राहुल गांधी ने सच में भूकंप ला दिया, मोदी के लिए कहा- ये चौकीदार नहीं, भागीदार

Sanjaya Kumar Singh : चौकीदार नहीं, भागीदार… राहुल गांधी ने संसद में प्रधानमंत्री पर सीधा हमला बोला। नोटबंदी और जीएसटी से लेकर बिना एजंडा के चीन जाने और उसे चीन का एजंडा बताने से लेकर रक्षा मंत्री पर भी आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि फ्रांस के साथ राफेल विमान की कीमत नहीं बताने संबंधी कोई करार नहीं है।

संसद में भाजपा सरकार के खिलाफ आक्रामक भाषण देने के बाद मोदी के गले मिलते राहुल गांधी.

टेलीविजन प्रसारण में सीतारमण इसका विरोध करती देखी गईं। अध्यक्ष ने उन्हें बोलने का मौका देने की बात कही है। नरेन्द्र मोदी के बारे में राहुल ने कहा कि पहले खुद को चौकीदार बताते थे पर देश के बड़े उद्योगपतियों के लिए काम करते हैं। अंबानी का नाम लिए बगैर कहा कि एचएएल से काम लेकर एक निजी कारोबारी को दे दिया गया है। जिसे हजारों करोड़ का लाभ होगा लेकिन उसने कभी विमान बनाया ही नहीं है।

राहुल ने कहा कि प्रधानमंत्री चौकीदार नहीं भागीदार हैं। राहुल ने कहा कि देश प्रधानमंत्री का सच जान गया है। वे मुझसे आंख नहीं मिला सकते। इसपर नरेन्द्र मोदी हंसते देखे गए। सत्तारूढ़ दल सदन के नियमों के हवाले हंगामा करने लगा तो कार्यवाही स्थगित कर दी गई। इससे पहले जबलपुर के सांसद राकेश सिंह प्रस्ताव के खिलाफ अच्छा बोले।

Atul Tiwari Aakrosh : फिलहाल आप कितना भी हंसे पर आज राहुल गांधी ने कुछ गम्भीर सवाल उठाए… 520 का राफेल 1600 का कैसे हो गया..? डोकलाम विवाद के बाद चाइना गए और बोले बिना एजेंडा बात होगी..? ढाई लाख करोड़ बड़े उद्योगपतियों का कर्जा माफ किया..पर किसान का कर्जा माफ नहीं होगा..? अमित शाह के बेटे की संपत्ति पर प्रधानमंत्री जी क्यों नहीं बोले..? और इन सब के बीच सत्ता पक्ष का लगातार चिल्ल पों मचाकर बहस को खत्म करने का प्रयास भी जारी है..आपको राहुल के भाषण पर हंसी आती है तो हंसिये पर किसी के आरोप पर सफाई देने के बजाए सदन रोकने की कोशिश का क्या मतलब..? इसका तो सीधा सा मतलब…की सब कुछ करो बस सवाल न पूछो..!

Samar Anarya : रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने वादा किया था कि देश को बताएंगी कि राफेल विमान का दाम कांग्रेस के 520 करोड़ से बढ़ के 1500 करोड़ कैसे हो गया! फिर मुकुर गयीं कि फ़्रांस के साथ ‘गोपनीयता समझौता’ है. मैं फ्रांसीसी राष्ट्रपति से मिला उन्होंने बताया कि ऐसा कोई समझौता नहीं है- निर्मला जी ने मोदी के दबाव में झूठ बोला है! एक बड़े व्यापारिक घराने को फायदा पहुंचाने के लिए- उस समूह को जो उनको फायदा पहुँचाता है! उसे 45000 करोड़ का फायदा पहुँचाया। मोदी चौकीदार नहीं (घोटाले में) भागीदार है! – राहुल ने सच में भूकंप ला दिया है! चार बार ललकारा किस मोदी नज़र नहीं मिला पा रहे- उस पर आखिर में मोदी के चेहरे पर बड़ी नर्वस सी मुस्कान उभरी है! वक़्त बदल गया है! बेरोजगारी, नोटबंदी और जीएसटी के बाद राहुल गाँधी ने सीधे अमित शाह पर निशाना साधा- पूछा कि उनकी संपत्ति एक साल में 16000 गुना कैसे बढ़ गयी! शाबास! गज़ब!

Sandeep Verma : राहुल जी ने मोदी जी को गले लगाकर संसद में अविश्वास प्रस्ताव की आज की पूरी बहस अकेले ही लूट ली . संघ और भाजपा के नफरत भरे प्रचार के बदले मोदी जी को गले लगाकर कांग्रेस का कांग्रेस की प्रेम और सद्भाव की संस्कृति से देने का सन्देश का सबूत देकर महफ़िल लूट ली . नर्वस और घबडाए हुए मोदी जी के अपने पैरो को ऐसा लकवा पड़ा कि वे अपनी सीट से खड़े भी ना हो सके . लालू जी के शब्दों में कहे तो मोदी जी राहुल जी द्वारा गले लगाने से नरभसा गये .

Amitaabh Srivastava : अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान राहुल गांधी लोकसभा में प्रधानमंत्री मोदी को लक्ष्य करके बोले-आपके लिए मैं पप्पू हो सकता हूं लेकिन मेरे दिल में आपके लिए नफरत नहीं है। यह कहने के बाद राहुल गांधी मोदी जी से गले मिले।

Prabhat Ranjan : राहुल जी के बोलने में अब तेवर आ गया है. अब वे आक्रामक हो गए हैं. अच्छा लगता है उनको सुनते हुए . इस देश की जनता को ऐसे आक्रामक नेता अधिक पसंद आते हैं. उन्होंने कहा था कि जब वे बोलेंगे तो भूकंप आएगा. भूकंप तो आ गया है. सरकार के कई मंत्री तिलमिलाए हुए दिख रहे हैं!

Pushya Mitra : आज फेसबुक पर राहुल गांधी के नाम का भूकम्प आया हुआ है। शायद यह पहली बार हो रहा है कि पोलिटिकल डिबेट में राहुल गांधी का जिक्र हर कोई कर रहा है। कुछ लोग मजाक उड़ा रहे हैं तो कुछ लोग तारीफ कर रहे हैं। मगर इग्नोर कोई नहीं कर पा रहा। ऐसा ही अब तक मोदी को लेकर होता रहा है। वे जब भी कुछ बोलते हैं तो सेंटर ऑफ डिबेट हो जाते हैं। अगर आज के अविश्वास प्रस्ताव के बाद मीडिया में मोदी से अधिक राहुल का जिक्र होता है कल के अखबार के पहले पन्ने पर राहुल की जादू की झप्पी वाली तस्वीर छपती है, तो यह उनकी और कांग्रेस की रणनीतिक जीत कही जाएगी।

Rajeev Ranjan Jha : कांग्रेस खेमा अब तक राफेल सौदे पर संदेह पैदा करने की छिट-पुट कोशिशें कर रहा था। राहुल गांधी ने सदन में अपने भाषण में इसे हमले का मुख्य हथियार बना कर सरकार को यह मौका दिया है कि वह विस्तार से इस मामले में शंकाओं का समाधान करे। क्या सरकार इस मौके का भरपूर उपयोग कर सकेगी? आप निर्मला सीतारमण और नरेंद्र मोदी का स्वभाव तो जानते ही होंगे!

Satyendra PS : ऐसा प्रधानमंत्री आपने भारत के इतिहास में पहली बार देखा होगा। संसद में जब यह पूछा जा रहा था कि देश मे बेरोजगारों की फौज खड़ी हो गई है, आपके हर साल 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने के वादे का क्या हुआ? प्रधानमंत्री रामायण में रावण बने अरविंद त्रिवेदी की तरह हंस रहे थे।

सौजन्य : फेसबुक

इसे भी पढ़ें…

राहुल गांधी मोदी के गले मिले या गले पड़े! देखें तस्वीरें

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “राहुल गांधी ने सच में भूकंप ला दिया, मोदी के लिए कहा- ये चौकीदार नहीं, भागीदार

  • एक पत्रकार says:

    वास्तव में बदलाव अब देखने को मिल रहा है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *