दिल्ली पुलिस में पदस्थ आईपीएस अफसर ने इंस्पेक्टर को पीटा, शिकायत प्रधानमंत्री तक पहुंची

दिल्ली ट्रैफिक पुलिस के इंस्पेक्टर कर्मवीर ने गृहमंत्री, उपराज्यपाल, पुलिस आयुक्त से गुहार लगाई है कि दिल्ली पुलिस के प्रवक्ता/ नई दिल्ली जिला के डीसीपी मधुर वर्मा के खिलाफ थप्पड़ मारने, गाली गलौज करने और अवैध रूप से बंधक बनाने के आरोप में एफआईआर दर्ज की जाए.. घटना 10 मार्च की रात को तुग़लक़ रोड …

मोदी सरकार को झटका : कोर्ट ने नहीं मानी कन्हैया के खिलाफ चार्जशीट, दिल्ली पुलिस को कड़ी फटकार

आखिर वही हुआ जिसका अंदेशा था।दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल द्वारा दिल्ली सरकार की अनुमति लिए बिना ही जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) देशद्रोह मामले में चार्जशीट दाखिल करने पर दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दिल्ली पुलिस को कड़ी फटकार लगाई है। कोर्ट ने दिल्ली पुलिस से पूछा है कि इस मामले में चार्जशीट …

मोदी राज में दिल्ली पुलिस का क्रूर चेहरा देखें… एक भाई-बहन तीन दिन से लगा रहे थाने के चक्कर

Yashwant Singh : एक भाई-बहन दिल्ली के कालका जी थाने में तीन दिन से चक्कर काट रहे हैं. भाई का बाइक जब पुलिस वालों ने पकड़ा तब उसके पास कागज नहीं थे. बाइक लेकर पुलिस वाले थाने चले गए और अगले रोज कागज सहित आकर बाइक ले जाने को बोल दिया. भाई-बहन दोनों डाक्यूमेंट्स लेकर गए, दिखाए, लेकिन तब भी पुलिस वाले कह रहे हैं कि बाइक नहीं देंगे, चाहें तुम जो दिखा लो. खासकर इस पूरे प्रकरण में थाने के थानेदार  वेद का रवैया बहुत ही असंवेदनशील है.

राजनाथ सिंह की दिल्ली पुलिस की गुंडई-दलाली : जिस पर हमला हुआ उसी के खिलाफ मुकदमा लिखा

एडवोकेट सुनीता भारद्वाज पर हमले का मामला… दिल्ली के दिल कनाट प्लेस इलाके में गुंडे सरेआम एक सीनियर महिला वकील पर हमला करते हैं और पुलिस ने गुंडों की मदद करते हुए पीड़िता वकील के खिलाफ ही मुकदमा लिख लिया है. घटना के हफ्ते भर बीत जाने के बाद भी बाराखंभा थाने की पुलिस पीड़िता वकील की तहरीर दबाए बैठे है और हमलावरों की रक्षा में खुलकर खड़ी है. पीड़िता सुनीता भारद्वाज और उनके पति एडवोकेट उमेश शर्मा का बाराखंभा रोड स्थित नई दिल्ली हाउस में आफिस है. सुनीता नयी दिल्ली हाउस फ्लैट ओनर्स एसोसिएशन की सचिव भी हैं.

जेटली के लौंडे को कार पार्किंग का तरीका समझाने वाले दिल्ली पुलिस के दो सिपाही सस्पेंड

Anand Sharma : जेटली साहब पूरे देश पर कड़ा टैक्स शिकंजा थोपना चाहते हो पहले अपने गोबर औलाद के पुत्र मोह से निकलो. उस कांस्टेबल से मुआफी मांगो और लौंडे को चौराहे पर जूतों से पीटों ताकि तुम बाप बेटों का अहंकार तुम्हारे सड़े दिमाग से निकले…..साले औलाद को पार्किंग की तमीज सीखा नहीं पाए पूरे देश को ईमानदारी सिखाएंगे….ब्लडी इम्पोस्टर….loser…. लीच

बस्सी साहब 21वीं सदी के स्वामिभक्त नौकरशाही के सबसे बेहतरीन नायक हैं!

Arvind K Singh : बस्सी साहब ने वाकई शानदार पारी खेली। अगर सभी प्रशासनिक अधिकारी उनकी तरह हो जायें तो नौकरशाही में धर्मवीर, भूरेलाल या के.एफ.रुस्तमजी जैसों का नाम निशान ही मिट जाएगा। बस्सी साहब ने ऐसी लंबी लकीर खींच दी है कि जिसे पार कर पाना शायद आगे के पुलिस आयुक्तों के लिए बहुत कठिन होगा।

देखिए दिल्ली पुलिस का घटिया व्यवहार, इंदु यादव ने फेसबुक पर मय तस्वीर शेयर की आपबीती

Indu Yadav : एक आपबीती घटना मंडे date 14/09/2015 evening in high- Fi area Delhi, Tula Ram Road red light. इवनिंग को इग्नू से वापस अपने घर आ रही थी। तुला राम फ्लाईवे के निचे से राईट टर्न लेना था और वहाँ पहुंची तब रेडलाईट थी तो रुकी मैं। जब लाईट हुई तब और विहाईकल्स के पीछे से चली, थोडी ही चली की अचानक एक स्कूटी वाला साइड से मेरे सामने आया और सामने आते ही तुरंत ब्रेक लगा दिया जबकि उसके सामने का पूरा रोड फ्री था यानी खाली था। जिस साइड से स्कूटी वाला आया उसी साइड पर पीसीआर PCR पुलिस की गाड़ी खड़ी थी जिसमें दो पुलिसवाले व्यक्ति थे।

दिल्ली में हरिभूमि डाट काम के पत्रकार राहुल पांडेय के घर भीषण चोरी, पुलिस बेपरवाह

दिल्ली पुलिस का हाल इन दिनों बेहद बुरा है. केंद्र सरकार और दिल्ली सरकार के बीच रस्साकस्सी का पूरा फायदा दिल्ली पुलिस उठा रही है. इस कारण चोर-उचक्कों और लुटेरों की बन आई है. आए दिन सभ्य लोग पुलिस या पुलिस संरक्षित गुंडों-चोरों-उचक्कों के जरिए परेशान प्रताड़ित किए जा रहे हैं. यहां दो घटनाओं का उल्लेख जरूरी है. हरिभूमि डाट काम के पत्रकार राहुल पांडेय के दिल्ली स्थित घर को चोरों ने साफ कर दिया. राहुल पांडेय पत्रकार के साथ साथ साहित्यकार, रंगकर्मी, चित्रकार और फिल्मकार भी हैं.

दिल्ली पुलिस के जवानों ने आगरा में कैदी को कराई शापिंग, देखें वीडियो

दिल्ली पुलिस वैसे तो छोटे-मोटे मामलों में किसी को जेल भेजकर अपनी पीठ थपथपा सकती है, लेकिन जब खुद के गुनाहों की बारी आती है तो चुप्पी साध जाती है. इन दिनों भाजपा नेताओं के इशारे पर चलने वाली दिल्ली पुलिस के लिए आम आदमी पार्टी के नेता-कार्यकर्ता सबसे बड़े दुश्मन हैं. थोड़ा भी आरोप लगा तो जांच शुरू और फौरन गिरफ्तारी. लेकिन यही दिल्ली पुलिस पेशेवर अपराधियों के साथ बेहद दोस्ताना व्यवहार करती है. इन अपराधियों को नियम-कानून तोड़कर शापिंग कराती फिरती है.

