

योगीजी, मुझे जेल से डर लगता है इसलिए लिखने से पहले आपको कोटि कोटि प्रणाम कर रहा हूं!

श्रीमान परमश्रद्धेय महंत योगी जी के चरणों में कोटि कोटि प्रणाम. पेशे से पत्रकार हूं और घर पर एक छोटा सा परिवार भी है जिसकी संपूर्ण जिम्मेदारी मेरी ही है। कुछ भी लिखने से पहले चरणवंदना इसलिए कर रहा हूं कि एक तो बिना-वजह जेल जाने से डरता हूं और दूसरा जेल चला गया तो …

योगी आदित्यनाथ ने ठीक किया : विनय बिहारी सिंह

पत्रकारिता का अर्थ यह नहीं कि आप अनाप- शनाप कुछ भी लिख दें। खासतौर से मुख्यमंत्री के बारे में। नाथ संप्रदाय के सन्यासियों के बारे में जाने बिना, एक पत्रकार ने मुख्यमंत्री आदित्यनाथ के बारे में अनाप- शनाप लिख दिया। उसे गिरफ्तार कर योगी सरकार ने ठीक किया है। Share on:

प्रशांत, इशिका, अनुज की गिरफ्तारी पर एडिटर्स गिल्ड व बीईए कब बोलेंगे?

Yusuf Kurbani : यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वही ग़लती कर रहे हैं जो कभी बिहार के पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा ने की थी।…जिस महिला ने उन पर जो भी आरोप लगाए हैं, अगर वो ग़लत और फ़र्ज़ी हैं तो उस महिला पर एक्शन क्यों नहीं लिया जा रहा। Share on:

तो क्या पत्रकार प्रशांत की गिरफ्तारी इस एफबी पोस्ट के कारण हुई, देखें

Manish Shrivastava : कुछ भी लिखेंगे..कहीं भी लिखेंगे..किसी के लिए भी लिखेंगे..यहां बात सिर्फ वीडियो प्रचारित करने भर की नहीं है। आप तो सीधे योगी जी की शादी करा रहे। Share on:

पत्रकार प्रशांत की गिरफ्तारी को लेकर यूपी पुलिस ने जारी की प्रेस रिलीज, देखें

इस बीच, एक संगठन रिहाई मंच ने पत्रकार प्रशांत की तत्काल रिहाई की मांग करते हुए ये प्रेस रिलीज जारी की है… पढ़ें जब महिला के दावे का खंडन या कार्रवाई नहीं की गई तो उसी वीडियो के आधार पर प्रशांत के खिलाफ कैसे कार्रवाई की गई? लखनऊ । रिहाई मंच ने पत्रकार प्रशांत कनौजिया …

यूपी में मीडियाकर्मियों के लिए आपातकाल : योगी के बारे में जो बोलेगा, वो नपेगा!

Yashwant Singh : यूपी में क्या हो रहा है भाई. लगता है योगी बाबा पूरी मीडिया को ही जेल में डाल देंगे… ये तो वाकई आपातकाल का बाप है… जो कोई आपके बारे में लिखे, बोले, उसे पकड़ कर जेल में डाल दो.. हद है… इशिका सिंह और अनुज शुक्ला नामक दो पत्रकार भी गिरफ्तार… …

पत्रकारों के पीछे पड़े योगी, चैनल हेड इशिका सिंह और संपादक अनुज शुक्ला भी गिरफ्तार

यूपी में मीडिया वालों के बुरे दिन आ चुके हैं. सीएम योगी सबका मुंह बंद रखना चाहते हैं. वे व्यंग्य करने वाले पत्रकारों को गिरफ्तार करा दे रहे हैं. वे अपने किसी प्रकरण पर डिबेट करने-कराने वाले पत्रकारों को अरेस्ट करा दे रहे हैं. Share on:

पत्रकार प्रशांत कन्नौजिया को अरेस्ट कराना योगी सरकार की इमेच्योर हरकत!

Deepankar Patel : द वायर के पूर्व जर्नलिस्ट और स्वतंत्र पत्रकार Prashant Kanojia को UP पुलिस ने गिरफ्तार किया है, पुलिस उन्हें गिरफ्तार करके लखनऊ ले गई है. उनकी पत्नी का कहना है कि “सादी वर्दी में 3-4 पुलिस वाले आये और अरेस्ट वारंट तक नहीं दिखाया, बताया UP पुलिस से हैं और गिरफ्तार करके …

योगी की कथित प्रेमिका वाला वीडियो ट्वीट करने पर पत्रकार प्रशांत को यूपी पुलिस ने दिल्ली में घुसकर धरा

Vikrant Singh : मित्र Prashant Kanojia को यूपी पुलिस ने आज दिल्ली से गिरफ्तार कर लिया है। प्रशांत ने अपने ट्विटर हैंडल से एक महिला का वीडियो शेयर किया था, जिसमे वो खुद को योगी की प्रेमिका होने को दावा कर रही थीं। महिला ने ये भी दावा किया था कि योगी उससे वीडियो कॉल …