भड़ास संपादक यशवंत ने खोला पत्ता, बताया कि वो क्यों चाहते हैं राहुल गांधी PM बनें!

यशवंत सिंह (संस्थापक और संपादक, भड़ास4मीडिया डॉट कॉम)

Yashwant Singh : सवर्ण घरों के तमाम चूतिये बेरोजगार टहल रहे हैं, लेकिन वोट देंगे मोदी को। क्या कि पाकिस्तान को ठोंक दिया, मुसलमानों को ठीक कर दिया। जब नौकरी चाकरी के बारे में पूछो तो दांत चियार लेते हैं। दिन भर खोजते हैं कोई बीयर पिलाने, गोश्त खिलाने वाली ‘पार्टी’ मिल जाए।

ऐसे चूतियों का बिल्कुल सही नेता है मोदी। आम जन के पेट पर लात मार कर दिमाग में गोबर भर देने वाले नेता को जो भी वोट देंगे, वो कभी अगर खुद की बेकारी-बेरोजगारी-गरीबी पर आंसू बहाते दिखे तो चार जूता मार नमो नमो बोल देना।


फासिज्म और अंध राष्ट्रवाद फैलाने वाले लोग सत्ता में आने के बाद सारी संस्थाओं को नष्ट करते गए। अमीरों की तिजोरी भरते गए। मध्य वर्ग का सबसे ज्यादा बुरा हाल कर दिया। अब उनके पास कहने बताने को कुछ नहीं है तो केवल झूठ फैला रहे हैं। दूसरों की बुराई बताएंगे। इसके लिए फ़िल्म तक बनवा दिए। अपने बारे में गप्प गल्प फैलाएंगे। इसके लिए भी फ़िल्म से लेकर चैनल तक लांच कर दिए। इनके पास देश को आगे ले जाने के लिए कोई वैचारिक और आर्थिक मॉडल नहीं है। राहुल गांधी कम से कम रोजगार की बात तो कर रहा। ये भाजपाई नए रोजगार क्या देंगे, पहले से बने बनाए रोजगार खा गए।


लोकतंत्र की आत्मा बदलाव में बसती है वरना रुके जमे पानी से सड़न की बू आने लगती है। तानाशाह मिज़ाज वाले भाजपा नेताओं को सबक सिखाने की जरूरत है। बहुत कर लिए पाकिस्तान-मुसलमान। अब बात करो आर्थिक रूप से सशक्त हिंदुस्तान की। इसलिए भाजपा भगाओ, कांग्रेस लाओ। जहां जो पार्टी भाजपा को हराए, उसे वोट दीजिए।


मैंने पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को वोट दिया था। कांग्रेस का दस साला गूंगा pm देख बोर हो गया था साला। भ्रष्टाचार दर भ्रष्टाचार देख ऊब गया था। सो, बदलाव के वास्ते बकबकी मोदी और इनकी पार्टी को वोट किया। पर ये तो उनसे बड़े चोट्टे निकले। राफेल का करप्शन जगजाहिर है। अडानी, अंबानी की तिजोरी भरने वाला करप्शन जगजाहिर है। किसान बीमा के नाम पर किसानों को लूटने और कारपोरेट घरानों की बीमा कम्पनियों की जेब भरने का करप्शन जाहिर है। नोटबन्दी के जरिए खरबों रुपए का घोटाला करने का प्रकरण जगजाहिर है। देश भर में 600 से ज्यादा भाजपा के नए भव्य ऑफिसों का निर्माण सबके सामने है। इसलिए इन भ्रष्टाचारियों को भी धक्का देने की ज़रूरत है।


हम इस देश के सचेत नागरिक हैं। हम किसी पार्टी के मेम्बर नहीं हैं। हम नए को मौका देंगे। पिछली बार मोदी को दिया और 5 साल देखा। अब 5 साल राहुल को देखेंगे। फिर दोनों के 5-5 साल का अध्ययन करेंगे। जिसका रिपोर्ट कार्ड बेहतर रहेगा, उसे वर्ष 2024 में वोट देंगे।


कठपुतली, कठमुल्ला, भक्त, गुलाम, नौकर न बनिए किसी पार्टी के लिए! लोकतांत्रिक रहिए। लोकतंत्र को एन्जॉय करिए। हमेशा बदलाव और नएपन को गले लगाइए। सिर्फ स्मार्ट फोन न रखिए, स्मार्ट नागरिक भी बनिए और अपने वोट के जरिए मनबढ़-फेंकू-झुट्ठे नेताओं-पार्टियों को उनकी औकात में रखिए।
जै जै
स्वामी भड़ासानंद यशवन्त सिंह
फाउंडर, Bhadas4Media.com

(नोट- इस पोस्ट पर जो भी भाजपा के पक्ष में कुतर्क पेश करेगा, उसे C कैटगरी वाला it सेल का पेड गुलाम युक्त चिरकुट चूतिया अंधभक्त माना जाएगा। तदनुरूप उसकी आत्मा की शांति के लिए कोरस में लिहो लिहो कहते हुए फटाक फटाक ठोंक कर 23 मई तक के लिए ब्लॉक कर दिया जाएगा)

भड़ास के संस्थापक और संपादक यशवंत सिंह की फेसबुक वॉल से. उपरोक्त स्टेटस पर आए ढेरों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं हैं-

Abhishek Gupta आज बहुत दिन बाद आपका ये रूप देखने को मिला है, जिस अंदाज के लिए आप जाने जाते हैं आज वही किया है. खुल के भड़ास निकाली है. वैसे बात एकदम खरी और 16 आने सही है. 5 साल कांग्रेस को भी मौका मिलना चाहिए. नया नेतृत्व है. कुछ तो बेहतर करेंगे. फिर कर लिया जाएगा आंकलन. जो अच्छा होगा उसे 2024 में चुना जाएगा.

Aman Varma 12000 रुपये महीना उसी को मिलेगा जिसके पास न जमीन होगी न घर होगा. कांग्रेसियों सीधे बोल दो योजना सिर्फ रोहिंग्या व बंगलादेशियो के लिए है.

Yashwant Singh हे Aman Varma, तुम आ गए भक्त. तुम तो उपर्युक्त लिखित कैटगरी के एक c भक्त लगते हो। कमल का फूल प्रोफाइल पिक में लगाया है। बेचारा नौकरी बजा रहा। इस देश में वैसे भी नौकरी केवल भाजपा के it सेल में मिलती है, बाकी सब नौकरियां खत्म कर दी गईं। इस बेचारे चिरकुट चूतिये को फटाक फटाक कर ब्लॉक किया जा रहा ताकि इसकी आत्मा को शांति मिले। ओम नमो नमो.
LN Shukla Ji आप तो दमन पर उतर आए भाई साहब
Kaushal Kishore अरे बने भी रहने दो इन बेचारों को। इनके बगैर तो सारा मज़ा ही चला जाएगा।

Rupendra Rinku जैसा लिखा है आपने, ऐसा कभी नहीं होगा.

Yashwant Singh रिंकू भाई, अब ऐसे जादा बोलिहा मत न त 23 मई तक उपर्युक्त लिखित कैटगरी का प्राणी मानकर ब्लाक कर दिए जाएंगे.

Asrar Khan यशवंत जी पाकिस्तान को ठोंक नहीं दिया ठोंकवा लिया…. अभी कुछ दिन पहले ही प्रेम पत्र लिखा था इमरान को

Yashwant Singh गलत डिबेट कर रहे हैं आप. ठोंक दिया या ठोंकवा लिया वाले नरेटिव में क्यों फंसते हैं और दूसरों को फंसाते हैं… आप उनकी पिच पर न खेला करें. खुद का प्लेग्राउंड बनाया करें. जो आप बोल रहे, उससे उन्हें ही फायदा होगा. इसलिए प्लीज, ऐसे कमेंट हमारे यहां न लिखा करें. आप अपने वाले पर जो चाहें लिखें.
Asrar Khan जी मुझे पता है किस बात से किसको फायदा होगा वाली अलग बात है लेकिन सच्चाई भी सामने आनी चाहिए और सच्चाई यही है कि किसी को कोई मार कर नहीं आया ..शहीदों की विधवावों ने यह मांग किया था कि जिन्हें ठोंका है उनकी सूरत दिखा दो जी … वैसे पूरे को पता चल गया है कि सारी दाल ही काली है ..
Asrar Khan यशवंत जी आप मेरे कमेंट से इतना लाहत क्यों हो गए समझ के बाहर है …?
Yashwant Singh असरार सर, आहत न हुआ. बस चाहता हूं कि हम लोग ऐसी बातें न करें ताकि उन्हें बैटिंग करना का मौका मिल सके. हमें अपने इशूज पर उनसे बात करनी है. वो तो चाहते ही हैं कि केवल पाकिस्तान और मुसलमान पर बात हो.

Mayank Pandey Ye to aapka faasiwaad hai. Block krne ki dhamki pahle de rhe hai. Modi mat baniye, loktantr me aapka swagt hai

Yashwant Singh मयंक जी, हम मोदी की तरह देश नहीं, अपना फेसबुक एकाउंट चला रहा हूं। मुझे अपने घर में किसे बुलाना है, उसे कैसे पेश आना है, ये तय करने का अधिकार है। आप ग़लत तर्क दे गए। कुतर्क मुझे पसंद नहीं इसलिए आपको फौरन अपने घर से भगाते हुए ब्लॉक करता हूँ।

Vivek Tripathi वाह कितना अच्छा लिखते हैं आप, इसको तो सबको पढ़ना चाहिए और कुछ समझना और सीखना भी चाहिए, वरना जिंदगी भर पार्टियों के झंडे बैनर लेकर दौड़ते हुए और सोशल मीडिया पर एक दूसरे को गरियाते ही रह जायेंगे लोग!

Manish Chandra Mishra कॉपी कर रहा दादा…शानदार लिख डाला…शायद आंखे खुल जाए कुछ लोगों की

Rajeev Ranjan Shukla वाह आपने तो वाकई युवाओं की भडास निकाल दी। सत्य आकलन।

Madhvendra Kumar गज़ब, बहुत धार है इन बातों में। शेयर कर रहा हूं सर.

आकाश यादव गाजीपुरी Ek aam adami ki soch ko aapne likha hai.. Har aam adami yahi sochata hai bas wo likh nhi pata hai…

Vikas Mishra बहुत दिनों बाद खुलकर भड़ास आई है स्वामी।

Rajeev Ranjan Shukla चौथा पैरा एक दम सटीक संदेश

Atul Bartariya पोस्ट तो दमदार है ही, अन्त में लिखा नोट तो गज़ब ही है

उपासना झा लास्ट में लिखा नोट बहुत बढ़िया है.

Mukesh Singh काहे ला इतना गरम हो गइलीं रउआ ।

Hemraj Singh Chauhan सर मैं आसपास कई लोगों को जानता हूं

Dhirendra Pandey सवर्ण ही नही SC ST BC के वोट पर सरकार बनेगी अगर बनेगी तो

Devendra Verma देश को सनकी मोदी से बचाना जरूरी है..आपकी पोस्ट आम लोगों की आँख खोलने में कामयाब होगी.।

Tarun Kumar Tarun स्वामी भड़ासानंद, आ गया पढ़कर आनंद !!

Pramod Kumar कसके पकड़ले हैं…….

Arif Husain हो सकता है किसी ने उनसे वादा करा हो मुल्लो को भगाने का फिर मुल्लो का रोज़गार और औरतें जल्दी ही तुम्हारी होंगी ।

Anil Kumar Yadav जियो! चंपले रहा

Amit Maurya गज फुट इंच सेंटीमीटर तक घुसेड़ देहला

Asit Nath काहे एतना खिसिआइल बाड़ बाबा

Vikas K Ojha आपके पोस्ट को शेयर कर रहा हूं ये जानते हुए की अब से एक दो दिन भक्तों को जवाब देने में व्यस्त हो जाऊंगा…

Jainul Abddin बड़ी गजब के लेखनी लिखे गुरु जी। मौजुदा परिस्तिथि को भड़ास के माध्यम से निकाल दिये। बहुत खुब…

Mohammad Faizan Tahir बाबा भड़ासानंद की जय

Ram Murti Rai बस कांग्रेस को वोट देने की बात हजम नहीं हुई. बाकी जबरदस्त.

Nanak Kumar ये तो झन्नाटेदार तमाचा मारा है भाई…….अक्षरशः सत्य

Siddharth Kalhans चांप दिहेव गुरु… इमा कै एक एक पैरा अलग अलग लगाऔ आगे से…

Sandeep K. Gupta Waah Jai ho Swami Bhadasanand

Shambhunath Shukla बाक़ी जातियाँ भी पगलाई हैं।

Ramji Tiwari चांप दिए गुरु…

Alok Singh चालीस साल का पोस्टग्रेजुएट हूं बहुत अच्छी तरह से याद है कि पांच साल पहले कितना रोजगार था

Yashwant Singh आप सपनों की दुनिया में हैं. किसी पिछले चार साल में ग्रेजुएट हुए किसी लड़के से बात कर आइए. बेरोजगारी की भयावहता का अंदाजा नहीं आपको क्योंकि आप अपनी किसी दुनिया में खोए हैं.

Vivek Rajpoot क्या बात कही है सर.. सत प्रतिशत सच है..

Anil Singh Patel ब्लाक लिस्ट लंबी हो सकती है

Shyam Krishna गुरु जब्बर और बज्जर दोनों हो ।

Sanjay Yadav धन्य हुआ प्रभु. आपका ये रूप तो गायब ही हो गया था. 2/3 साल से आपका फ़ेसबुक दोस्त हूँ. कुछ दिनों से लग रहा था भैया लिखने में थोडा मीठे ही गये हैं. मुझे क्या पता था भडास ऐसे निकलेगी. धन्य हुआ प्रभू.

Devendra Verma देश को सनकी मोदी से बचाना जरूरी है..आपकी पोस्ट आम लोगों की आँख खोलने में कामयाब होगी.।

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “भड़ास संपादक यशवंत ने खोला पत्ता, बताया कि वो क्यों चाहते हैं राहुल गांधी PM बनें!

  • चिरकुट चू ती या says:

    मुझे भी ब्लॉक कर दीजिए यशवंत जी।

    Reply
    • Bahut khoob sir kya likha hai aapne to 5 salo ka kachha chittha nikal diya feku government ka ab ye bat har nagrik ko samjhna chahiye ki bjp is desh ko apas me lada kar sirf satta pane ki bhuki hai.

      Reply
  • संटी says:

    यशवंत जी ऐसे ही बेबाक कलम चलाते रहिए. मैं अपना नाम पहचान छुपा कर कमेंट करता हूं क्योंकि मैं थोड़ा डरपोक किस्म का आदमी हूं. आपका छोटा सा पाठक हूं. वैचारिक मतभेद होने के बावजूद आप चीजों को बिलकुल बैलेंस तरीके से पेश करते हैं, यही आपकी खूबी है. पत्रकारो को आपसे सीखना चाहिए. आप पत्रकारों के ही और गलत काम को जिस तरह से उजागर करते हैं, वह बेहद साहसिक काम है. मोदी की तो इस चुनाव में बैंड बजनी है क्योंकि यह आदमी न तो महंगाई रोक सका, न रोजगार दे सका. हां अडानी अंबानी का पेट भरता रहा. चुनाव के लिए पैसे इकट्ठा करता रहा. नोटबंदी के जरिए इकट्ठे किए गए माल से देश भर के छह सौ से ज्यादा भाजपा के भव्य आफिस बन गए. इन लोगों को एक्सपोज किया जाना जरूरी है. मीडिया को तो मोदी ने खरीद लिया है. इसलिए सच्चाई को भड़ास जैसे पोर्टल ही दिखाने की हिम्मत रखते हैं. अब जररूत है इन बातों को गांवों तक पहुंचाने की. आपका एक बार फिर से धन्यवाद यशवंत जी. चरण स्पर्श. आपका भक्त और प्रशंसक हूं मैं.

    Reply
    • महंगाई की बात तर्कसंगत नही है, दालें200 से 80 पर आई, तो कौन सी चीज आपने खरीदनी बन्द करदी?

      Reply
  • Sayyed Alamdar Zaidi says:

    sahi samay, sateek baat, bebaak tippani, bold thinking & expression…
    aapki bahaduri ko salaam karta hoon… yeh aisa daur hai jab tamam patrakar satta ki chaatukaarita mein lage/pile pade hain, aur aapne aisi himmat dikhaaee hai…
    yah waqt ki zaroorat bhi thi aur hai…

    Reply
  • lav kumar singh says:

    …तो क्या फिर आज से भड़ास को कांग्रेस की आईटी सेल का हिस्सा माना जाए? आप तो मोदी के कथित फासिज्म से भी बड़े फासिस्ट निकले। असहमति जताने पर सीधे ब्लाक करने की धमकी देने लगे। कह रहे हैं मेरा एकाउंट है। कल को कहेंगे मेरी वेबसाइट है। फिर कहीं पद स्थापित हो गए तो कहेंगे मेरा विभाग है। यह भड़ास नहीं निकली है, आपने अपना असली रंग दिखा दिया है।

    Reply
    • Sanjay sinha says:

