जेटली के लौंडे को कार पार्किंग का तरीका समझाने वाले दिल्ली पुलिस के दो सिपाही सस्पेंड

Anand Sharma : जेटली साहब पूरे देश पर कड़ा टैक्स शिकंजा थोपना चाहते हो पहले अपने गोबर औलाद के पुत्र मोह से निकलो. उस कांस्टेबल से मुआफी मांगो और लौंडे को चौराहे पर जूतों से पीटों ताकि तुम बाप बेटों का अहंकार तुम्हारे सड़े दिमाग से निकले…..साले औलाद को पार्किंग की तमीज सीखा नहीं पाए पूरे देश को ईमानदारी सिखाएंगे….ब्लडी इम्पोस्टर….loser…. लीच

Sheetal P Singh : दिल्ली के वसंत कुंज स्थित देश के सबसे मंहगे “माल” emporio में कल देश के वित्त मंत्री अरुण जेटली के पुत्र से दिल्ली पुलिस के दो सिपाहियों की कार को ठीक से पार्क करने के क्रम में “बातचीत”हो गई! आज दोनों सिपाही निलंबित पाये गये! यह ख़बर कहाँ कहाँ दिखी?

शरद सिंह : दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल गजराज और सुनील को भाजपा के सत्तामद का दंश झेलना पड़ा है। ‘गलती’ सिर्फ इतनी थी कि दोनों ने वित्तमंत्री अरुण जेटली के बेटे रोहन की वसंत कुंज में इम्पोरियो मॉल के पास व्यस्ततम इलाके में कार गलत पार्क करने का विरोध किया था, दोनों को निलंबित कर दिया गया। सत्ता का अहंकार यहीं नहीं रुका, मामले को लिखने पर एडवोकेट विजय बहादुर सिंह का ट्विटर अकाउंट सस्पेंड करा दिया गया। खूब हल्ला हुआ, लेकिन न किसी चैनल पर चर्चा हुई और न किसी अखबार ने एक लाइन भी लिखी… क्या अंतर है भाजपा और सपा जैसे गुंडई को प्रश्रय देने वाले दलों में?

Suraj Sahu : AAP का कोई विधायक बलात्कार पीड़ित लड़की की FIR न लिखे जाने पर पुलिस से भिड़ जाए तो विधायक गिरफ्तार. और उसी दिल्ली में अरुण जेटली का लड़का गलत पार्किंग कर पुलिस कॉन्स्टेबल को थप्पड़ जड़ देता है तो कॉन्स्टेबल सस्पेंड. “एक ध्वज – एक निशान – एक संविधान” का नारा देने वाले श्यामाप्रसाद मुखर्जी के चेलों का दोगलापन…… “अमर रहे”.

Kashyap Kishor Mishra : अरूण जेटली मोदी सरकार में ताकतवर मंत्री हैं, खासे पढ़े लिखे और समझदार दिखते हैं पर अपने बेटे को सिविक सेंस सिखाने जैसी समझ भी इनमें नहीं है। जेटली के बेटे गौरव नें, दिल्ली में अपनी गाड़ी व्यस्त और गलत जगह पार्क की, जिन दो कान्सटेबिलों नें उन्हें ऐसा करने से रोकने की कोशिश की, उनसे उलझ पड़े। होता तो यह कि जेटली अपनी औलाद को कानून का पाठ पढ़ाते और सरे आम दस जूते लगाते, पर हुआ यह कि दोनों कांसटेबिलों को निलंबित कर दिया गया है। हर हर मोदी – घर घर मोदी। 

सौजन्य : फेसबुक

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *