सोशल मीडिया के प्रादुर्भाव के बाद परंपरागत मीडिया एंटी सोशल मीडिया हो गया है!

: पहला साल पहली बार:मल्हार मीडिया अद्भुत प्रतिभा अवार्ड एवं वेब मी​डिया स्मारिका : रास्ता बनाओ तो वो बनाओ कि तुम गुजर भी जाओ तो पीछे वालों के लिये भी रास्ता खुला रहे। कुछ इसी तर्ज पर चलता है मल्हार मीडिया। किसी से होड़ नहीं किसी से दौड़ नहीं अपनी मंजिल अपने रास्ते। किसी की लकीर पीटना नहीं बस अपनी लकीर खींचना। मल्हार मीडिया की प्रथम वर्षगांठ पर आयोजित किया अद्भुत प्रतिभा मल्हार मीडिया अवार्ड। पहली बार। वेब मीडिया पर स्मारिका वह भी पहली बार। स्थान था देश के हृदय प्रदेश की राजधानी स्थित सरस्वती की साधना का तप स्थल माधवराव सप्रे स्मृति समाचार पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान। मंच पर आसीन थी पत्रकारिता के करीब साढ़े चार दशक देख चुकी विभूतियां।

मल्हार मीडिया का संकल्प है विकासात्मक पत्रकारिता को बढ़ावा देते हुये समाज में छुपी हुई बुराईयों को सामने लाना और उन्हें दूर करना। साथ ही उन प्रतिभाओं को सामने लाना जिन्हें समाज नहीं पहचान पाता। तो मल्हार मीडिया ने निश्चय किया दृष्टिबाधित मल्टीटैलेंटड प्रतिभाओं को सम्मानित करने का। मल्हार मीडिया की पहली आफबीट स्टोरी की पात्र हैं मोनिका और अंकिता। इनका जब इंटरव्यू लिया था तभी से इनकी प्रतिभा से प्रभावित थी। फिर अनिता शर्मा आ गईं मोनिका से परिचय के साथ। ये इन जैसे लोगों के लिये पाठ्य सामग्री रिकार्ड करती हैं, पिछले 15 सालों से। इनकी संस्था है वाइस फार ब्लाइंड जिसका उद्देश्य है शिक्षा के माध्यम से दृष्टिबाधित लोगों को शिक्षा के माध्यम से आत्मनिर्भर बनाना।

मल्हार मीडिया अद्भुत प्रतिभा अवार्ड समारोह में दृष्टिबाधित मल्टीटैलेंटेड मोनिका झा,अंकिता सोनी पीएनबी प्रोबेशनरी आफिसर शहडोल, रजनी शर्मा राजभाषा अधिकारी आंध्रा बैंक भोपाल एवं सोनु चौहान का मल्हार मीडिया अद्भुत प्रतिभा अवार्ड से सम्मानित किया गया। इनके अलावा कार्यक्रम में वाइस आफ ब्लाइंड संस्था की संस्थापक श्रीमती अनिता शर्मा को भी सम्मानित किया गया। अनिता शर्मा पिछले 15 वर्षों से फिजिकली चैलेंज्ड लोगों के लिये प्रतियोगी परीक्षाओं का स्टडी मटेरियल नि:शुल्क रिकार्ड करती हैं। उनके पढ़ाये हुये करीब 55 दृष्टिबाधित विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में चयनित होकर सरकारी सेवाओं में सेवारत हैं। इस अवसर पर मल्हार मीडिया की स्मारिका ‘वेबमीडिया : चुनौतियां—संभावनायें’ का भी विमोचन किया गया।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथी श्री गिरीजाशंकर ने कहा ऐसा लगता है कि सोशल मीडिया के प्रादुर्भाव के बाद परंपरागत मीडिया एंटी सोशल मीडिया हो गया है। मीडिया कोई भी हो लेकिन सबसे समझदार अगर कोई है तो वह पाठक, दर्शक आडियंश। मीडिया को ये देखने की जरूरत है कि कहीं हम आसामाजिक तो नहीं होते जा रहे। मीडिया की विसंगतियों से शायद ही कोई हो जो वाकिफ न होता हो। इन विसंगतियों को दूर किया जा सकता है जब मल्हार मीडिया जैसे और नये माध्यम और युवा लोग आकर जिम्मेदारी से काम करेंगे। अपने वक्तव्य में उम्मीद जताई कि वेब मीडिया के माध्यम से पत्रकारिता का एक अच्छा दौर वापस आयेगा।

विशेष मुख्य अतिथी प्रकाश हिंदुस्तानी ने अपने वकतव्य में कहा कि मल्हार मीडिया ने उन कहानियों को प्रकाशित करने का साहस दिखाया जिसे अन्य मीडिया छापने से पहले सौ बार सोचता है। डॉ. हिंदुस्तानी ने इस अवसर पर कहा कि दिव्यांगों की हौसला अफजाई करते हुये कहा कि जो परीक्षायें सामान्य लोग भी पास नहीं कर पाते वो परीक्षायें इन्होंने पास की हैं। मल्हार मीडिया के पास कोई बड़ा संसाधन नहीं है सीमित संसाधनों के साथ काम कर रहा है लेकिन तारीफ से ज्यादा उत्साहित न हों अभी बहुत काम करना है। उन्होंने कहा कि मल्हार मीडिया ने उन मुद्दों को भी प्रमुखता से प्रकाशित करने का साहस दिखाया है जिन्हें बड़े—बड़े मीडिया संस्थान छापने से पहले सौ बार सोचते हैं। मल्हार इस परिपाटी को जारी रखेगा ऐसी उम्मीद है।

विशेष अतिथी जयशंकर गुप्त कार्यकारी संपादक देशबंधु नई दिल्ली ने कहा कि विलक्षण प्रतिभाओं को हम देख नहीं पाते इन्हें कुछ नहीं चहिए बस इन्हें दया का पात्र न मानिये। उन्होंने कहा कि प्रतिभाओं को देखकर 79—80 का दौर याद आ गया जब सरोकारों की पत्रकारिता हुआ करती थी।

लखनउ उत्तर प्रदेश से आये वरिष्ठ पत्रकार कुमार सौवीर ने कहा कि सोशल मीडिया पर वो खबरें भी दिख जाती हैं जिन्हें आमतौर पर कोई छापने से बचना चाहता है। आज के दौर में वेब पत्रकारिता एक सशक्त माध्यम है समाज की दबी—छुपी आवाज को सामने लाने और उठाने के लिये।

कार्यक्रम के अध्यक्ष डॉ.पुष्पेंद्र पाल सिंह ने कहा कि सारे माध्यम साथ—साथ चलते हैं। आज बहुत सारी बातें की जाती हैं कि ग्लोबलाईजेशन के दौर में बाजार के दौर में मीडिया के बारे में बहुत सारी बातें हो रही हैं। लेकिन जब अराजकता बढ़ती है तो बेचैनी बढ़ती है। जब कोई इसके खिलाफ उठता है वह कौतुहल का विषय बन जाता है। मीडिया जो आज से पांच साल पहले था अब उसमें काफी बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि मल्हार मीडिया समाज की जिम्मेदारी को समझते हुये काम कर रहा है। उन्होंने कहा कि मल्हार का बहुत अच्छा प्रयोग किया है यह बताता है कि आपकी मंशा क्या है कि सदाबहार मी​डिया है। आने वाले समय में आप उदाहरण के रूप में पेश करते हैं तो लोग उसका अनुसरण करने का प्रयास करते हैं। उन्होंने कहा कि मल्हार ने एक नई परंपरा को स्थापित किया है। मल्हार ने सामाजिक जिम्मदारी निभाई।

कार्यक्रम में शामिल अतिथियों की बातों का निचोड़ यह था कि मल्हार मीडिया ने एक नई पहल की है समाज को साथ में लेकर चलने की जो कि कायम रहे। कार्यक्रम में मुख्य अतिथी वरिष्ठ पत्रकार गिरिजाशंकर,विशेष मुख्य अतिथी डॉ.प्रकाश हिंदुस्तानी, ​मध्यप्रदेश माध्यम के ओएसडी डॉ.पुष्पेंद्र पाल सिंह, वरिष्ठ पत्रकार श्री जयशंकर गुप्त कार्यकारी संपादक देशबंधु नई दिल्ली,वरिष्ठ पत्रकार कुमार सौवीर। एवं अन्य अतिथियों में वरिष्ठ पत्रकार केके अग्निहोत्री, सर्वश्री पंकज पागे, पंकज शुक्ला, कैलाश गुप्ता, रघुवर दयाल गोहिया, शेख अयूब, संजीव पुरोहित, हरीश यादव, दामोदर राजावत सीईओ कोडेक्स इन्फोटेक, वीरेंद्र गुप्ता सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। श्री शैलेष तिवारी ने कार्यक्रम का सफलतम संचालन किया।

मल्हार मीडिया की अवार्डी अद्भुत प्रतिभायें

मोनिका झा
संगीत के क्षेत्र में अपना कैरियर बनाने की तमन्ना लिये मोनिका झा ने अनेक प्रतियोगिताओं में अपनी योग्यता का लोहा मनवाया है। संगीतकार रविन्द्र जैन द्वारा सम्मानित मोनिका ने लता मंगेसकर एवं अखिल भारतिय संगीत प्रतियोगिताओं में विजेता रह चुकी हैं। बरकतुल्ला युनीवर्सिटी से एम ए, मोनिका झा ने बहुत सी डिबेट प्रतियोगिता में प्रथम पुरस्कार तथा सोशल वेलफेयर सोसाइटी से भी सम्मानित हो चुकीं हैं। अखिल भारतिय प्रतियोगिता में अपनी योग्यता का परचम लहरा चुकी मोनिका ने अनेक संस्थानों से संगीत की शिक्षा हासिल की और लोक संगीत में भी परांगत मोनिका जूडो में भी पुरस्कार प्राप्त कर चुकी हैं।

अंकिता सोनी
मल्टी टेलेंटेड अंकिता संगीत में विशारद , कम्प्युटर में एक्सपर्ट हैं। पाकिस्तान रेडियो सबका साथ तथा इंटरनेशनल रेडियो पर एज ए आर जे काम कर चुकी हैं, इतिहास से एम ए की डिग्री ले चुकीं अंकिता वर्तमान में पंजाब नेशनल बैंक में कार्यरत हैं।

रजनी शर्मा
इंदौर का चमकता सितारा रजनी शर्मा जिन्होंने सामान्य बच्चियों के साथ पढते हुए एम ए एवं बीए में प्रथम स्थान पर रहीं। अनेक डिबेट में अव्वल रजनी को कविता लिखने का शौक है। स्पेशल बी एड का कोर्स कर चुकी रजनी वर्तमान में आन्ध्रा बैंक की भोपाल शाखा में राज्यभाषा अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं।

सोनु चौहान

झाबुआ जैसी छोटी जगह से अपने हौसले की उड़ान भरने वाली सोनु चौहान ने हिन्दी से एम ए तथा स्पेशल बी एड का कोर्स कर चुकीं है और आगे बढने की चाह लिये वर्तमान में ओरियंटल बैंक की भोपाल शाखा में राज्य भाषा अधिकारी के रूप में कार्यरत हैं।

अनिता शर्मा
श्रीमती अनिता शर्मा वॉइस फॉर ब्लाइंड संस्था की संस्थापक हैं। इस संस्था का उद्देश्य शिक्षा के माध्यम से दृष्टिबाधितों को आत्मनिर्भर बनाना है। अनिता पिछले 15 सालों से प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए स्टडी मटेरियल रिकार्ड करती हैं। इनका यू ट्यूब पर चैनल है,जिसके माध्यम से ये दृष्टिबाधितों के लिये पाठ्य सामग्री उपलब्ध कराती हैं।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code