      यशवंत सर मैं आपकी बहुत इज़्ज़त करता हूँ, आप लिखते भी अच्छा हैं, पर पत्रकार को कानून के तराजू जैसा होना चाहिये वो जिसका दोनो आंख खुला होना चाहिये, आपकी पोस्ट को पढ़कर बुरा लगा क्योंकि आप भी कोंग्रेसी हो गए शायद पहले से ही हों जो भी हो एक बात कहना चाहूंगा, हम तो शायद भक्त बन गए लेकिन आप तो मोदी को कोसते कोसते कोंग्रेसी चमचें बन गए बॉस

      Reply
    • मैं मोदी भक्त होने से पहले से यशवंत को जानता हूँ। यशवंत ने अपने पोस्ट के अंतिम दोनों पैराग्राफ में साफ किया है कि खुद उन्होंने मोदी जी को वोट दिया था। अब नहीं देना चाहते, तो उसका भी उनको हक है।

      आखिर आप उनकी साइट पर आये हैं, तो क्यों? उनके विचार जानने के लिए ना? फिर आपको उनके साथ अभद्रता का हक कहाँ मिल जाता है। अगर आप अशालीनता करेंगे तो वह ब्लॉक करेंगे। आपको कुछ हक है, तो प्रतिवाद में पड़े बिना ब्लॉक करने का उनको भी हक़ है। देखिये यशवंत ने संभावनाओं का अंत नहीं किया है। वह कहते हैं, ” हम इस देश के सचेत नागरिक हैं। हम किसी पार्टी के मेम्बर नहीं हैं। हम नए को मौका देंगे। पिछली बार मोदी को दिया और 5 साल देखा। अब 5 साल राहुल को देखेंगे। फिर दोनों के 5-5 साल का अध्ययन करेंगे। जिसका रिपोर्ट कार्ड बेहतर रहेगा, उसे वर्ष 2024 में वोट देंगे।”

      वैसे मैं दिल से चाहता हूँ, जानता हूँ कि मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बने। इसके बावजूद अगर कुछ ऐसा हो जाये कि यशवंत सिंह की ही कामना पूरी हो जाए, तो क्या मुझे ग़म मनाना चाहिए।

      लोकतंत्र में सब मुमकिन है।

      Reply
      • Joginder Mann says:

        राहुल को वोट देना मतलब, दूध मैं पड़ी मखी निगलना

        Reply
  • सर अब तक का सबसे अधिक बेरोजगारी वाला कार्यकाल रहा है बीजेपी सरकार का । इस बेरोजगारी में आप अनियंत्रित जनसंख्या का कितना योगदान मानते हैं।

    Reply
  • Joginder Mann says:

    Hahahahahhहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहहह हहहहहहहहहहहहीहीहीहीहीहीहीहीहूहूहूहूहूहूहू………….

    तुम्हारे जलने की बू सारे भारत को अ गई।

    Reply
  • यशवंत जी, एक पत्रकार की ये शब्दावली??? राहुल गांधी की कौन से आइडियोलॉजी है? गरीबों को मुफ्त में सामान और पैसा बांट और निकम्मा बनाना??

    बेरोजगारी की बात करते है, जिसके पास टेलेंट है रोजगार उसके पीछे आता है।

    बाकी सब राजनैतिक पार्टियां एक सी होती हैं। जिनको लेकर आप क्यों इतना भड़क गए?

    आप आलोचना कर तर्कसंगत, और राहुल का समर्थन क्यों??
    क्या गांधी परिवार के अलावा कोई नेता नही कांग्रेस में??

    घोषणा पत्र पढ़िए कांग्रेस का, फिर निर्णय लीजिये, हम लोगों द्वारा जीतोड़ मेहनत से चुकाया गया टैक्स से 72000 सालाना मुफ्त लुटाना क्या न्यायसंगत है??

    Reply
  • Acha matlab jo aap se rahmat nahi to aap use c class thehrakar use andh bhakt batakar block karenge . Wah mere bhai ye to bhagna hua. Chalo bhagwan aapko khush rakhe. Dhanyawad.

    Reply
  • Pramod Kumar Singh says:

    मेरे ‘मन की बात ‘ कह दी आपने! कांग्रेस से बोर होकर ही वोट किया था मैने भाजपा को!! लेकिन ‘न माया मिली न राम ‘ !! बेटी बहनो के साथ भी अन्याय होते देखा मैने और भाजपा सरकार को इन पीड़िताओं की न सुनना भी देखा है!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *