प्रभासाक्षी का नया अवतार पेश! अब खबरों को पढ़ें देखें सुनें, नये अंदाज़ में

भारत का प्रमुख हिंदी समाचार पोर्टल प्रभासाक्षी.कॉम आज से नये अंदाज में पाठकों के लिए उपलब्ध हो गया। प्रभासाक्षी के प्रधान संपादक श्री गौतम आर. मोरारका ने मुंबई से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से नये पोर्टल का शुभारंभ किया। उन्होंने प्रभासाक्षी की पूरी टीम को बधाई देते हुए कहा कि खबरों को ‘पढ़ने, देखने, सुनने और सोशल मीडिया मंचों पर शेयर करने का नया अनुभव प्राप्त कराता प्रभासाक्षी का यह नया ‘लुक’ तकनीकी लिहाज से अंतरराष्ट्रीय मानदंडों के अनुरूप है। श्री मोरारका ने कहा, ”इंटरनेट पर हिंदी पाठकों का पिछले 15 सालों से दिल जीत रहे प्रभासाक्षी.कॉम का डेस्कटॉप वर्जन मोबाइल फोन पर भी आसानी से और तीव्र गति से खुल सकेगा। पाठक हालाँकि चाहें तो गूगल प्ले स्टोर और एप्पल स्टोर से प्रभासाक्षी का मोबाइल एप भी डाउनलोड कर सकते हैं।”

इस अवसर पर प्रभासाक्षी के सहयोगी संपादक नीरज कुमार दुबे ने बताया कि प्रभासाक्षी की खबरें यूसी न्यूज, डेली हंट और टैप्जो मोबाइल एप पर भी उपलबध हैं। उन्होंने बताया कि पिछले साल भर में देश भर से प्रभासाक्षी के साथ 50 से ज्यादा नये और नियमित लेखकों का जुड़ाव हुआ जिससे कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक की राजनीतिक, सामाजिक परिस्थितियों के विश्लेषण हमारे यहाँ प्रकाशित होते रहते हैं। प्रभासाक्षी की निरंतर बढ़ती लोकप्रियता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि हालिया विधानसभा चुनावों के समय एक दिन में आने वाले हिट्स की संख्या 22 लाख तक पहुँच गयी थी। वेबसाइटों पर आने वाले ट्रैफिक को सत्यापित करने वाली अंतरराष्ट्रीय कंपनी कॉमस्कोर ने भी अपने आंकड़ों में हमारे दावों की पुष्टि करते हुए पिछले एक साल में प्रभासाक्षी.कॉम के ट्रैफिक में उल्लेखनीय वृद्धि दर्ज की है।

शुभारंभ के मौके पर द्वारिकेश इंफॉर्मेटिक्स के निदेशक श्री बी.जे. माहेश्वरी जी, द्वारिकेश शुगर इंडस्ट्रीज लिमिटेड के पूर्णकालिक निदेशक श्री वी.एस. बंका, समूह के तकनीकी निदेशक श्री रूपेश वैश, प्रभासाक्षी संपादकीय टीम के सह-प्रभारी श्री सुधांशु शर्मा, तकनीकी सेवाएं देने वाली कंपनी फोर-सी प्लस की ओर से श्री शैलेन्द्र दुबे, श्री सुमित निरवाल और तकनीकी सहयोग प्रदान करने वाली कंपनी वॉट की ओर से सुश्री नेहा मेहता, सुश्री अर्चना, श्री नीरज केशरी आदि विशेष रूप से उपस्थित थे। इस अवसर पर प्रभासाक्षी से जुड़े कई लेखक और पत्रकार भी उपस्थित रहे और अपनी शुभकामनाएँ प्रदान कीं।

गौरतलब है कि प्रभासाक्षी.कॉम पिछले डेढ़ दशक से ज्यादा समय से देश और विदेशों के कोने-कोने में हिंदी पाठकों का चहेता बना हुआ है। डेढ़ दशक पहले जब इंटरनेट पर हिंदी नाममात्र के लिए उपलब्ध थी उस समय प्रभासाक्षी के प्रबंध संपादक श्री गौतम मोरारका ने बिना किसी व्यावसायिक लाभ की अपेक्षा करते हुए इंटरनेट पर हिंदी भाषा के विकास, विस्तार और आम भारतीयों तक उनकी अपनी भाषा में वांछित जानकारी पहुँचाने का जो लक्ष्य तय किया था उसे देश-विदेश के लाखों पाठकों की बदौलत हासिल तो कर लिया गया लेकिन चुनौती बिना आर्थिक लाभ के मैदान में डटे रहने की थी।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *