सीबीसीआईडी ने मांगी ए के जैन पर अभियोजन स्वीकृति, डीजी से हटाएं

लखनऊ : सीबीसीआईडी ने अपने 30 मार्च 2015 के पत्र में गृह विभाग के मौजूदा डीजीपी ए के जैन के खिलाफ रीता बहुगुणा जोशी का घर जलाने के केस में अभियोजन स्वीकृति मांगी है। इसके बाद सामाजिक कार्यकर्ता डॉ नूतन ठाकुर ने डीजीपी श्री जैन को तत्काल पद से हटाते हुए उनके खिलाफ अभियोजन स्वीकृति देने की मांग की है। उन्होंने कहा है कि सीआईडी द्वारा इतने गंभीर आरोप में अभियोजन स्वीकृति मांगने के बाद अब उन्हें डीजीपी के पद पर रहने का नैतिक और विधिक अधिकार नहीं रह गया है.

 

समाचार अंग्रेजी में पढ़ें-  

CBCID seeks prosecution sanction against A K Jain, remove DGP

In its letter dated 30 March 2015, CBCID has asked the Home Department to grant prosecution sanction in Rita Bahuguna Joshi house burning case, after which social activist Dr Nutan Thakur has sought immediate removal of Sri Jain from his post and immediately granting prosecution sanction in this extremely serious case, saying that after the CBCID letter seeking prosecution sanction, Sri Jain has no moral and legal right to continue as State DGP.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *