दांत गलत तरीक़े से उखड़वाना पड़ा महँगा, युवा पत्रकार को कैंसर, आर्थिक मदद की जरूरत

विजय विनीत-

मिर्जापुर के नमक-रोटी कांड को उजागर करने वाले युवा पत्रकार पवन जायसवाल का जीवन खतरे में पड़ गया है। हाल में परीक्षण से पता चला है कि इन्हें कैंसर जैसी घातक बीमारी है।

करीब तीन महीने पहले दांत में दर्द हुआ तो उन्होंने इलाके के एक झोला छाप डेंटिस्ट को दिखाया। डाक्टर ने उनका एक दांत गलत ढंग से उखाड़ दिया और उपचार में घोर लापरवाही बरती। धीरे-धीरे इनकी हालत बिगड़ती चली गई। हम सभी ने प्रयास कर बनारस के कई विशेषज्ञ चिकित्सकों को दिखाया। सिटी स्कैन, वायप्सी से लेकर तमाम जांचें हुई, जिसमें जानलेवा कैंसर की पुष्टि हो चुकी है।

जुझारू कलमकार पवन जायसवाल की आर्थिक स्थिति पहले से ही ठीक नहीं है। महंगे इलाज का खर्च जुटा पाना इनके लिए बेहद मुश्किल है। जन-सरोकारों के लिए पत्रकारिता करने वाले इस पत्रकार के दो छोटे-छोटे बच्चे हैं। इन्हीं के कंधे पर बूढ़ी मां की जिम्मेदारी भी है।

तंगी से जूझ रहे इस कलमकार का परिवार बेहद परेशान है। चिकित्सकीय परीक्षण और दीर्घकालिक इलाज के लिए पवन जायसवाल ने अपनी पत्नी और मां का आभूषण बेचना शुरू दिया है। इस जांबाज पत्रकार का जीवन बचाने के लिए हम सभी को आगे आकर मदद करने की जरूरत है।

इनका मोबाइल नंबर 7600997711 है।

स्टेट बैंक आफ इंडिया के अकाउंट नंबर-31021075697 और आईएफसी कोड SBIN0012729, शाखा-अहरौरा (मिर्जापुर) के जरिए इन्हें मदद भेजी जा सकती है। इनके फोन-पे का नंबर है-7600997711

वरिष्ठ पत्रकार विजय विनीत (वाराणसी) की रिपोर्ट! संपर्क-7068509999

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप परBWG7

आपसे सहयोग की अपेक्षा भी है… भड़ास4मीडिया के संचालन हेतु हर वर्ष हम लोग अपने पाठकों के पास जाते हैं. साल भर के सर्वर आदि के खर्च के लिए हम उनसे यथोचित आर्थिक मदद की अपील करते हैं. इस साल भी ये कर्मकांड करना पड़ेगा. आप अगर भड़ास के पाठक हैं तो आप जरूर कुछ न कुछ सहयोग दें. जैसे अखबार पढ़ने के लिए हर माह पैसे देने होते हैं, टीवी देखने के लिए हर माह रिचार्ज कराना होता है उसी तरह अच्छी न्यूज वेबसाइट को पढ़ने के लिए भी अर्थदान करना चाहिए. याद रखें, भड़ास इसलिए जनपक्षधर है क्योंकि इसका संचालन दलालों, धंधेबाजों, सेठों, नेताओं, अफसरों के काले पैसे से नहीं होता है. ये मोर्चा केवल और केवल जनता के पैसे से चलता है. इसलिए यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देवें. भड़ास का एकाउंट नंबर, गूगल पे, पेटीएम आदि के डिटेल इस लिंक में हैं- https://www.bhadas4media.com/support/

भड़ास का Whatsapp नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code