गजेंद्र खुदकुशी प्रकरण : मजिस्ट्रेटी जांच में सहयोग से दिल्ली पुलिस ने किया इनकार

Sheetal P Singh : दिल्ली पुलिस ने दिल्ली में कल हुई दौसा के किसान की आत्महत्या के मामले में घोषित की गई मजिस्ट्रेटी जाँच में सहयोग से इनकार कर दिया है। दरअसल दिल्ली राज्य में पुलिस ही केजरीवाल सरकार का मुख्य विपक्ष है। कांग्रेस काग़ज़ पर और बीजेपी चैनलों पर। ये पुलिस ही है जिससे दिल्ली राज्य के इंच-इंच पर “आप” का मुक़ाबला है।

लाला लाजपत राय को भाजपाई पटका पहनाने के मामले में कोर्ट ने किरण बेदी के खिलाफ कार्रवाई का ब्योरा मांगा

किरण बेदी अपनी मूर्खताओं, झूठ, बड़बोलापन और अवसरवाद के कारण बुरी तरह घिरती फंसती जा रही है. पिछले दिनों नामांकन से पहले किरण बेदी ने स्वतंत्रता सेनानी लाला लाजपत राय की प्रतिमा को भगवा-भाजपाई पटका पहना दिया. इस घटनाक्रम की तस्वीरों के साथ एक कारोबारी सुरेश खंडेलवाल ने दिल्ली हाईकोर्ट के जाने-माने वकील हिमाल अख्तर के माध्यम से किरण बेदी को कानूनी नोटिस भिजवाया फिर कोर्ट में मुकदमा कर दिया. इनका कहना है कि लाला लाजपत राय किसी पार्टी के प्रापर्टी नहीं बल्कि पूरे देश के नेता रहे हैं. ऐसे में किसी एक पार्टी का बैनर उनके गले में टांग देना उनका अपमान है.

दिल्ली पुलिस ने विज्ञापन पर रोक लगाकर ‘आप’ को मुफ्त में लाभ दे दिया!

Sanjaya Kumar Singh : दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी को दिया मौका…. दिल्ली पुलिस ने आम आदमी पार्टी के एक विज्ञापन पर रोक लगाकर उसे मुफ्त में लाभ की स्थिति में पहुंचा दिया है। जो काम लाखों के विज्ञापन से नहीं होता, वह मुफ्त में हो गया। आम आदमी पार्टी ने कहा है कि विज्ञापन पर यह रोक पूरी तरह गैर कानूनी है। हालांकि अरविन्द केजरीवाल ने इस विज्ञापन के बचाव में जो कुछ कहा है वह पार्टी के संदेश को और मजबूती तथा ज्यादा असरदार ढंग से कह रहा है।

हरियाणा न्यूज की मैनेजिंग एडिटर नवजोत सिद्धू को मिला धमकी भरा पत्र

हरियाणा के रीजनल न्यूज चैनल “हरियाणा न्यूज” की मैनेजिंग एडिटर नवजोत सिद्धू को किसी अझात शख्स ने एक धमकी भरा पत्र लिखा है. पत्र में उन्हें जान से मारने की धमकी दी गई है. साथ ही पत्र में लिखा गया है कि सच का आईना कार्यक्रम दिखाना बंद करो. इस कार्यक्रम के कारण हमारे आकाओं को होने लगी है तकलीफ. ये पत्र डाक के जरिए आया है. पत्र मिलने के बाद दिल्ली के हौज खास थाने में मामला दर्ज करवा दिया गया है.

जी न्यूज व जी बिजनेस के आरोपी संपादकों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाने का अनुरोध

पूर्व कांग्रेसी सांसद नवीन जिंदल ने बुधवार को आइटीओ स्थित दिल्ली पुलिस मुख्यालय में पुलिस आयुक्त भीमसेन बस्सी से मुलाकात की। शाम 5.30 बजे पुलिस मुख्यालय पहुंचे जिंदल ने बस्सी से मुलाकात कर जी न्यूज व जी बिजनेस के आरोपी संपादकों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी लाने का अनुरोध किया। साथ ही उन्हें शीर्ष न्यायालय के आदेश की प्रति भी सौंपी, जिसमें न्यायालय ने दिल्ली पुलिस से जांच आगे बढ़ाने की बात कही है।

दिल्ली की मर्दानी पुलिस पर सरेआम हमला, मीडिया वालों को भी गालियां दी गई (देखें वीडियो)

Kumar Sauvir : गैंग्स ऑफ़ वासेपुर का एक मशहूर डॉयलाग है:- यह तुम से नहीं हो पायेगा बेटा। दिल्ली के कनाट प्लेस में कुछ ऐसा ही मामला हुआ जहाँ शराब में धुत्त दिल्ली के बड़े रसूखदार रईसजादों ने हंगामा किया। दिल्ली की मर्दानी पुलिस पर सरेआम हमला बोला, भद्दी गालियाँ दीं, जान से मारने और वर्दी उतार लेने की धमकी दीं। एक चैनेल के रिपोर्टर और विडियो कर्मी को भी गालियां दी गई।

दिल्ली और एमपी पुलिस से घूम कर शिकायत यूपी पुलिस को

19 अगस्त 2014 को इंदिरानगर, लखनऊ की शुचिता श्रीवास्तव मेरे पास आयीं और उन्होंने बताया कि करीब 15 दिन से एलेग्जेंडर जिओर्जी नामक एक व्यक्ति सीरिया निवासी बताते उन्हें भारत में अस्पताल खोलने के नाम पर संपर्क कर रहा था. एक लम्बे समय तक शुचिता और एलेग्जेंडर की इस बारे में फेसबुक पर बातचीत होती रही. शुचिता ने बताया कि यद्यपि वे समझ गयी थीं कि एलेग्जेंडर ठग है पर वे मामले की तह तक पहुँचने के लिए उसका विश्वास जीतने को उससे बात करती रहीं.

पत्रकार राजेश सरोहा की लाठियों से पीटने वाला दिल्ली का थानेदार राकेश सांगवान निलंबित

दिल्ली में त्रिलोकपुरी दंगा के दौरान पत्रकार राजेश सरोहा को लाठियों से पिटाई करने वाले विवेक विहार थानाध्यक्ष राकेश सांगवान को निलंबित कर दिया गया है. इसके साथ ही उनके खिलाफ विभागीय जांच शुरू करने के भी आदेश दिए गए हैं. पिटाई करने वाले उन पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है, जिन्होंने पिटाई करने में थानाध्यक्ष का साथ दिया था. पत्रकार की पिटाई करने वाले पुलिसकर्मियों की संख्या आठ से दस के बीच है.

ब्लैकमेलिंग मामले में ‘सुदर्शन न्यूज’ चैनल के मालिकान भी संदेह के घेरे में! लीपापोती के लिए सारे घोड़े खोले!!

जिन चार लोगों को ब्लैकमेलिंग मामले में गिरफ्तार किया गया है, उनसे पूछताछ और मोबाइल काल डिटेल चेक करने के बाद दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के शक के दायरे में सुदर्शन न्यूज चैनल के एक मालिकान भी आ गए हैं. चैनल के बड़े मालिक हैं सुरेश चह्वाणके. इनके छोटे भाई भी एक मालिक हैं जिनका नाम है राम चह्वाणके. सुदर्शन न्यूज की एसआईटी के लोग राम चह्वाणके के अधीन रहकर काम करते थे. सुदर्शन न्यूज के गिरफ्तार रिपोर्टरों ने क्राइम ब्रांच की पूछताछ में बताया है कि उगाही का एक हिस्सा वह चैनल के मालिक को देते थे.

दिल्ली के त्रिलोकपुरी में थानाध्यक्ष ने पत्रकार राजेश सरोहा को पीटा

त्रिलोकपुरी दंगे के दौरान पुलिसिया ज्यादाती की कहानी बाहर न आए इसके लिए पूर्वी जिला पुलिस अब पत्रकारों पर भी हमला करने से नहीं चूक रही है. ऐसे ही एक मामले में मंगलवार को विवेक विहार थानाध्यक्ष ने अपनी टीम के साथ एक अखबार के वरिष्ठ संवाददाता राजेश सरोहा पर लाठियों से जमकर प्रहार किए. घायल पत्रकार ने किसी तरह मौके से हटकर डीसीपी को फोन किया और जान बचाई. सरोहा का कहना है कि वे दिन में करीब 12.30 बजे दंगा प्रभावित इलाके की स्थिति को देखने के लिए त्रिलोकपुरी ब्लॉक 5 और 6 से होते हुए ब्लॉक 11 पहुंचे थे.