स्वतंत्रता दिवस या ARVIND KEJRIWAL दिवस!

पूरा देश आज स्वतंत्रता दिवस मना रहा था लेकिन अरविंद केजरीवाल खुद आज अपना दिवस मनाने में जुटे थे, वह भी स्कूली बच्चों और सरकारी पैसों के जरिए. स्वाधीनता दिवस के मौके पर दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में सीएम अरविंद केजरीवाल ने जनता को संबोधित किया. लेकिन, इस मौके पर स्टेडियम में कुछ ऐसा भी हुआ, जिससे केजरीवाल विवादों में घिर गए. स्टेडियम की दर्शक दीर्घा में बच्चों को इस तरह बिठाया गया था, जिससे इंग्लिश में ‘ARVIND KEJRIWAL‘ लिखा दिखाई दे रहा था.

अब इसके पीछे अरविंद केजरीवाल की मंशा जो भी रही हो, लेकिन सोशल मीडिया पर लोगों ने इसे आड़े हाथों लिया. लोगों की शिकायत यह रही कि स्वाधीनता दिवस के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में ‘जय हिंद’ या ‘वंदेमानतरम’ या किसी और देशभक्ति वाले संदेश के बजाय स्टेडियम में अरविंद केजरीवाल का नाम लिखा गया. ये वही अरविंद केजरीवाल हैं जो कहते फिरते हैं अभिमान, अहंकार, आत्ममुग्धता से ‘आप’ के नेताओं और कार्यकर्ताओं को बचना चाहिए. फिलहाल इस हरकत के लिए सोशल मीडिया पर अरविंद केजरीवाल को जमकर गालियां पड़ रही हैं. देखें ये दो नमूने:

Vyalok Pathak : मैं इस ख़बर की सत्यता के बारे में नहीं जानता, लेकिन अगर यह सच है, तो अरविंद केजरीवाल के ऊपर राष्ट्रीय अवमानना का मामला क्यों नहीं चलाया जाए?? यदि कजरी ने सचमुच ही आत्ममुग्धता और टुच्चई की इन हदों को छू लिया है, तो क्यों नहीं उसे तुरंत ही उसकी जिम्मेदारी से मुक्त कर दिया जाए। उसके बाद अवमानना के मामले में इस Megalomaniac पर कार्रवाई की जाए। वैसे, दिल्ली वालों, मेरे बुलबुले सरीखे बुद्धिजीवी मित्रों, जनता के स्वयंभू पत्रकार महोदय, इसमें आपको तानाशाही की, भयानक व्यक्तिवाद की आहट नहीं मिलेगी न। कजरी के समर्थकों….मैं जानता हूं, इस पर भी कुछ होने का है नहीं। बहुत होगा, तो किसी निचले स्तर के कर्मचारी की ग़लती (?) ठहराकर गाज़ उस पर गिरा दी जाएगी….. जमूरों बजाओ ताली…जय हिंद।

Rahul Kaushik : Difference Evident, I told you this Delhi! At Red Fort, students were made to sit in a sequence which reflects ‘जय भारत’ when seen from a distance. At Delhi State Function in Chhatrasal Stadium, students were made to sit in a sequence that reflects ‘ARVIND KEJRIWAL’ from distance. Nothing more, Nothing less to say! Vande Mataram!

सोशल मीडिया में यह फोटो शेयर कर सीएम अरविंद केजरीवाल और ‘आप’ सरकार का मजाक उड़ाया जा रहा है. सोशल मीडिया यूजर्स एक तरफ केजरीवाल के कार्यक्रम की तस्वीर और दूसरी तरफ लाल किले पर हुए पीएम के कार्यक्रम की तस्वीर की तुलना कर रहे हैं. पीएम के कार्यक्रम में स्कूली बच्चों की सिटिंग फॉर्मेशन से ‘JAI BHARAT’ लिखा गया था जबकि केजरीवाल के कार्यक्रम में ‘ARVIND KEJRIWAL’ लिखा गया था. स्टेडियम की दर्शक दीर्घा में हरे, सफेद और केसरिया रंगों के कपड़े पहने स्कूली बच्चों को इस तरह बिठाया गया था, जिससे अंग्रेजी में अरविंद केजरीवाल (ARVIND KEJRIWAL) लिखा दिखाई दे रहा था.  सोशल मीडिया पर लोगों ने केजरीवाल पर खुद का प्रमोशन करने का आरोप लगाते हुए उन्हें अहंकारी बताया. केजरीवाल पर बहस इसलिए भी बढ़ गई, क्योंकि लाल किले पर पीएम मोदी के आयोजन में तिरंगे में ‘जय भारत’ लिखा हुआ था. लोगों ने इस बात को भी मुद्दा बनाया कि पीएम मोदी के संबोधन में देशभक्ति का संदेश दिया गया, जबकि केजरीवाल खुद का प्रचार करते रहे.


संशोधन…

मालूम चला है कि नाम लिखने की बीमारी केजरीवाल के पहले से चली आ रही थी और यह एक परंपरा बन गई थी. शीला दीक्षित रहीं हों या नजीब जंग, सबके कार्यकाल में नाम लिखे गए. पर बदनाम किए जा रहे हैं अरविंद केजरीवाल. यह सब केजरीवाल के संज्ञान के बिना मान्य परंपरा के तहत किया गया. केजरीवाल के जब संज्ञान में आया तो उन्होंने इस परंपरा को बंद करने के निर्देश दिए और बाकायदा ट्वीट किया. नीचे एक तस्वीर जिससे साबित हो रहा है कि शीला दीक्षित और नजीब जंग के कार्यकाल में भी 15 अगस्त के दिन उनके नाम की आकृति बच्चों द्वारा बनाई गई थी.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “स्वतंत्रता दिवस या ARVIND KEJRIWAL दिवस!

  • 15 August ki pared ke liye kai baar practice ki jati hai. Aur usme sabko pata hota hai kya karna hai aur kaun kya karega.

    Kejriwal ko thookke chatne ki aadat hai. Ab victim card ka khel karege.

    Reply
  • Armaan Sharma says:

    Prashant ji BJP walo se to ache hi hain AAP wale, BJP to har baat pe bus yehi kehhti hai congress ne bhi to kiya tha ab hum bhi krenge, ..

    BJP har baat ko jumla bata rhi hai kam se kam Defence services walo ki One Rank One Pension ko to accept kr lete. Jumlebaaz BJP.

    Jis trh se BJP wale keh rhe hain ki humne 1 saal mein koi currpotion nhi kiya use dekh kr smjh nhi aa rha , BJP wale proud feel kr rhe hain ya dukhi. aur VYAPAM ko dekhte hue lagta hai BJP wale kuch bada hi krenge large scale par, jis se congress k 60 Saal mein kiye ghotale BJP k 5 saal mein kiye ghotalo k samne chootete lagege.

    aur MP ki trh fir All over india mein na jane kitne logo ko mara jayega,

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *